Submit your post

Follow Us

जीप पर कश्मीरी को बांधने वाले आर्मी मेजर गोगोई एक लड़की के साथ हिरासत में लिए गए

पिछले साल अप्रैल में श्रीनगर सीट पर लोकसभा चुनाव होने थे. तब कश्मीर से एक तस्वीर आई थी जिसने लोगों की राय को बुरी तरह ध्रुवीकृत कर दिया था. एक कश्मीरी, फारूक अहमद दार को सेना की जीप के बोनट पर बांधकर बडगाम में घुमाया गया था. सेना ने कहा कि फारूक एक पत्थरबाज़ था और एक हिंसक भीड़ से पोलिंग पार्टी को बचाने के लिए ये कदम उठाना पड़ा था. कुछ ने कहा कि सेना ने जो किया, सही किया. बाकी ने कहा कि सेना को हर हाल में एक आम कश्मीरी को ह्यूमन शील्ड बनाने से बचना चाहिए था. ताज़ा खबर उसी अफसर के बारे में है, जिसने फारूक को जीप पर बांधने का आदेश दिया था – मेजर लीतुल गोगोई.

सोशल मीडिया पर लागातार इस तरह के ट्वीट नज़र आ रहे हैं कि मेजर गोगोई को श्रीनगर के एक होटल से एक लड़की के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है.

ट्वीट्स एक तरफ रखकर पुख्ता जानकारी की बात करें तो दो वर्ज़न सामने आते हैं. हम बारी-बारी से दोनों आपके सामने रख देंगे-

#1. कश्मीर के लोकल मीडिया के मुताबिक मेजर गोगोई श्रीनगर के डलगेट इलाके में स्थित द ग्रैंड ममता होटल एक लड़की के साथ पहुंचे थे. उनके साथ एक लड़का भी था. होटल स्टाफ ने उन्हें अंदर नहीं जाने दिया, तो वहां विवाद खड़ा हो गया. कुछ देर बाद वहां आस-पास के लोग जमा हो गए. इसके बाद पुलिस को बुला लिया गया जो तीनों को अपने साथ ले गई. इस दौरान ये भी कहा गया कि वो लड़की नाबालिग थी.

#2. दूसरा वर्ज़न वो है जो जम्मू-कश्मीर पुलिस ने अपने बयान में दिया है. इसके मुताबिक सुबह 11 बजे श्रीनगर के खानयार पुलिस स्टेशन को होटल ग्रैंड ममता से एक फोन आया कि यहां विवाद हो गया है. एक पुलिस पार्टी होटल भेज दी गई. पुलिस ने पाया कि बडगाम का एक लड़का एक लड़की के साथ होटल में एक आर्मी अफसर से मिलने आए थे. होटल स्टाफ ने इन्हें रोका तो ये झगड़ने लगे. पुलिस इन दोनों को और आर्मी अफसर को अपने साथ ले आई. लड़की का बयान लिया जा रहा है. एफआईआर दर्ज करके एसपी स्तर के अफसर को जांच करने को कहा गया है. जम्मू कश्मीर के पुलिस के बयान में लड़की के नाबालिग होने की बात नहीं है. एक मीडिया रिपोर्ट में एक पुलिस अधिकारी के हवाले से लड़की को बालिग भी बताया गया है.

गोगोई ने जो कमरा बुक किया, उसकी रसीद.
गोगोई ने जो कमरा बुक किया, उसकी रसीद.

सेना क्या कह रही है?

सूत्रों के मुताबिक सेना को इस मामले की जानकारी है और पुलिस की इंक्वायरी खत्म होने के बाद इस मामले में कोई निर्णय लेगी.

हम क्या तय जानते हैं?

होटल ग्रैंड ममता में मेजर गोगोई ने जो बुकिंग कराई थी, उसकी रसीद मीडिया के पास है. उसके मुताबिक मेजर गोगोई 23 मई को सुबह ग्यारह बजे होटल पहुंचने वाले थे. उन्होंने एयरपोर्ट से पिकअप मांगा था, माने वो बाहर से आ रहे थे. गोगोई ने 23-24 मई के लिए एक कमरा बुक कराया था, जो दो लोगों के लिए था. इस रसीद को किसी ने नकारा नहीं है. इसलिए मेजर गोगोई इस मामले में शामिल थे, इसमें संशय नहीं है. लेकिन होटल में क्या हुआ और किन परिस्थितियों में पुलिस को जांच शुरू करनी पड़ी, इन जानकारियों के लिए थोड़ा इंतज़ार करना बेहतर होगा.

ये भी पढ़ेंः

मेजर गोगोई ने बताया कि उन्होंने एक कश्मीरी को जीप के आगे क्यूं बांधा

जिस मेजर ने गाड़ी के बोनट पर कश्मीरी को बांधा था, उसके साथ आर्मी ने क्या किया?

36 घंटे पहले गायब हुए कश्मीरी प्रोफ़ेसर का पिता को फोन आया, कहा, “अल्लाह के पास जा रहा हूं.”

कठुआ रेप केस के आरोपियों के समर्थन में रैली निकालने वाले विधायक को महबूबा मुफ्ती ने मंत्री बना दिया है

जिस ब्रिटेन ने हमारा देश बांटा, उसके अपने घर में भी एक कश्मीर है

वीडियोः क्या अजय देवगन की हेलिकॉप्टर हादसे में मौत हो गई है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लॉकडाउन-5 को लेकर किस तरह के प्रपोज़ल सामने आ रहे हैं?

कई मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ सकता है.

क्या जम्मू-कश्मीर में फिर से पुलवामा जैसा अटैक करने की तैयारी में थे आतंकी?

सिक्योरिटी फोर्स ने कैसे एक्शन लिया? कितना विस्फोटक मिला?

लद्दाख में भारत और चीन के बीच डोकलाम जैसे हालात हैं?

18 दिनों से भारत और चीन की फौज़ आमने-सामने हैं.

शादी और त्योहार से जुड़ी झारखंड की 5000 साल पुरानी इस चित्रकला को बड़ी पहचान मिली है

जानिए क्या खास है इस कला में.

जिस मंदिर के पास हजारों करोड़ रुपये हैं, उसके 50 प्रॉपर्टी बेचने के फैसले पर हंगामा क्यों हो गया

साल 2019 में इस मंदिर के 12 हजार करोड़ रुपये बैंकों में जमा थे.

पुलवामा हमले के लिए विस्फोटक कहां से और कैसे लाए गए, नई जानकारी सामने आई

पुलवामा हमला 14 फरवरी, 2019 को हुआ था.

दो महीने बाद शुरू हुई हवाई यात्रा, जानिए कैसा रहा पहले दिन का हाल?

दिल्ली में पहले दिन 80 से ज्यादा उड़ानें कैंसिल क्यों करनी पड़ी?

बलबीर सिंह सीनियर: तीन बार के हॉकी गोल्ड मेडलिस्ट, जिन्होंने 1948 में इंग्लैंड को घुटनों पर ला दिया था

हॉकी लेजेंड और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और कोच बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन.

दूसरे राज्य इन शर्तों पर यूपी के मजदूरों को अपने यहां काम करने के लिए ले जा सकते हैं

प्रवासी मजदूरों को लेकर सीएम योगी ने बड़ा फैसला किया है.

ऑनलाइन क्लास में Noun समझाने के चक्कर में पाकिस्तान की तारीफ, टीचर सस्पेंड

टीचर शादाब खनम ने माफी भी मांगी, लेकिन पैरेंट्स ने शिकायत कर दी.