Submit your post

Follow Us

इन डकैतों ने तो भगवान को भी डकैती का भागीदार बना लिया है

3.52 K
शेयर्स

14 डकैतों ने डकैती की. 35 लाख उड़ाए. 4 लाख की मन्नत मांगी थी कि भगवान जी हमारी डकैती सफल करा देना. तो 4 लाख उनको दे दिए. 2 लाख वकील को देने के लिए निकाल दिए. बाकी 29 लाख खुद में बांटे. और अब पकड़े गए. इन डकैतों ने एक डकैती करने और उसकी गणित लगाने में इतनी मेहनत की. जितनी मेहनत पढ़ाई में करके हीरा ठाकुर की बीवी अफसर बन गई थी.

तो बचपन में मैंने बहुत सी कहानियां सुनी, उसमें एक डाकू की कहानी थी. जिससे नारद जी पूछते हैं तुम डकैती तो कर रहे हो. डकैती का शेयर घरवाले भी लेते होंगे. पर क्या पाप का शेयर भी लेते हैं? डाकू घर गया. पूछा, मेरे पापों के भागी बनोगे. निगेटिव जवाब आया तो पलटकर अच्छा आदमी बन गया.

ये तो पुरानी कहानी है, आप 2019 वाली कहानी सुनो. इन डकैतों ने डकैती की. इस डकैती में भगवान का हिस्सा भी फिक्स कर दिया.

नोएडा में सेक्टर हैं. जिन्हें याद रखना दुनिया के सबसे जटिल कामों में से एक है. 121 के बगल में 67 है. 67 के बगल में 59. 52 के बगल में 23. पर अभी बात सेक्टर-63 की. वहां महागुन कॉरपोरेट टावर है. वहां डकैती हुई. 14 जने शामिल थे, उस डकैती में. एक तो आदमी आजकल इतना खाली हो गया है कि 35 लाख की डकैती के लिए 14 लोग आ गए. बड़ा नहीं सोचते ये लोग, विजय माल्या को देखो. इकलौता आदमी अरबों की चुंगी लगा गया.

तो मुद्दा ये नहीं है. मुद्दा ये कि महागुन में ललित नाम का एक आदमी काम करता था. सुपरवाइजर का काम. फिर उसने घर का भेदी वाला काम कर दिया. उसको पता चला चुनाव आचार संहिता लगी है. कंपनी की तिजोरी में काफी ज्यादा कैश पड़ा है. पड़ा इसलिए है क्योंकि आजकल कैश ले जाने की लिमिट है, ज्यादा पैसा लेके डोलो तो पुलिसिया केस शुरू हो जाते हैं. उसने ये बात और लोगों को बताई, बस प्लानिंग बन गई कि आचार संहिता ख़त्म होने से पहले पैसे को अचार बनने से बचाना है, अर्थात डकैती डालनी है. मुद्रा लूटनी है.

पहले ये लोग 13 अप्रैल को घुसे. डकैती नहीं डाल पाए. “वजह — चौकीदार — शोर है.” आई मीन चौकीदार ने शोर मचा दिया. फिर 22 तारीख को महागुन लूटो योजना के तहत वापस आए. इस बार ट्रक लेकर आए. चौकीदारों को बंदी बनाया. तिजोरी उठाई, एक कार में डाली. लेकर चले गए.

D5uLKxlUUAAjIZL

अब पुलिस ने 14 में से आधे अर्थात 7 लोगों को पकड़ लिया है. इनने बताया कि डकैती की सफलता के लिए हमने मन्नत मांगी थी. इसलिए जब डकैती में 35 लाख मिले तो 4 लाख भगवान के नाम पर निकाल दिए कि इस पैसे से भंडारा कराएंगे. बाकी 2 लाख जो वकील के लिए निकाले उसका सीन ये था कि कुछ दोस्त जेल में बंद थे, उनकी जमानत और फीस देने के लिए ये पैसे काम आते.

एक और बात, सबको बाकी बचे 29 लाख में भी बराबर पैसा नहीं मिला. कुछ को 3-3 लाख मिले, कुछ को 2 लाख तो कुछ को सिर्फ एक लाख.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

विद्या बालन ने बताया फ़िल्मों के डायरेक्टर कास्टिंग काउच के लिए क्या क्या करते हैं

डायरेक्टर्स कभी ऑडिशन, कभी मीटिंग के बहाने बुलाते थे.

10वीं की स्टूडेंट ने स्कूल में बच्ची को जन्म दिया तो पता चला 7 महीने पहले रेप हुआ था

रेपिस्ट की उम्र जानेंगे तो मनाएंगे कि धरती ख़त्म हो जाए.

चुनाव के पहले कांग्रेस जॉइन की थी, अब रिज़ाइन कर मोदी की तारीफ़ में लगीं अर्शी खान

'मेरा डांस करना, बिकिनी पहनना अच्छा नहीं लगेगा.'

टाइम मैगज़ीन ने दुनिया की 100 सबसे झामफाड़ जगहों में भारत की कौन सी दो जगहें चुनी?

दूसरी वाली जानकर आप हैरान हो जाएंगे.

Free Fire: सबसे ज्यादा डाउनलोडेड यह गेम अब भारतीयों को प्रीमियम अनुभव देगा

PUBG भूल जाइए, क्या आप फ्री फायर खेलने को तैयार हैं?

ओ तेरी! आईआईटी से एमटेक किया, फिर रेलवे में पटरियों की देखभाल वाली नौकरी जॉइन कर ली

ऐसा अनर्थ पहले कभी नहीं हुआ है.

यूपी पुलिस ने जिस बच्ची को नाले में घुसकर निकाला, उसका क्या हुआ?

जन्माष्टमी के दिन नाले में पड़ी हुई बच्ची कुछ स्कूली बच्चों को दिखी थी.

ऑस्ट्रेलिया 1 रन से मैच जीतने वाली थी, अंपायर की गलती ने पासा पलट दिया

अंपायर की इस ग़लती ने इंग्लैंड की लॉटरी लगा दी.

पीएम मोदी को यूएई ने सबसे बड़ा सम्मान दिया, पाकिस्तान को बुरा लग गया

पाकिस्तान ने इस अवॉर्ड का विरोध किया है. कश्मीर के मसले पर.

पुलिस और प्रदर्शनकारियों की झड़प के बीच बेचारा JCB ऑपरेटर फंसकर मारा गया

...और फिर राजनीति हुई. घनघोर.