Submit your post

Follow Us

इन डकैतों ने तो भगवान को भी डकैती का भागीदार बना लिया है

14 डकैतों ने डकैती की. 35 लाख उड़ाए. 4 लाख की मन्नत मांगी थी कि भगवान जी हमारी डकैती सफल करा देना. तो 4 लाख उनको दे दिए. 2 लाख वकील को देने के लिए निकाल दिए. बाकी 29 लाख खुद में बांटे. और अब पकड़े गए. इन डकैतों ने एक डकैती करने और उसकी गणित लगाने में इतनी मेहनत की. जितनी मेहनत पढ़ाई में करके हीरा ठाकुर की बीवी अफसर बन गई थी.

तो बचपन में मैंने बहुत सी कहानियां सुनी, उसमें एक डाकू की कहानी थी. जिससे नारद जी पूछते हैं तुम डकैती तो कर रहे हो. डकैती का शेयर घरवाले भी लेते होंगे. पर क्या पाप का शेयर भी लेते हैं? डाकू घर गया. पूछा, मेरे पापों के भागी बनोगे. निगेटिव जवाब आया तो पलटकर अच्छा आदमी बन गया.

ये तो पुरानी कहानी है, आप 2019 वाली कहानी सुनो. इन डकैतों ने डकैती की. इस डकैती में भगवान का हिस्सा भी फिक्स कर दिया.

नोएडा में सेक्टर हैं. जिन्हें याद रखना दुनिया के सबसे जटिल कामों में से एक है. 121 के बगल में 67 है. 67 के बगल में 59. 52 के बगल में 23. पर अभी बात सेक्टर-63 की. वहां महागुन कॉरपोरेट टावर है. वहां डकैती हुई. 14 जने शामिल थे, उस डकैती में. एक तो आदमी आजकल इतना खाली हो गया है कि 35 लाख की डकैती के लिए 14 लोग आ गए. बड़ा नहीं सोचते ये लोग, विजय माल्या को देखो. इकलौता आदमी अरबों की चुंगी लगा गया.

तो मुद्दा ये नहीं है. मुद्दा ये कि महागुन में ललित नाम का एक आदमी काम करता था. सुपरवाइजर का काम. फिर उसने घर का भेदी वाला काम कर दिया. उसको पता चला चुनाव आचार संहिता लगी है. कंपनी की तिजोरी में काफी ज्यादा कैश पड़ा है. पड़ा इसलिए है क्योंकि आजकल कैश ले जाने की लिमिट है, ज्यादा पैसा लेके डोलो तो पुलिसिया केस शुरू हो जाते हैं. उसने ये बात और लोगों को बताई, बस प्लानिंग बन गई कि आचार संहिता ख़त्म होने से पहले पैसे को अचार बनने से बचाना है, अर्थात डकैती डालनी है. मुद्रा लूटनी है.

पहले ये लोग 13 अप्रैल को घुसे. डकैती नहीं डाल पाए. “वजह — चौकीदार — शोर है.” आई मीन चौकीदार ने शोर मचा दिया. फिर 22 तारीख को महागुन लूटो योजना के तहत वापस आए. इस बार ट्रक लेकर आए. चौकीदारों को बंदी बनाया. तिजोरी उठाई, एक कार में डाली. लेकर चले गए.

D5uLKxlUUAAjIZL

अब पुलिस ने 14 में से आधे अर्थात 7 लोगों को पकड़ लिया है. इनने बताया कि डकैती की सफलता के लिए हमने मन्नत मांगी थी. इसलिए जब डकैती में 35 लाख मिले तो 4 लाख भगवान के नाम पर निकाल दिए कि इस पैसे से भंडारा कराएंगे. बाकी 2 लाख जो वकील के लिए निकाले उसका सीन ये था कि कुछ दोस्त जेल में बंद थे, उनकी जमानत और फीस देने के लिए ये पैसे काम आते.

एक और बात, सबको बाकी बचे 29 लाख में भी बराबर पैसा नहीं मिला. कुछ को 3-3 लाख मिले, कुछ को 2 लाख तो कुछ को सिर्फ एक लाख.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

वो कांग्रेसी जिसने राहुल गांधी को नेता मानने से इनकार कर दिया था

अब वह हमारे बीच नहीं हैं.

राणा कपूर की तीन बेटियां, जिन पर CBI-ED की नजर है

यस बैंक के फाउंडर राणा कपूर ED की हिरासत में हैं.

फाइनल के बाद रोईं शेफाली वर्मा पर ब्रेट ली ने जो कहा वो आपको जानना चाहिए

ऑस्ट्रेलिया से हारकर रो पड़ी थीं शेफाली.

मध्य प्रदेश में क्या इस बार कांग्रेस अपनी सरकार नहीं बचा पाएगी?

कांग्रेस के 16 विधायक बेंगुलुरु शिफ्ट हो गए हैं. सीएम ने आपात बैठक बुलाई है.

कोरोना वायरस: ईरान में फंसे भारतीयों को लाने के लिए सरकार चीन वाला कदम उठाने जा रही है

ईरान में इस वायरस से अबतक 237 लोगों की मौत हो चुकी है.

ICC विमेंस टी20 प्लेइंग इलेवन टीम में शेफाली नहीं, इस इकलौती भारतीय को चुना गया है

इस टीम में ऑस्ट्रेलियाई टीम से कुल पांच खिलाड़ियों को चुना गया है.

कोरोना वायरसः इटली में एक दिन में 133 लोगों की मौत, डेढ़ करोड़ से ज्यादा लोग घरों में बंद

वहां के PM बोले- बलिदान देना होगा.

यस बैंक के मालिक के जिस पेंटिंग को खरीदने पर BJP ने हल्ला मचाया, वो प्रियंका गांधी ने बनाई ही नहीं

राणा कपूर ED की हिरासत में हैं.

टाइगर श्रॉफ की 'बागी 3' ने अब तक कितने पइसे कमा लिए?

उम्मीद ये थी कि कोरोना वायरस 'बागी 3' की कलेक्शन में बढ़िया सेंधमारी करेगा.

हाईकोर्ट का आदेश- CAA विरोधियों के पोस्टर हटाए जाएं

सरकार ने प्रदर्शनकारियों की फोटो, उनके नाम और पते के साथ चौक-चौराहों पर लगा दी थी.