Submit your post

Follow Us

'दुर्योधन' पुनीत इस्सर ने मुकेश खन्ना से एकता और सोनाक्षी का बदला ले लिया

लॉकडाउन में अचानक से पूरा माहौल डिवाइन माने दिव्य हो गया है. हर टीवी खोलो तो रामायण-महाभारत चल रहा है. सोशल मीडिया खोलो, तो उससे जुड़े मीम्स गदर काटे हुए हैं. न्यूज़ चैनल देखो, तो इन सीरियलों में काम कर चुके लोगों के इंटरव्यू चल रहे हैं. महाभारत के ‘भीष्म पितामह’ मुकेश खन्ना ने पिछले दिनों खूब सूर्खियां बटोरी हैं. सोनाक्षी सिन्हा और एकता कपूर को ट्रोल करके. फिर सीन में आए ‘श्री कृष्ण’ नीतिश भारद्वाज. और अब बारी है ‘दुर्योधन’ पुनीत इस्सर की. पुनीत इस्सर ने बेसिकली मुकेश खन्ना को धो दिया है.

सोनाक्षी को बड़ी रूखी बातें बोलने के लिए नीतिश पहले ही मुकेश खन्ना को टोक चुके हैं. अब वही बात उन्हें पुनीत इस्सर समझा रहे हैं. वो सोनाक्षी वाला मामला तो आपको पता ही होगा. केबीसी में जाकर उन्होंने एक कॉमन सवाल के लिए लाइफलाइन इस्तेमाल कर ली थी. इसके लिए जनता ने ट्रोल किया. फिर लॉकडाउन लगा और टीवी पर ‘रामायण’ आना शुरू हुआ. इसके बाद मुकेश खन्ना ने कह दिया कि सोनाक्षी जैसे लोगों के लिए इन पौराणिक शोज़ का री-रन बहुत फायदेमंद साबित होगा. इस बारे में पुनीत इस्सर ने सिनेमा वेबसाइट स्पॉटबॉय से बात की है. इस बातचीत में पुनीत ने बताया-

दुर्योधन के रोल में पुनीत इस्सर. पुनीत ने इसके बाद मॉडर्न महाभारत में भी एक बार दुर्योधन का रोल किया है.
दुर्योधन के रोल में पुनीत इस्सर. पुनीत ने इसके बाद मॉडर्न महाभारत में भी एक बार दुर्योधन का रोल किया है.

”मुकेश खन्ना को उस तरह की बातें नहीं कहनी चाहिए थीं. सोनाक्षी एवीएम (आर्य विद्या मंदिर) की स्टूडेंट रह चुकी हैं. मेरे बच्चे भी वहीं पढ़े. अगर उन्हें केबीसी में रामायण से जुड़े एक सवाल का जवाब नहीं पता, इससे दुनिया तो नहीं खत्म हो गई. इसके लिए इतने खुलेआम तरीके से किसी की निंदा करने की क्या ज़रूरत थी? कम से कम मैं तो वो नहीं कहता, जो (मुकेश) खन्ना ने कहा. आपको अपनी उम्र के साथ ग्रेसफुल होना चाहिए. फल लगते हैं, तो पेड़ झुक जाना चाहिए.”

पुनीत इस्सर ने एकता कपूर वाले मसले पर भी मुकेश खन्ना के बयानों पर बात की. मुकेश ने कहा था कि एकता कपूर ने ”’महाभारत’ का वध कर दिया’. इस बाबत पुनीत का कहना है-

भीष्म पितामह के किरदार में मुकेश खन्ना. बाद में इन्होंने बच्चों के शो 'शक्तिमान' में टाइटल कैरेक्टर प्ले किया था.
भीष्म पितामह के किरदार में मुकेश खन्ना. बाद में इन्होंने बच्चों के शो ‘शक्तिमान’ में टाइटल कैरेक्टर प्ले किया था.

”ये मेरी निजी राय है. मैं उनके (मुकेश खन्ना के) खिलाफ नहीं बोलना चाहता. लेकिन सोचिए कि उन्होंने एकता के खिलाफ बोलकर एक और विवाद खड़ा कर दिया. ‘महाभारत’ के ऊपर किसी का कॉपीराइट नहीं है. सबको हक़ है उसको बनाने का. यहां तक साजिद नाडियाडवाला के दादा ने ‘महाभारत’ के ऊपर फिल्म बनाई और वो सुपर हिट रही थी. उसमें हीरो का रोल दारा सिंह ने किया था. वो कहानी भीष्म पितामह की नज़र से दिखाई गई थी.”

नीतिश भारद्वाज को मुकेश खन्ना ने ये कह कर चुप करा दिया था कि वो लोगों से अपने संबंध बनाए रखने के लिए किसी के बारे में खुलकर बात नहीं करते. पुनीत इस्सर को वो क्या कहेंगे, ये जानना दिलचस्प रहेगा.


वीडियो देखें: रावण का किरदार निभाने वाले अरविंद त्रिवेदी का ‘रामायण’ देखते हुए वीडियो वायरल

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी: औरैया में दो ट्रक टकराने से 24 मज़दूर मारे गए, योगी ने कई पुलिसवालों को सस्पेंड किया

पीएम मोदी ने घटना पर शोक जताया है.

घर-घर खाना पहुंचाने वाली ये कंपनी 600 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही है

राहत वाली बात ये है कि छह महीने तक आधी सैलरी मिलती रहेगी.

बंगाल में हफ्तेभर से क्या बवाल चल रहा है, जिसमें 129 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं

‘तुम कोरोना फैला रहे हो’ कहकर हमला किया, हिंसा भड़की.

लंबे वक्त तक क्रिकेट के नक्शे पर पाकिस्तान को जिंदा रखा था इस जोड़ी ने

वो दिन, जब मिस्बाह-उल-हक़ और यूनिस खान ने क्रिकेट को अलविदा कहा

कश्मीर : चेकप्वाइंट पर गाड़ी नहीं रोकी तो आम नागरिक को CRPF ने गोली मार दी?

क्या है घटना का सच?

रेलवे ने टिकट कटा चुके लोगों को बड़ा झटका दिया है

इसका श्रमिक और स्पेशल ट्रेनों पर क्या असर पड़ेगा?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में से पहले दिन वित्त मंत्री ने क्या-क्या ऐलान किया?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की डिटेल दी.

पीएम मोदी ने जिस Y2K क्राइसिस का ज़िक्र किया, वो क्या था?

पीएम ने 12 मई को देश को संबोधित किया.

अपने भाषण में नरेंद्र मोदी ने अगले लॉकडाउन के बारे में ये हिंट दे दिया है

मोदी के 34 मिनट के भाषण में काम की बात क्या थी?

ट्रेन के बाद अब फ़्लाइट शुरू होगी तो यात्रा के क्या नियम होंगे?

केबिन लगेज, जांच और बैठने की व्यवस्था को लेकर क्या नियम हैं?