Submit your post

Follow Us

गर्भवती हथिनी की मौत के बारे में केरल पुलिस ने अब कौन सी नई बात बताई है?

केरल में एक गर्भवती हथिनी की विस्फोटक भरा फल खाने से मौत हो गई थी. इस मामले में शुरू में कहा जा रहा था कि विस्फोटक एक अनानास (पाइनएपल) में भरा हुआ था. लेकिन मामले की जांच से जुड़े एक अधिकारी के अनुसार वह फल नारियल था. जंगली सूअरों को मारने के लिए इसे रखा गया था. इंडियन एक्सप्रेस ने यह खबर दी है. इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी कर लिया गया है. दो आरोपियों की तलाश हो रही है.

पुलिस ने एक आरोपी को पकड़ा

रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले में शक रबड़ एस्टेट के मालिक, उसके बेटे और कर्मचारी पर है. इनमें से विल्सन नाम के कर्मचारी को गिरफ्तार किया गया है. वहीं रबड़ एस्टेट के मालिक अब्दुल करीम और उसके बेटे रियाजुद्दीन की तलाश की जा रही है. यह रबड़ एस्टेट साइलेंट वैली नेशनल पार्क के पास में है. ऐसे में हाथी और जंगली सूअर आते रहते हैं. इनसे फसलों को बचाने के लिए फलों में विस्फोटक लगाते थे.

Elephant3
पानी में खड़ी हथिनी.

विस्फोटक बनाने वाली जगह भी गई पुलिस

अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि आरोपियों ने नारियल के अंदर विस्फोटक भरा था. फिर इसे जंगल में रख दिया था. इस काम में तीनों आरोपी शामिल थे. पूछताछ के दौरान आरोपी विल्सन पुलिस को उस जगह लेकर गया, जहां विस्फोटक बनाए जाते थे. पुलिस ने बताया कि वहां से कुछ विस्फोटक मिला है.

पुलिस ने बताई पूरी कहानी

पुलिस के अनुसार, 12 मई को हथिनी ने गलती से वह नारियल खा लिया था. इसके चलते उसे मुंह में जख्म हो गए थे. आरोपियों को भी उसी दिन इस बारे में पता चल गया था. अगले 14-15 दिन तक हथिनी दर्द से परेशान रही. कुछ खा-पी नहीं पा रही थी. 25 मई को वह वेल्लियार नदी के किनारे पहुंच गई. यहां पर वन विभाग की टीम ने उसे देखा. दो हाथियों की मदद से उसे पानी से निकालने की कोशिश की गई. लेकिन हथिनी बाहर नहीं आई. 27 मई को हथिनी की पानी में डूबने से मौत हो गई.

28 मई को उसका पोस्टमॉर्टम किया गया. इसमें उसके गर्भवती होने का पता चला. उसके पेट में एक महीने का बच्चा था. पोस्ट मार्टम से पता चला कि फेफड़ों में पानी भरने और डूबने से उसकी मौत हुई. उसके मुंह में काफी जख्म थे.


Video: केरल में गर्भवती हथिनी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में क्या आया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.

3740 श्रमिक ट्रेनों में से 40 प्रतिशत ट्रेनें लेट रहीं, रेलवे ने बताई वजह

औसतन एक श्रमिक ट्रेन 8 घंटे लेट हुई.

कंटेनमेंट ज़ोन में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया गया, बाकी इलाकों में छूट की गाइडलाइंस जानें

गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर चरणबद्ध छूट को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं.

मशहूर एस्ट्रोलॉजर बेजान दारूवाला नहीं रहे, कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी

बेटे ने कहा- निमोनिया और ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत.