Submit your post

Follow Us

बाबा का ढाबा चलाने वाले कांता प्रसाद ने आत्महत्या की कोशिश की, ICU में भर्ती

दिल्ली के मालवीय नगर में बाबा का ढाबा चलाने वाले कांता प्रसाद ने आत्महत्या की कोशिश की है. कांता प्रसाद ने गुरुवार 17 जून की रात शराब पीने के बाद नींद की गोलियां खा ली थीं. उन्हें सफदरजंग हॉस्पिटल में ले जाया गया. वह ICU में भर्ती हैं. खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं.

पुलिस का कहना है कि PCR कॉल मिली थी कि आत्महत्या का प्रयास करने वाला एक व्यक्ति अस्पताल पहुंचा है. पुलिस मौके पर पहुंची और पाया कि वह कांता प्रसाद हैं. फिलहाल उनका इलाज चल रहा है. साउथ दिल्ली के DCP अतुल ठाकुर ने बताया कि कांता प्रसाद के बेटे ने इस बात को कंफर्म किया है कि उनके पिता ने शराब और नींद की गोलियां ली थी.

कांता प्रसाद की पत्नी बादामी देवी का कहना है कि

मुझे नहीं पता कि कांता प्रसाद ने क्या खाया. मैंने नहीं देखा था. वह बेहोश हो गए थे. मैं ढाबे पर बैठी थी. मैं उन्हें यहां ले आई. डॉक्टर ने अभी तक हमें कुछ नहीं बताया है. पता नहीं उनके दिमाग में क्या चल रहा था.

उन्होंने ये भी कहा कि गुरुवार, 17 जून की शाम 4 से 5 बजे के बीच उन्हें सफदरजंग अस्पताल लाये थे. हमने पुलिस को सूचना नहीं दी थी. बाबा कल शाम (17 जून) के समय ढाबे में ही थे.

एक वीडियो ने बदल दी थी किस्मत

हाल ही में कांता प्रसाद फिर से अपने ढाबे पर लौटने को लेकर चर्चा में रहे थे. यूट्यूबर गौरव वासन की उनकी लड़ाई खत्म होने की खबर भी आई थी. एक वीडियो में दिखा कि गौरव जब बाबा से मिलने के लिए पहुंचे तो कांता प्रसाद भावुक हो गए. गौरव के पैर छूने की कोशिश करने लगे. हालांकि गौरव ने उन्हें गले से लगा लिया था.

गौरव का ‘स्वाद ऑफिशियल’ नाम का यूट्यूब चैनल है. इसी चैनल पर पिछले साल 6 अक्टूबर को 11 मिनट का एक विडियो डाला गया था. इसमें 80 साल से अधिक उम्र के कांता प्रसाद ने रोते हुए बताया था कि उनके दो बेटे और एक बेटी है, लेकिन कोई मदद नहीं करता. वो और उनकी पत्नी दिनभर ढाबे पर खाना बनाकर बेचते हैं. उसके बाद तो मानो बाबा की किस्मत ही पलट गई. देशभर से बुजुर्ग दंपती के लिए प्यार उमड़ने लगा. जो जहां था, वहीं से मदद की गुहार लगाने लगा. कई नेता, अभिनेताओं ने भी आगे आकर मदद की.

लेकिन इसके बाद कांता प्रसाद की गौरव वासन से अनबन हो गई. मामला बढ़ा तो बाबा ने 31 अक्टूबर 2020 को गौरव पर धोखाधड़ी का केस दायर कर दिया. कांता प्रसाद ने आरोप लगाया कि गौरव ने लोगों से उनके नाम पर बड़ी रकम जुटाई. लेकिन उन्हें कुछ ही हिस्सा दिया. वासन ने आरोपों से इनकार किया. उनका दावा था कि बाबा के नाम पर दान में 4.20 लाख रुपये मिले थे, जो उन्होंने दे दिए थे.

गौरव के बारे में बाबा ने कहा था, हम शर्मिंदा हैं

रेस्टोरेंट बाद हो जाने के बाद जब कांता प्रसाद अपने पुराने ढाबे पर लौटे तो गौरव वासन के साथ किए अपने बर्ताव पर शर्मिंदगी जताई. कांता प्रसाद ने आजतक से कहा था,

उन्होंने (गौरव ने) मुझे धोखा नहीं दिया था. आप मुझे कहो कि इस पर साइन कर दो, मैं तो कर दूंगा. मुझे क्या पता, उस पर क्या लिखा है. गौरव ने मेरा भला किया था, बुरा थोड़े न किया था. गौरव से मुझे कोई शिकायत नहीं है. वह अब भी आएंगे, तो उनका सम्मान किया जाएगा.

कांता प्रसाद ने आगे कहा था,

हमने जानबूझकर उनका दिल नहीं दुखाया. अगर अनजाने में उनका दिल दुखा है, तो मुझे जो सजा मिलनी चाहिए, मिले. मुझसे कहीं न कहीं चूक हुई है. मुझसे चूक यहां पर हुई कि मैंने कहा, हमने गौरव वासन को नहीं बुलाया, गौरव वासन अपने आप आए थे. और उस चूक के लिए हम शर्मिंदा हैं. हम चाहते हैं कि गौरव हमसे जुड़ें. हम उनसे पहले की तरह ही मिलेंगे, लेकिन वो पहले आएं तो सही.


बाबा का ढाबा वाले कांता प्रसाद को यूट्यूबर गौरव वासन की अब क्यों याद आई?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

चिराग पासवान के चचेरे भाई सांसद प्रिंस राज पर लगे रेप के आरोप का पूरा मामला है क्या?

आरोप लगाने वाली महिला के खिलाफ प्रिंस ने भी फरवरी में दर्ज कराई थी FIR.

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

बहादुरगढ़ की घटना, पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है.

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

31 जुलाई से पहले फाइनल रिजल्ट जारी करने की जानकारी भी दी है.

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

नए नियम के बाद विवादों में कमी आएगी?

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

अख़बार का दावा, सरकारी जांच में हुआ ख़ुलासा

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

जानिए क्या है पूरा मामला?

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सेना के इतिहास से जुड़ी जानकारियां सार्वजनिक करने की पॉलिसी को मंजूरी

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब के अलावा बाकी चुनाव भी साथ लड़ने की घोषणा.

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

मुकुल रॉय को बराबर में बिठाकर ममता बनर्जी किन गद्दारों पर भड़कीं?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

पहले TV डिबेट में बोला, फिर फेसबुक पर पोस्ट लिखा.