Submit your post

Follow Us

यूपी के मंत्री के साथ विकास दुबे की तस्वीर को लेकर सोशल मीडिया में क्या बातें हो रही हैं?

कानपुर के बिकरू गांव में 2 जुलाई की रात उत्तर प्रदेश पुलिस और गैंगस्टर विकास दुबे के गैंग के बीच शूटआउट हुआ. इसमें डिप्टी SP समेत कुल आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए. कई पुलिसवाले घायल हैं. वहीं विकास दुबे गैंग के दो लोग मारे गए.

इस घटना के बाद से कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर चल रही हैं. ऐसी ही एक तस्वीर उत्तर प्रदेश के रिटायर्ड आईएएस अफसर सूर्य प्रताप सिंह ने ट्वीट की. लिखा,

उत्तर प्रदेश सरकार के क़ानून मंत्री ब्रजेश पाठक और विकास दुबे एकसाथ. ये रिश्ता क्या कहलाता है? उत्तर प्रदेश का ‘क़ानून मंत्री’ ही क़ानून तोड़ने वालों का सबसे बड़ा साथी निकला. आख़िरकार भाजपा सरकार में पहली बार ‘विकास’ दिख ही गया.

इसी तस्वीर को यूपी कांग्रेस के अधिकारिक ट्विटर हैंडल से रीट्वीट किया गया. कांग्रेस के हैंडल से जिस ट्वीट को रीट्वीट किया गया, वो ट्वीट ललन कुमार ने किया था. वो यूपी कांग्रेस कमेटी के कन्विनर हैं. उन्होंने लिखा,

ये रिश्ता क्या कहलाता है…? एनकाउंटर के लिए गए पुलिसकर्मियों पर अंधाधुंध गोलियां बरसाकर उनकी हत्या करने वाले कुख्यात अपराधी विकास दुबे की कानून मंत्री के साथ उसकी यह तस्वीरBJP4UP सरकार UPGovt एवं BJP नेता के साथ उसके सम्बन्ध उजागर करती है!

वहीं सोशल मीडिया पर समाजवादी पार्टी का एक पोस्टर वायरल है. इस पोस्टर में विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे जिला पंचायत सदस्य के लिए वोट मांग रही हैं. इस पोस्टर में विकास दुबे की बड़ी सी फोटो है. दूसरे साइड में पत्नी की फोटो है. पोस्टर के सबसे ऊपर मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव की फोटो है. इस पोस्टर के सामने आने के बाद लोग समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव पर निशाना साध रहे हैं. कह रहे हैं कि विकास को सपा का संरक्षण मिला हुआ था.

हालांकि ब्रजेश पाठक के साथ विकास दुबे की तस्वीर कब की है, पता नहीं चल पाया है. विकास दुबे बीएसपी का समर्थन रहा है. यूपी सरकार में मंत्री ब्रजेश पाठक भी बीएसपी में रह चुके हैं. यूपी में जाति की राजनीति बहुत होती है. दोनों ब्राह्मण हैं. राजनीति में ये एंगल भी लोगों को करीब ले आती है. हालांकि किसी के साथ किसी की फोटो दिख जाने से कुछ साबित नहीं होता है.

विकास दुबे का राजनीतिक इतिहास क्या है?

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का वैसे कोई राजनीतिक इतिहास नहीं है, लेकिन बसपा का समर्थन जरूर प्राप्त रहा है. 2002 में बसपा सरकार के दौरान इसका सिक्का बिल्हौर, शिवराजपुर, रनियां, चौबेपुर के साथ ही कानपुर नगर में खौफ था. इस दौरान विकास दुबे ने जमीनों पर कई अवैध कब्जे किए. इसके अलावा जेल में रहते हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे ने शिवराजपुर से नगर पंचयात भी लड़ा था और जीता भी था. इतना ही नहीं, बिकरू समेत आसपास के 10 से ज्यादा गांवों में विकास की दहशत कायम है, जिसके चलते आलम यह रहा कि विकास जिसे समर्थन देते, गांववाले उसे ही वोट देते थे. इसी वजह से इन गांवों में वोट पाने के लिए चुनाव के समय सपा, बसपा और भाजपा के भी कुछ नेता उससे संपर्क में रहते थे.

दहशत के चलते विकास ने 15 वर्ष जिला पंचायत सदस्य पद पर कब्जा कर रखा है. पहले विकास खुद जिला पंचायत सदस्य रहा, फिर चचेरे भाई अनुराग दुबे को बनवाया और मौजूदा समय में विकास की पत्नी ऋचा घिमऊ से जिला पंचायत सदस्य हैं.


हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस पर AK47 से हमला, डीएसपी समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लेह में दिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने चीन का नाम लिए बिना क्या-क्या कहा?

जवानों पर, बॉर्डर के विकास पर, दुनिया की सोच पर बहुत कुछ बोला है.

ICMR ने एक महीने में कोरोना की वैक्सीन लॉन्च करने का झूठा दावा किया है!

क्या वैक्सीन के ट्रायल में घपला हो रहा है?

भारत-चीन के तनाव के बीच पीएम मोदी ने लद्दाख़ पहुंचकर किससे बात की?

पहले राजनाथ सिंह जाने वाले थे, नहीं गए.

मलेरिया वाली जिस दवा को कोरोना में जान बचाने के लिए इस्तेमाल कर रहे, वो उल्टा काम कर रही है?

हाईड्रॉक्सीक्लोरोक्विन पर चौंकाने वाली रिसर्च!

इस साल के आख़िर तक मिलने लगेगी कोरोना की 'मेड इन इंडिया' वैक्सीन!

भारत बायोटेक के अधिकारी ने क्या बताया?

'कोरोनिल' पर पतंजलि के आचार्य बालकृष्ण पूरी तरह यू-टर्न मार गए!

पतंजलि का दावा था कि 'कोरोनिल' दवा कोरोना वायरस ठीक करने में कारगर होगी.

चीन के ऐप तो बैन हो गए, पर उन भारतीयों का क्या जो इनमें काम करते हैं

चीनी ऐप के कर्मचारियों में घबराहट है.

चीनी ऐप पर बैन के बाद चीन ने भारत के बारे में क्या बयान दिया है?

भारत को कैसी जिम्मेदारी याद दिलाई चीन ने?

लगभग 16 मिनट के राष्ट्र के नाम संदेश में नरेंद्र मोदी ने क्या काम की बात की?

संदेश का सार यहां पढ़िए.

भारत सरकार के चाइनीज़ ऐप बंद करने के स्टेप पर TikTok ने चिट्ठी में क्या लिखा?

अपने यूज़र्स के बारे में भी कुछ कहा है.