Submit your post

Follow Us

यूपी में 'भीम शोभायात्रा' के दौरान दलितों पर हमला, घरों में लगाई गई आग

यूपी का कानपुर जिला. यहां दो समुदायों- अगड़ी जातियों और दलितों के बीच हिंसक झड़प हुई. News18 में प्रकाशित खबर की मानें, तो इस झगड़ों में  लोग घायल हो चुके हैं. एक घर को आग लगा दी गयी. कानपुर पुलिस ने इस मामले में अब तक छह लोगों को गिरफ्तार किया है. मामले की जांच जारी है.

कानपुर देहात इलाके का मंगटा गांव. यहां पर एक गौतम बुद्ध पार्क है. यहां पर 8 फरवरी को ‘भीम कथा’ का आयोजन किया गया था. कथा ख़त्म हुई. इसके बाद निकाली गयी शोभायात्रा. ‘भीम शोभायात्रा’. तारीख थी 13 फरवरी. इस शोभायात्रा में एक नाबालिग ने भीमराव अंबेडकर की फोटो पर लाठी से मार दिया. नाबालिग अगड़ी जाति का बताया जा रहा है. इसके बाद दलित समुदाय ने विरोध किया. बात बढ़ी. दोनों समुदायों के बीच पत्थर चलने लगे.

इस पत्थरबाजी में 6 लोग घायल हो गए. आसपास के पुलिस थानों से पुलिसकर्मियों और पीएसी की टीमें गांव पहुंचीं. मामले को कंट्रोल करने की कोशिश की गई. जो लोग घायल हुए थे, उन्हें अकबरपुर के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया.

कानपुर देहात के एसपी अनुराग वत्स ने मीडिया से बातचीत में जानकारी दी है कि जिले के आला अधिकारियों की तैनाती गांव में की गयी है. जिन लोगों ने हिंसा की, उनके खिलाफ जल्द से जल्द कड़ी कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा,

“इस मामले में हमने छह लोगों को गिरफ्तार किया है. स्थिति नियंत्रण में है. हमें गांववालों से गुज़ारिश की है कि वे किसी किस्म के अफवाहों पर ध्यान न दें.”

क्यों हुआ तनाव?

अखबार ‘डेक्कन हेराल्ड’ में प्रकाशित खबर बताती है कि अगड़ी जातियों ने शोभायात्रा के मार्ग को लेकर आपत्ति ज़ाहिर की थी. दलितों से कहा कि वे उनके घरों के आसपास से होते हुए न गुजरें. जब वे गुज़रे, तो लाठी से अंबेडकर की प्रतिमा पर मार दिया गया. फिर पत्थर चले. और कुछ लोगों ने एक-दूसरे पर लाठी भी चलाई.

फिर हुई सियासत

इस मामले में सूबे में सियासत भी होने लगी है. घटना के दिन प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया. कहा कि शब्बीरपुर हो, मंगटा की घटना हो भाजपा सरकार ने पीड़ित परिवारों की कोई सुनवाई नहीं की. भाजपा ने संविधान पर हमला बोला हुआ है और अब बाबासाहेब की कथा करने पर भी हमला हो रहा है.

बीजेपी के पुराने सहयोगी ओमप्रकाश राजभर. सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया. अब तो नाता तोड़ लिया. लिहाजा इस घटना पर उन्होंने भी योगी आदित्यनाथ की सरकार को घेरा. नागरिकता संशोधन क़ानून के खिलाफ हुए प्रदर्शनों में हिंसा और संपत्ति के नुकसान की भरपाई करवाई जा रही है. इसको उन्होंने बहाना बनाया. कहा,

“योगी आदित्यनाथ की सरकार इस समय नुकसान की भरपाई करवाने में व्यस्त है. क्या सरकार मंगटा गांव में हुई हिंसा में भी यही कार्रवाई करेंगी.”

उन्होंने आगे कहा,

“अगड़ी जातियों के लोगों ने दलित समुदाय के लोगों के घरों में आग लगा दी है. क्या सरकार मुआवज़े की भरपाई करवाएगी ताकि दलित अपने घर फिर से बना सकें?”

बीएसपी प्रमुख मायावती ने भी कहा कि घटना निंदनीय है. पार्टी का एक प्रतिनिधि मंडल मंगटा गांव जाएगा.


लल्लनटॉप वीडियो : दलित को खंभे से बांधकर पीटा, मन नहीं भरा तो पेशाब पिलाया, पिलास से जांघ की चमड़ी नोंच डाली

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

इस कॉमेडियन ने क्या बोल दिया था कि इस्कॉन ने पुलिस से शिकायत कर दी, वीडियो हटाना पड़ा

कंपनी ने एक बाद एक कई ट्वीट कर माफी मांगी है.

क्या सरकार यात्रा के नियमों को लेकर डबल स्टैंडर्ड दिखा रही है?

सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों में बड़ा अंतर दिख रहा है.

नहीं रहे 'आनंद' के गीत लिखने वाले योगेश, जिन्होंने कहा था- 'इंडस्ट्री ने मुझे भुला दिया'

'आनंद' के अलावा उन्होंने रजनीगंधा, छोटी सी बात जैसी फिल्मों में गीत लिखे.

'वर्ल्ड कप में भारत जान-बूझकर इंग्लैंड से हारा था' इस बयान पर बेन स्टोक्स ने क्या सफाई दी?

पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर पर भड़क गए स्टोक्स.

क्या गंगा में डूबने वाले पांच लड़कों की मौत की वजह टिकटॉक था?

बनारस में इस घटना को लेकर ग़मगीन माहौल है.

मेरठ: उत्पाती बंदरों ने लैब टेक्नीशियन से ब्लड सैंपल छीन लिए, तो हड़कंप मच गया

वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

केरल में फंसी 177 महिलाओं के लिए सोनू सूद ने ग़ज़ब की दरियादिली दिखलाई है

लॉकडाउन के चलते अपने घर नहीं जा पा रही थीं महिलाएं.

सोनू सूद का 22 साल पुराना लोकल का पास, जब वो ट्रेनों में धक्के खाते हुए स्ट्रगल करते थे

बात तब की है जब सोनू मुंबई में काम की तलाश कर रहे थे.

छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री अजीत जोगी नहीं रहे

20 दिन से रायपुर के अस्पताल में चल रहा था इलाज.

BJP सांसद गौतम गंभीर के पिता की महंगी कार को चुरा ले गए चोर

वारदात की CCTV फुटेज मिल गई है.