Submit your post

Follow Us

BJP के न जीतने से तिलमिलाई कंगना रनौत पश्चिम बंगाल को कश्मीर बताने लगी

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी की TMC पार्टी जीत चुकी है. इस बार बीजेपी ने पश्चिम बंगाल में अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी, प्रधानमंत्री-गृहमंत्री समेत तमाम बड़े नेताओं ने वहां रैली की थी. लेकिन ममता बनर्जी की TMC निर्णायक बढ़त के साथ जीत दर्ज कर ली है.

तमाम नेता और सेलेब्स चुनाव नतीजों पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. बीजेपी की संभावित हार पर एक्ट्रेस कंगना रनौत ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. हर बार की तरह इस बार भी उन्होंने ज़हर ही उगला है. हिंदू-मुस्लिम वाला साम्प्रदायिक ट्वीट किया है. खिसियाई कंगना ने पश्चिम बंगाल की तुलना कश्मीर से कर दी. उन्होंने लिखा,

”बांग्लादेशी और रोहिंग्या ममता की सबसे बड़ी ताकत हैं… जैसे ट्रेंड नजर आ रहे हैं उससे लगता है कि अब वहां हिंदू बहुमत में नहीं बचे हैं. आंकड़ों के मुताबिक बंगाली मुस्लिम भारत में सबसे ज्यादा गरीब और वंचित हैं, अच्छी बात है एक और कश्मीर बन रहा है…”

उनके इस झुंझलाहट वाले ट्वीट पर लोगों ने मज़े ले लिए. एक बंदे ने लिखा,

दीदी ओ दीदी, इतनी मिर्ची लग रही है अपने मालिक की बेज्जती बर्दाश्त नहीं हो रही.

एक ने लिखा,

तुम इस कुंठा से बाहर नहीं निकल सकती.

 

    एक ने लिखा,

कर लिया नशा आंटी जी ने लगता है. काजू, किशमिश, चाय, नारियल पानी सुबह से इतना सबकुछ लेने के बाद भी नशा करना जरूरी था क्या आंटी जी?

 

 एक यूज़र ने लिखा,

मोदी जी ने बड़े प्यार से बुलाया था दीदी ओ दीदी, दीदी ने भी ठान ली थी अब की बार फिर से मेरी बनेगी सरकार, भक्तों चुनाव परिणाम देखकर मोदी जी आहत हुए भावुक हुए धर्म के नाम पर वोट मांगे करोना प्रोटोकॉल तोड़कर सभाएं संबोधित की, बंगाल की जनता ने कहा अब की बार नहीं बनेगी मोदी सरकार.

कंगना रुकी नहीं. कुछ ही देर बाद उन्होंने फिर ट्वीट किया. लिखा,

बीजेपी को बंगाल में शानदार बढ़त मिली है. 2016 में उन्हें 3 सीट मिली थी अब उनकी ग्रोथ 2800 परसेंट की है. बंगाल में NRC और CAA की ज़रूरत है. वहां जो माइनॉरिटी है वो मेजोरिटी बन गई है. फिर भी जिस जज़्बे के साथ मोदी जी और अमित जी अपना काम करते हैं वो सराहनीय है.

 इस पर भी यूजर्स ने मज़े ले लिए. एक शख्स ने लिखा,

दीदी इतना कुछ है आपकी बायो में वो सब हटवाकर बीजेपी स्पोक्स पर्सन लिख दो न.

किसी ने कंगना के इस ट्वीट पर उनसे कहा की अंगूर अब खट्टे हो गए हैं. तो किसी ने लिखा दिल बहलाने के लिए ये ख्याल बुरा नहीं है.

इलेक्शन की बात करें तो इस समय काउंटिंग चालू है. ममता बनर्जी जीत दर्ज करती दिख रही हैं. वहीं कंगना रनौत के वर्कफ्रंट की बात करें तो उनकी फिल्म ‘थलाइवी’ रिलीज़ के लिए अटकी पड़ी है. जो तमिलनाडु की पूर्वमुख्यमंत्री जयललिता की बायोपिक है. इसके अलावा वो ‘धाकड़’ और ‘तेजस’ में भी दिखाई देंगी.


वीडियो : सोशल लिस्ट: प्रसाद में प्याज पर कंगना रनौत हुईं ट्रोल!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या वाकई केंद्र सरकार ने मार्च के बाद वैक्सीन के लिए कोई ऑर्डर नहीं दिया?

क्या वाकई केंद्र सरकार ने मार्च के बाद वैक्सीन के लिए कोई ऑर्डर नहीं दिया?

जानिए वैक्सीन को लेकर देश में क्या चल रहा है.

Covid-19: अमेरिका के इस एक्सपर्ट ने भारत को कौन से तीन जरूरी कदम उठाने को कहा है?

Covid-19: अमेरिका के इस एक्सपर्ट ने भारत को कौन से तीन जरूरी कदम उठाने को कहा है?

डॉक्टर एंथनी एस फॉउसी सात राष्ट्रपतियों के साथ काम कर चुके हैं.

रेमडेसिविर या किसी दूसरी दवा के लिए बेसिर-पैर के दाम जमा करने के पहले ये ख़बर पढ़ लीजिए

रेमडेसिविर या किसी दूसरी दवा के लिए बेसिर-पैर के दाम जमा करने के पहले ये ख़बर पढ़ लीजिए

देश भर से सामने आ रही ये घटनाएं हिला देंगी.

कुछ लोगों को फ्री, तो कुछ को 2400 से भी महंगी पड़ेगी कोविड वैक्सीन, जानिए पूरा हिसाब-किताब

कुछ लोगों को फ्री, तो कुछ को 2400 से भी महंगी पड़ेगी कोविड वैक्सीन, जानिए पूरा हिसाब-किताब

वैक्सीन के रेट्स को लेकर देशभर में कन्फ्यूजन की स्थिति क्यों है?

कोरोना से हुई मौतों पर झूठ कौन बोल रहा है? श्मशान या सरकारी दावे?

कोरोना से हुई मौतों पर झूठ कौन बोल रहा है? श्मशान या सरकारी दावे?

जानिए न्यूयॉर्क टाइम्स ने भारत के हालात पर क्या लिखा है.

PM Cares से 200 करोड़ खर्च होने के बाद भी नहीं लगे ऑक्सीजन प्लांट, लेकिन राजनीति पूरी हो रही है

PM Cares से 200 करोड़ खर्च होने के बाद भी नहीं लगे ऑक्सीजन प्लांट, लेकिन राजनीति पूरी हो रही है

यूपी जैसे बड़े राज्य में केवल 1 प्लांट ही लगा.

कोरोना की दूसरी लहर के बीच किन-किन देशों ने भारत को मदद की पेशकश की है?

कोरोना की दूसरी लहर के बीच किन-किन देशों ने भारत को मदद की पेशकश की है?

पाकिस्तान के एक संगठन की ओर से भी मदद की बात कही गई है.

अब सुप्रीम कोर्ट ने कहा- हम राष्ट्रीय आपातकाल जैसी स्थिति में हैं, क्या केंद्र के पास कोई नेशनल प्लान है?

अब सुप्रीम कोर्ट ने कहा- हम राष्ट्रीय आपातकाल जैसी स्थिति में हैं, क्या केंद्र के पास कोई नेशनल प्लान है?

ऑक्सीजन सप्लाई से जुड़ी एक याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई कर रहा था.

'सबसे कारगर' कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनी फाइजर ने भारत के सामने क्या शर्त रख दी है?

'सबसे कारगर' कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनी फाइजर ने भारत के सामने क्या शर्त रख दी है?

भारत सरकार की ओर से इस पर अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

दिल्ली हाई कोर्ट ने ऑक्सीजन की किल्लत पर केंद्र सरकार को बुरी तरह लताड़ दिया है

दिल्ली हाई कोर्ट ने ऑक्सीजन की किल्लत पर केंद्र सरकार को बुरी तरह लताड़ दिया है

बुधवार रात 8 बजे हुई सुनवाई में कोर्ट ने केंद्र को जमकर खरी-खोटी सुनाई.