Submit your post

Follow Us

नहीं रहे जम्मू-कश्मीर के CM मुफ्ती मोहम्मद सईद

जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद का निधन हो गया है. 79 साल के सईद सांस की तकलीफ के बाद 24 दिसंबर को AIIMS में भर्ती हुए थे और बुधवार से वेंटिलेटर पर थे.

वह जम्मू कश्मीर में बीजेपी-पीडीपी की गठबंधन सरकार में मुख्यमंत्री थे. उन्होंने 1999 में जम्मू कश्मीर पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) बनाई थी. बुखार, गर्दन में दर्द और सांस की तकलीफ के चलते उन्हें 14 दिन पहले एम्स के ICU में एडमिट कराया गया था. उन्हें निमोनिया की शिकायत थी और उसकी वजह से काफी कॉम्पलिकेशंस हो गए थे. उनके प्लेटलेट काउंट भी काफी गिर गए थे.

पीडीपी का अध्यक्ष पोस्ट सईद की बेटी महबूबा मुफ्ती के पास है.  मुफ्ती की राजनीतिक विरासत महबूबा ही संभालेंगी और लगभग तय माना जा रहा है कि वह जम्मू-कश्मीर की अगली मुख्यमंत्री होंगी. सूत्र भी बता रहे हैं कि निधन से पहले मुफ्ती मोहम्मद सईद ने यही इच्छा जताई थी. चार दिनों के बाद महबूबा CM पद की शपथ लेंगी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके उन्हें श्रद्धांजलि दी. उन्होंने लिखा कि अपने लंबे राजनीतिक सफर में उन्होंने बहुत प्रशंसक कमाए. हम सब उन्हें मिस करेंगे.

होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने ट्वीट करके दुख जताया. उन्होंने लिखा कि मुफ्ती आम लोगों, खास तौर से वंचितों से मोहब्बत करते थे और घाटी में पूरी तरह शांति स्थापित करना चाहते थे. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी उनके निधन पर ट्वीट किया है.

मुफ्ती के राजनीतिक विरोधी नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता और सूबे के एक्स सीएम उमर अब्दुल्ला ने भी मुफ्ती को श्रद्धांजलि दी. उन्होंने लिखा, ‘अभी मुफ्ती साहब के निधन की बुरी खबर सुनी. मैं हैरान और दुखी हूं. रेस्ट इन पीस.’

मुफ्ती मोहम्मद सईद 1987 तक कांग्रेस में रहे. उसके बाद वीपी सिंह के जनमोर्चा में शामिल होने के लिए उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी. 1989 में वीपी सिंह सरकार में वह देश के पहले मुस्लिम गृह मंत्री बने.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

कूलर चलाने के लिए परिवार ने मरीज के वेंटिलेटर का प्लग हटा दिया, जान चली गई

कोरोना संक्रमण के संदेह में मरीज को अस्पताल में भर्ती किया गया था.

गैस सिलेंडर लेने से पहले ये नया नियम जान लीजिए

पहले के नियम को थोड़ा उलटा-पलटा गया है.

बीच में ही RBI छोड़ने वाले उर्जित पटेल लौट आए हैं, सरकार को बताएंगे कि कैसी आर्थिक नीतियां बनाई जाएं

उर्जित के कार्यकाल में ही नोटबंदी हुई थी, बाद में उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था.

दिल्ली में अब किसी को कोरोना होता है तो पांच दिन सरकारी क्वांरटीन में रहना ही होगा

LG ने दिल्ली में कोरोना मरीजों से जुड़े नियम बदले, केजरीवाल सरकार हुई नाराज.

राहुल गांधी ने पीएम मोदी से पूछा- अगर चीन की ज़मीन थी तो हमारे जवान क्यों शहीद हुए?

पीएम ने कहा था कि न ही कोई हमारी सीमा में घुसा है, न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है.

गलवान घाटी में 15 जून को क्या हुआ था? चीन ने अपनी अलग कहानी बताई है

चीन के विदेश मंत्रालय ने बयान जारी किया है.

लद्दाख में सीमा पर 20 जवानों की शहादत, अब वायुसेना प्रमुख ने बड़ी बात कही है

15 जून को गलवान घाटी में भारत-चीन के बीच हिंसक झड़प हुई थी.

नेपोटिज्म पर दिए गए इरफान खान के बेटे के जवाब की तारीफ क्यों हो रही है?

इंस्टाग्राम पर एक यूजर ने सवाल किया था.

पीएम ने कहा- न कोई हमारी सीमा में घुसा हुआ है, न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है

पीएम ने सर्वदलीय बैठक में सीमा पर हालात के बारे में बताया.

युवराज सिंह ने बता दी अपने रिटायर होने की वजह

इसे जानकर चौंक सकते हैं युवी के फैन.