Submit your post

Follow Us

नेशनल हाइवे पर बनी देश की पहली इमरजेंसी हवाई पट्टी के फायदे क्या हैं?

भारत सरकार पिछले कुछ समय से सेना को हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार कर रही है. आर्मी को मॉडर्न हथियार दिए जा रहे हैं तो एयरफोर्स को राफेल जैसे लड़ाकू विमानों से लैस किया गया है. चीन और पाकिस्तान के साथ हुई कुछ लड़ाइयों के दौरान देश ने देखा था कि युद्ध जैसे हालात से निपटने में इन्फ्रास्ट्रक्चर की कमी मुश्किलें पैदा करती है. भविष्य में ऐसा न हो, इसके लिए कई अहम कदम उठाए जा रहे हैं. इसी के तहत 9 सितंबर को एक महत्वपूर्ण शुरुआत हुई. बाड़मेर में पाकिस्तान सीमा से महज 40 किमी की दूरी पर नैशनल हाइवे को ही हवाई पट्टी बना दिया गया. उस पर लड़ाकू और मालवाहक विमानों को उतारने की ड्रिल की गई. आइए बताते हैं, इसके क्या फायदे होंगे.

फाइटर जेट के साथ ट्रांसपोर्ट विमान भी उतरे

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने राष्ट्रीय राजमार्ग-925 पर बनी देश की पहली हवाई पट्टी का उद्घाटन किया. ये राजस्थान में बाड़मेर-जालोर बॉर्डर पर अड़गावा में है. उनके साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया भी मौजूद थे. यहां एयरफोर्स अधिकारियों की निगरानी में रिहर्सल के तौर पर कई लड़ाकू विमानों और परिवहन विमान उतारकर रनवे की टेस्टिंग की गई. इस दौरान सुखोई-30 MKI फाइटर जेट, जगुआर फाइटर जेट के अलावा हरक्यूलिस सी-130जे प्लेन की सफलतापूर्वक इमरजेंसी लैन्डिंग कराई गई.

Untitled Design (1)
भारतीय वायु सेना का विमान, सोर्स: रक्षा मंत्री कार्यालय ट्विटर

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस मौके पर कहा कि यह ऐतिहासिक दिन है. अभी तक सड़क पर गाड़ियां चला करती थी, लेकिन 21वीं सदी में सड़क पर विमान भी उतरेंगे. यह  एयरस्ट्रिप पाकिस्तान बॉर्डर से कुछ ही दूरी पर है, यह दिखाता है कि भारत हर चुनौती के लिए हमेशा तैयार है. केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि इमरजेंसी या युद्ध के समय एयरफोर्स और आर्मी के हेलिकॉप्टर और लड़ाकू विमानों की आपात लैन्डिंग के लिए देशभर में नैशनल हाइवे पर इस तरह की हवाई पट्टियों का निर्माण किया जाएगा. देश के 10 राज्यों में 19 जगहों पर इस तरह की एयर स्ट्रिप बनाई जाएंगी.

सेना को इससे क्या फायदा होगा?

जब जंग छिड़ती है तो सबसे पहले दुश्मन की हवाई पट्टियों को ही निशाना बनाया जाता है. वो इसलिए ताकि विमान उड़ान न भर सकें ओर उन्हें चुनौती न दी जा सके. ऐसे में हाइवे पर विमानों के उतरने और उड़ने का इंतजाम होने से भारतीय सेना की ताकत में इजाफा हो गया है.

-एनएच- 925 का निर्माण भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत किया गया है. इससे राजस्थान के बाड़मेर और जालौर जिले भी जुड़ते हैं.

-ये दोनों जिले पाकिस्तान सीमा के पास है. इस सड़क के तैयार होने से आर्मी को सीमा की हिफाजत में काफी सहूलियत होगी.

-नेशनल हाइवे पर जिस जगह का इस्तेमाल हवाई पट्टी के रूप में किया गया है, वहां से पाकिस्तान की सीमा भले ही 40 किमी दूर हो, लेकिन हवाई दूरी महज 10 किमी ही है. ऐसे में जरूरत पड़ी तो कच्छ से रण और समुद्र में हवाई हमले किए जा सकेंगे.

-दैनिक भास्कर के मुताबिक, राष्ट्रीय राजमार्ग-925 पर बाड़मेर में बनी इस हवाई पट्टी का एक फायदा ये होगा कि बालाकोट जैसी एयर स्ट्राइक को अब एक से दो घंटे के अंदर अंजाम दिया जा सकेगा.

-जैसलमेर-बाड़मेर और जैसलमेर-फलोदी के बीच दो और ऐसे लैंडिंग ग्राउंड तैयार किए जा रहे हैं.

-इसके साथ ही एयरफोर्स और आर्मी के लिए कुंदनपुरा, बखासर और सिंघानिया गांवों में तीन हेलीपैड भी बनाए गए हैं. ये गाँव भी पाकिस्तान की सीमा के पास हैं.

वायुसेना के पूर्व उप प्रमुख एयर मार्शल आर. शर्मा ने दैनिक भास्कर को बताया कि अगर हाइवे तीन किमी तक सीधा हो तो उसे विमानों के लिए रनवे बनाया जा सकता है. इसके लिए कंक्रीट को मजबूती दी जाती है. लाइटिंग का इंतजाम किया जाता है. हाइवे लंबे होने से वहां ट्रैफिक को रोकना भी आसान रहता है.

19 इमरजेंसी रनवे और बन रहे

केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि सड़क परिवहन मंत्रालय देश के 10 राज्यों में नेशनल हाइवेज पर इस तरह की 19 और हवाई पट्टियाँ तैयार कर रहा है. आइए बताते हैं, ये कहां-कहां पर हैं.

जम्मू-कश्मीर में 1 – बनिहाल-श्रीनगर रोड पर

लेह में 1-न्योम इलाके में

पंजाब में 1– संगरूर के दोगल दिरवा गाँव के पास एनएच- 71 पर

हरियाणा में 1– सिरसा के पास डबवाली मंडी स्ट्रेच पर

राजस्थान में 2 – बाड़मेर-जालोर के एनएच 925, फलोदी-जैसलमेर स्ट्रेच पर

गुजरात में 2– सूरत-वडोदरा रोड और भुज-नालिया रोड पर

आंध्र प्रदेश में 2– नेल्लोर की ओंगोल रोड, ओंगोल-चिलाकलुरीपेट रोड पर

तमिलनाडु में 2 – चेन्नई में पुद्दुचेरी रोड पर

पश्चिम बंगाल में 3– बालासोर-खड़गपुर रोड पर, खड़गपुर-केंदुझारगढ़ रोड पर, और पानागढ़ में

असम में 4– जोरहाट- बाराघाट रोड, बागडोगरा- हसीमारा रोड, हसीमारा- तेजपुर रोड और हसीमारा-गुवाहाटी रोड पर

एक्सप्रेसवे पर पहले हुई थी लैन्डिंग

2017 में लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर एयरफोर्स ने फाइटर जेट्स को उतारकर मॉक टेस्ट किया था. यह बाड़मेर में हुई ड्रिल से इस मायने में अलग है कि लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे एक स्टेट हाईवे है और उत्तर प्रदेश सरकार के अधीन है. जबकि राष्ट्रीय राजमार्ग-925 NHAI के अधीन आता है.

अक्टूबर 2017 में भारतीय वायुसेना ने एक्सप्रेसवे पर 17 से ज्यादा विमान उतार कर चौंकाया था. इसके लिए उन्नाव जिले में बांगरमऊ के पास एक्सप्रेसवे को हवाई पट्टी का रूप दिया गया था. यह जगह लखनऊ से करीब 55 किमी दूर है. इन विमानों में हेवी ड्यूटी सी-130जे सुपर हरक्यूलस परिवहन विमान, जगुआर, मिराज, सुखोई-30 भी शामिल थे.  यह पहली बार था जब कोई परिवहन विमान भारत में एक्सप्रेसवे पर उतरा था. इससे पहले यमुना एक्सप्रेसवे पर मिराज और सुखोई 30 एमकेआई विमानों में एक्सप्रेसवे पर उतरने की ड्रिल हुई थी.

दुनिया के कई देशों में है ऐसे इंतजाम

कई देशों में इस तरह के इंतजाम पहले से हैं. सिंगापुर, फिनलैंड, जर्मनी, दक्षिण कोरिया और ताइवान समेत कई देशों में नैशनल हाइवे और एक्सप्रेस वे पर विमानों के उतरने और उड़ान भरने के लिए हवाई पट्टियां बन चुकी हैं. अब भारत का नाम भी ऐसे देशों की लिस्ट में शामिल हो गया है.

(आपके लिए ये स्टोरी हमारे साथी आयूष ने लिखी है.) 


विडियो- जम्मू एयरबेस जैसे ड्रोन अटैक को आगे रोकने के लिए इंडिया का डिफेंस कितना मजबूत?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल में भारी बारिश के कारण हुई मौतों की संख्या 35 तक पहुंची.

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.