Submit your post

Follow Us

'इक प्यार का नगमा है' लिखने वाले संतोष आनंद की हालत देख लोगों को रुलाई आ गई

‘इंडियन आइडल’ में 21 फ़रवरी के एपिसोड में फेमस गीतकार संतोष आनंद पहुंचे थे. ‘पुरवा सुहानी आई रे’, ‘मैं ना भूलूंगा…’ और ‘इक प्यार का नगमा है’ जैसे अमर गीत लिखने वाले संतोष आनंद. इस मौके पर उन्होंने कई बातें साझा की. और कुछ इस तरह से कि तमाम माहौल भावुक हो गया.

संतोष ने बताया कि बरसों बाद मुंबई में आया हूं और मुझे अच्छा लग रहा है. रात-रात जगकर मैंने गीत लिखे. अपने खून-कलेजे से लिखा है ये सब. पुरानी बातों को याद करते हुए संतोष रो पड़े. उन्होंने कहा कि पुराने दिनों को याद करके बहुत अच्छा लगता है लेकिन अब तो कई बार लगता है कि दिन भी रात हो गई है. मैं जीना चाहता हूं, बहुत अच्छी तरह. ऊपरवाले ने मुझे बहुत कुछ दिया था लेकिन वो सबकुछ कैसे चला गया, पता नहीं चला. ऊपरवाले की कपाट किसने बंद कर दी, मुझे पता नहीं. अब वो दौर तो नहीं लेकिन एक बात कहना चाहूंगा.

जो बीत गया अब वह दौर न आएगा
इस दिल में सिवा तेरे कोई और न आएगा
घर फूंक दिया हमने अब राख उठानी है
जिंदगी और कुछ भी नहीं, तेरी मेरी कहानी है…

इसके बाद वहां मौजूद सभी लोग भावुक हो गए. सबके साथ इंडियन आइडल की जज और गायिका नेहा कक्कड़ भी रो पड़ीं. नेहा ने कहा कि आपके गीतों से हमने प्यार करना सीखा है. दुनिया के बारे में जाना है. नेहा ने घोषणा की कि वो संतोष को पांच लाख रुपये की भेंट देना चाहती हैं. पैसों की बात पर संतोष ने कहा कि इसपर मैं क्या कहूं. मैंने आजतक किसी से कुछ नहीं मांगा. बहुत स्वाभिमानी आदमी हूं. आज भी मेहनत करता हूं. इसके बाद नेहा के कहा कि सर आप ये समझिए कि यह आपकी पोती की तरफ से है. इसके बाद संतोष आनंद ने कहा कि उसके लिए स्वीकार करूंगा. इसके बाद नेहा कक्कड़ ने भी एक प्यार का नगमा है गीत गाया. रोते-रोते. इस वाकये के बाद सोशल मीडिया पर लोग नेहा कक्कड़ की तारीफ़ करते नज़र आ रहे हैं.

वीडियो देखिए.

संतोष आनंद के बारे में और जानिए

संतोष का जन्म उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के सिकंदराबाद में हुआ था. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से लाइब्रेरी साइंस की पढ़ाई की, फिर दिल्ली में लाइब्रेरियन के तौर पर काम शुरू कर दिया. दिल्ली में होने वाले कवि सम्मेलनों में हिस्सा लेते थे. कविताएं लिखते थे. पहली बार फिल्म के लिए गाने लिखने का ऑफर मिला 1970 में. ‘पूरब और पश्चिम’ फिल्म के लिए ‘पुरवा सुहानी आई रे’ गाना लिखा. उसके बाद तो कई फिल्मों के ऑफर आने लगे. साल 1995 तक फिल्मी दुनिया में एक्टिव रहे. 1974 में ‘रोटी कपड़ा और मकान’ फिल्म के ‘मैं ना भूलूंगा…’ गाने और 1983 में ‘प्रेम रोग’ फिल्म के ‘मोहब्बत है क्या चीज़’ गाने के लिए फिल्म फेयर अवॉर्ड मिला. 2016 में यश भारती अवॉर्ड भी मिला. साल 2014 में उनके बहू-बेटे ने सुसाइड कर लिया था. इस घटना के बाद संतोष आनंद बिखर से गए.


विडियो- जब ‘शहंशाह’ की शूटिंग से पहले अमिताभ ने कहा- मैं कभी एक्टिंग नहीं कर पाऊंगा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.