Submit your post

Follow Us

आरोग्य सेतु ऐप से कोरोना वायरस का संक्रमण कैसे रुकेगा?

भारत सरकार ने कोरोना वायरस के संक्रमण से लोगों बचाने के लिए आरोग्य सेतु ऐप लॉन्च किया है. पीएम मोदी ने लोगों से आग्रह किया है कि इसे डाउनलोड करें. आरोग्य सेतु ऐप को जितने ज़्यादा लोग डाउनलोड करेंगे, उतने ज़्यादा मामलों का पता चलेगा और संक्रमण को रोकने में मदद मिलेगी. 

इस ऐप को लेकर अपडेट ये है कि इसमें एक ख़ास फीचर जोड़ा जा रहा है. ‘ई-पास’ का फीचर. इस फीचर को जल्द ही लाइव किया जाएगा. इस फीचर के फंक्शनल होने के बाद ई-पास फीचर पब्लिक प्लेस पर जाने वालों के लिए फ़िल्टर की तरह काम करेगा.

इंडिया टुडे की रिपोर्ट मुताबिक़, ई-पास जैसा फीचर चीन में भी बनाया गया था. आरोग्य ऐप का यह फीचर भी वैसा सा ही है. चीन के इस सफल मॉडल की तरह सेतु ऐप रिस्क फ्री इंसान के लिए हरा स्टेटस बताएगा. वहीं, नारंगी स्टेटस वाले लोगों को भीड़ से दूरी और लोगों से शारीरिक दूरी रखने की सलाह दी जाएगी. लाल स्टेटस वाले लोगों को खुद को क्वारंटीन करने की सलाह दी जाती है.

इससे पहले भारत सरकार के प्रिंसिपल साइंटिफिक एडवाइजर विजय राघवन ने इंडिया टुडे से बातचीत में कहा,

आने वाले दिनों में हम इस ऐप के जरिए लोगों को अलर्ट करके कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोक सकेंगे.

इस ऐप में कोरोना वायरस अपडेट्स करके एक ऐप जोड़ा गया है. इस फीचर के जरिए आप जान सकते हैं कि किस प्रदेश में कोरोना से कितने लोग संक्रमित हैं. कितने लोग चंगे हो गए हैं और कितनों की मौत हुई है.

आरोग्य ऐप को 11 भाषाओं में लॉन्च किया गया है. इसे एक करोड़ से ज्यादा लोग डाउनलोड कर चुके हैं. जल्दी ही इसे फीचर फोन के लिए भी लॉन्च किया जाएगा. अभी इसे गूगल प्ले स्टोर और ऐप स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है. ऐप में कोरोना से बचाव के लिए सभी ज़रूरी गाइडलाइन और सुझाव भी नत्थी किए गए हैं. सबकुछ कोरोना के फैलाव को रोकने के लिए. 

आरोग्य ऐप के प्राइवेसी को लेकर सवाल उठ रहे हैं. इसको लेकर आप विस्तार से यहां क्लिक करके पढ़ सकते हैं.


विडियो- मुंबई पुलिस ने बांद्रा मामले में जिस विनय दूबे को पकड़ा, उसने मोदी सरकार को क्या चैलेंज दिया था?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आयुष्मान कार्ड वालों की फ़्री कोरोना जांच होगी, लेकिन 2 करोड़ परिवार इस लिस्ट से ही ग़ायब!

क्या गड़बड़ी हुई गिनती में?

20 अप्रैल से कौन-कौन से लोग अपना काम-धंधा शुरू कर सकते हैं?

और खाने-पीने के सामान को लेकर सरकार ने क्या कहा?

लॉकडाउन के बीच ज़रूरी सामान भेजना है? बस एक कॉल पर हो जाएगा काम

रेलवे अधिकारियों ने शुरू की है 'सेतु' सर्विस.

सड़क पर मजदूरों संग खाना खाने वाले अर्थशास्त्री ने सरकार को कमाल का फॉर्मूला सुझाया है

कोरोना और लॉकडाउन ने मजदूर को कहीं का नहीं छोड़ा.

सरकार की नई गाइडलाइंस, जानिए किन इलाकों में, किन लोगों को लॉकडाउन से छूट

कोरोना से निपटने के लिए लॉकडाउन पहले ही बढ़ाया जा चुका है.

टेस्टिंग किट की बात पर राहुल गांधी ने भारत की तुलना किन देशों से की?

कहा, 'हम पूरे खेल में कहीं नहीं हैं.'

चीन से भारत के लिए चली टेस्टिंग किट की खेप अमरीका निकल गयी!

और अभी तक भारत में नहीं शुरू हो पाई मास टेस्टिंग.

कोरोना: मरीजों की खातिर बेड और लैब के लिए कितना तैयार है भारत, PM मोदी ने बताया

लॉकडाउन बढ़ाने के अलावा पीएम ने क्या-क्या कहा?

15 अप्रैल को लॉकडाउन-2 की जो गाइडलाइंस आनी हैं, उनमें क्या-क्या हो सकता है

पूरे देश में 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ चुका है.

सुप्रीम कोर्ट ने बता दिया है कि किन लोगों का कोरोना वायरस टेस्ट फ्री में होगा

प्राइवेट लैब भी नहीं ले सकेंगे इनसे पैसा.