Submit your post

Follow Us

जितना पैसा माल्या लेकर फरार है, उससे तीन गुना ज़्यादा तो UP के 10 लाख लोगों पर बिजली बिल बकाया है

उत्तर प्रदेश में एक लाख रुपये और इससे से अधिक के बिजली बिल का बकाया ना चुकाने वालों ने नया रिकॉर्ड बना दिया है. यहां करीब 10 लाख उपभोक्ताओं का बिजली का बकाया बिल, एक लाख या उससे ज्यादा है. कुल बकाया पैसा जोड़ें तो यह 30 हजार करोड़ रुपये होंगे. गोवा के 2020 के आम बजट (21 हजार करोड़ ) और विजय माल्या के कर्जे ( 9 हजार करोड़) के बराबर. यह बकाया राशि और अधिक भी हो सकती है यदि एक लाख से कम बकाया वालों को भी शामिल कर लिया जाए. उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन (UPPCL) ने हाल ही में जारी किये गए अपने रिव्यू में ये बात कही है. फिलहाल ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बकाया बिल वसूलने में और तेजी लाने की बात कही है.

ऊर्जा मंत्री ने क्या कहा?

इस समीक्षा के सामने आने के बाद ऊर्जा मंत्री ने इतनी बकाया राशि को लेकर कहा है कि यह कोई बहुत संदेह की बात नहीं है. उन्होंने कहा,

 बकाये और भुगतान में इतने अंतर के कारण यूपीपीसीएल का घाटा बढ़ते-बढ़ते 70 हजार करोड़ हो गया है. यह कोई संदेह की बात नहीं है. COVID-19 के कारण यह स्थिति थोड़ी खराब हुई है. बिजली विभाग के इस रिव्यू के बाद पता चला है कि 1 लाख रुपये से अधिक की राशि वाले 99,2526 उपभोक्ताओं पर निगम का 29,746.23 करोड़ रुपये का बकाया है.

हर जोन का बकाया हजार करोड़ पार

यूपीपीसीएल के तहत चार वितरण कंपनियों (डिस्कॉम) के बीच, अकेले वाराणसी डिस्कॉम का उपभोक्ताओं पर 11,595 करोड़ रुपये का बकाया है. लगभग 4.48 लाख उपभोक्ताओं द्वारा एक लाख रुपये या उससे अधिक का बिजली बिल अभी तक नहीं दिया गया है.
यही हाल आगरा डिस्कॉम का है. यहां भी 2.71 लाख उपभोक्ताओं के 9192 करोड़ रुपये बकाया हैं. वहीं, मेरठ डिस्कॉम के 1.84 लाख उपभोक्ताओं पर 4,859 करोड़ रुपये बकाया हैं. इसमें सबसे कम बकाया लखनऊ डिस्कॉम के उपभोक्ताओं पर है. यहां 1.32 लाख उपभोक्ताओं पर 4,093 करोड़ रुपये बकाया है.

इस पूरे मुद्दे पर यूपी राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने कहा कि कुल बिजली बिल के बकाये में सरकारी विभागों की बड़ी हिस्सेदारी है. उन्होंने कहा,

एक तरफ यूपीपीसीएल अपने बकाए पर ध्यान नहीं दे रही है. दूसरी तरफ बढ़ते घाटे के चलते वह बिजली की कीमतें बढ़ाने पर भी विचार कर रही है. अगर कीमतें बढ़ीं तो इसका बोझ आम आदमी पर ही पड़ेगा.

यूपीपीसीएल के इस रिव्यू के अनुसार मार्च में कुल 10 लाख के करीब उपभोक्ता ऐसे थे जिन्हें एक लाख या उससे अधिक का बिल देना था. यह बकाया राशि 35 हजार करोड़ थी.



वीडियो देखे: क्या है UPPCL पीएफ स्कैम जिसमें डीएचएफ और दाऊद के क़रीबी इक़बाल मिर्ची फंसा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गलवान घाटी में भारत से लड़ाई पर चीन के लोग किस-किस तरह के सवाल उठा रहे हैं?

चीनी टि्वटर 'वीबो' पर कई पोस्ट लिखी गई हैं.

Exclusive: गलवान घाटी में 15 जून को तीन बार हुई लड़ाई में क्या-क्या हुआ था, विस्तार से जानिए

तीसरी लड़ाई के बाद भारत ने 16 चीनी सैनिकों के शव सौंपे थे.

राज्यसभा की 18 सीटों में से कांग्रेस और बीजेपी ने कितनी जीतीं?

एक और पार्टी है जिसने कांग्रेस जितनी सीटें जीती हैं.

दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ऑक्सीजन सपोर्ट पर, दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किए गए

कुछ दिन पहले कोरोना पॉज़िटिव आए थे, अब प्लाज़मा थेरेपी दी जाएगी.

चीनी सेना की यूनिट 61398, जिससे पूरी दुनिया के डेटाबाज़ डरते हैं

बड़ी चालाकी से काम करती है ये यूनिट.

गलवान घाटी में झड़प के बाद भी चीनी सेना मौजूद, 200 से ज्यादा ट्रक और टेंट लगाए

सैटेलाइट से ली गई तस्वीरों में यह सामने आया है.

पेट्रोल-डीजल के दाम में फिर से उबाल क्यों आ रहा है?

रोजाना इनके दाम घटने-बढ़ने की पूरी कहानी.

उत्तर प्रदेश में एक IPS अधिकारी के ट्रांसफर पर क्यों तहलका मचा हुआ है?

69000 भर्ती में कार्रवाई का नतीजा ट्रांसफर बता रहे लोग. मगर बात कुछ और भी है.

गलवान घाटी: LAC पर भारत के तीन नहीं, 20 जवान शहीद हुए हैं, कई चीनी सैनिक भी मारे गए

लड़ाई में हमारे एक के मुकाबले तीन थे चीनी सैनिक.

गलवान घाटीः वो जगह जहां भारत-चीन के बीच झड़प हुई

पिछले कुछ समय से यहां पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं.