Submit your post

Follow Us

राजस्थान: नागौर में दलित लड़के को बुरी तरह पीटा, गुप्तांग में पेचकस से पेट्रोल डाल दिया

राजस्थान का नागौर ज़िला. पांचौड़ी थाना क्षेत्र का करणु गांव. यहां एक दलित युवक के साथ बुरी तरह मारपीट का मामला सामने आया है. इतना ही नहीं, आरोपियों ने क्रूरता से दलित युवक के गुप्तांग में पेचकस में कपड़ा लपेटकर पेट्रोल डाल दिया.

सोशल मीडिया पर इसका वीडियो वायरल हो रहा है, जो डरावना है. उसके साथ मौजूद एक और दलित युवक को पीटा गया है. वीडियो सामने आने के बाद 19 फरवरी को सात आरोपियों के ख़िलाफ़ FIR दर्ज की गई और पुलिस ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. घटना 16 फरवरी की बताई जा रही है. मामले की जांच की जा रही है. पीड़ित युवक के परिवार का कहना है कि उन्हें जान से मारने की धमकी दी जा रही थी इसलिए शिकायत दर्ज नहीं करवाई. युवक सोननगर के भोजावास का रहने वाला है.

वायरल हुए वीडियो में आरोपी पेचकस पर कपड़ा लपेटते हुए और दलित युवक के गुप्तागं पर पेट्रोल डालते दिख रहे हैं. फोटो: Twitter
वायरल हुए वीडियो में आरोपी पेचकस पर कपड़ा लपेटते हुए और दलित युवक के गुप्तागं पर पेट्रोल डालते दिख रहे हैं. फोटो: Twitter

पांचौड़ी के थाना प्रभारी राजपाल सिंह ने बताया कि घटना एक दोपहिया वाहन कंपनी के शोरूम में हुई. शोरूम के कर्मचारियों ने चोरी का आरोप लगाते हुए दलित युवक के अलावा एक और शख्स को पीटना शुरू किया और इसका वीडियो भी बनाया.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सात आरोपियों भीव सिंह, लक्ष्मण सिंह, आईदान, जसू सिंह, सवाई सिंह, हड़मान सिंह, गणपत राम के ख़िलाफ़ मारपीट और गुप्तांग में पेट्रोल डालने का मामला दर्ज किया गया है. नागौर SP ने बताया कि पुलिस को समय पर सूचना नहीं मिली. उन्होंने कहा कि मामले में कठोर कार्रवाई की जाएगी.

मोटरसाइकिल की सर्विसिंग कराने गया था युवक

दलित युवक ने अपनी शिकायत में बताया कि 16 फरवरी को वो अपने चाचा के लड़के के साथ मोटरसाइकिल की सर्विसिंग कराने के लिए करणु गांव की एजेंसी गया था. उसने कहा कि यहां आरोपियों ने उस पर काउंटर से पैसे चुराने का आरोप लगाया और एजेंसी के पीछे ले जाकर बेल्ट और लात-घूसों से बुरी तरह पीटा. इसके बाद पेचकल पर पेट्रोल से भरा कपड़ा लपेटकर उसके गुप्तांग पर पेट्रोल डाला. युवक ने कहा कि चाचा के लड़के के साथ भी मारपीट की गई. उसने आरोप लगाया कि पिटाई के बाद आरोपियों ने उसके पड़ोसी अर्जुन सिंह और जेठू सिंह को फोन कर बताया कि दोनों को आकर ले जाएं. इसके बाद घायल युवक का भाई एजेंसी पहुंचा और दोनों को अस्पताल ले गया.

राज्य की कांग्रेस सरकार पर सवाल उठ रहे हैं

इस घटना पर राजनीतिक प्रतिक्रिया भी आ रही हैं. सोशल मीडिया पर लोग गुस्सा जाहिर कर रहे हैं और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को घेर रहे हैं. नागौर से सांसद और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के हनुमान बेनीवाल ने ट्वीट कर मामले में कार्रवाई की मांग की है. उन्होंने कहा,

नागौर जिले के करणु गांव में दलित युवकों के साथ कुछ लोगों द्वारा किए गए अमानवीय व्यवहार, गुप्तांगों पर पेट्रोल डालने तथा मारपीट की घटना मानवता को शर्मसार करने वाली है. उन्होंने अजमेर रेंज आईजी से फ़ोन करके मामले में सख्त कार्रवाई की मांग की है.

उन्होंने एक और ट्वीट में कहा,

नागौर जिले के करणु में हुई 2 युवकों के साथ अमानवीय घटना को लेकर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी पीड़ित परिवार के साथ है. एक सभ्य समाज मे हिंसक प्रवृति के लोगो द्वारा इस तरह गंभीर घटना को अंजाम देना राजस्थान पुलिस का भय नहीं होने की और इंगित करता है. दोषियों के ख़िलाफ़ सख्त आवाज उठाई जाएगी.

सोशल मीडिया पर कई लोग अपील कर रहे हैं कि घटना का वीडियो इतना डरावना है कि उसे देखने की हिम्मत नहीं हो रही. बीजेपी आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने अशोक गहलोत को घेरते हुए घटना का वीडियो ट्वीट किया और कहा,

कांग्रेस शासित राजस्थान में दलितों के ख़िलाफ़ क्रूरता की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं. लोगों के एक समूह ने 500 रुपए चुराने के आरोप में दलित युवक के गुप्तांग में पेचकल डाल दिया. राजस्थान के लिए अशोक गहलोत अयोग्य रहे हैं.

अमित मालवीय ने कहा कि राजस्थान में दलितों के ख़िलाफ़ घटनाएं रुक नहीं रही हैं. फोटो: Twitter
अमित मालवीय ने कहा कि राजस्थान में दलितों के ख़िलाफ़ घटनाएं रुक नहीं रही हैं. फोटो: Twitter

इस पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के OSD शशि कांत शर्मा ने जवाब देते हुए कहा,

मिस्टर मालवीय, जैसे ही घटना रिपोर्ट हुई, तुरंत कार्रवाई हुई और सभी आरोपियों की गिरफ्तारी हुई. आप और सरकार का आपका गुजरात मॉडल तब कहां थे जब पुलिस प्रोटेक्शन में दलित जवान की बारात के दौरान उस पर पत्थर फेंके गए.

राजस्थान के मुख्यमंत्री के OSD ने अमित मालवीय को गुजरात मॉडल की याद दिला दी. फोटो: TwitterKant
राजस्थान के मुख्यमंत्री के OSD ने अमित मालवीय को गुजरात मॉडल की याद दिला दी. फोटो: Twitter

फिलहाल, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है.


अशोक गहलोत सरकार कोटा में बच्चों की मौत की ज़िम्मेदारी क्यों नहीं ले रही?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कोरोना का ट्रायल वैक्सीन लेने वाले हरियाणा के मंत्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए

कोरोना का ट्रायल वैक्सीन लेने वाले हरियाणा के मंत्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए

कोरोना की वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के दौरान टीका लगाया गया था.

उइगर मुस्लिम ने बताया, 'चीन में हमें ज़बरदस्ती सूअर का मांस खिलाया जाता था'

उइगर मुस्लिम ने बताया, 'चीन में हमें ज़बरदस्ती सूअर का मांस खिलाया जाता था'

नसबंदी न करवाने पर उइगर मुस्लिमों के साथ क्या होता है?

सरकार और किसानों के बीच साढ़े सात घंटे तक चली बैठक में क्या नतीजा निकला, जान लीजिए

सरकार और किसानों के बीच साढ़े सात घंटे तक चली बैठक में क्या नतीजा निकला, जान लीजिए

कृषि मंत्री ने बताया, सरकार किन-किन बातों पर राजी हो गई है

दुनिया को मिली पहली 'भरोसेमंद' कोरोना वैक्सीन, अगले हफ्ते से लगेंगे टीके

दुनिया को मिली पहली 'भरोसेमंद' कोरोना वैक्सीन, अगले हफ्ते से लगेंगे टीके

ब्रिटेन पहला पश्चिमी देश है, जहां कोविड-19 वैक्सीन को हरी झंडी दी गई है

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज लोकुर ने कहा, जबरन धर्मांतरण पर यूपी का क़ानून लोगों की आजादी के खिलाफ़ है

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज लोकुर ने कहा, जबरन धर्मांतरण पर यूपी का क़ानून लोगों की आजादी के खिलाफ़ है

UAPA और दिल्ली दंगों पर जस्टिस लोकुर ने क्या कहा?

वो गेंद स्टंप पर नहीं मारता था, खुद लपक कर स्टंप बिखेर देता था

वो गेंद स्टंप पर नहीं मारता था, खुद लपक कर स्टंप बिखेर देता था

मोहम्मद कैफ़ का आज जन्मदिन है. इस बहाने आज उनकी फील्डिंग के चंद किस्से.

पिता ने चिट्ठी लिखकर गंभीर इल्ज़ाम लगाए तो शेहला राशिद ने क्या कहा?

पिता ने चिट्ठी लिखकर गंभीर इल्ज़ाम लगाए तो शेहला राशिद ने क्या कहा?

चिट्ठी में कहा कि शेहला घर में एंटी-नेशनल काम कर रही हैं.

दिल्ली दंगा : वीडियो सबूत होने के बाद भी पुलिस ने जांच नहीं की, कोर्ट ने दिया FIR का ऑर्डर

दिल्ली दंगा : वीडियो सबूत होने के बाद भी पुलिस ने जांच नहीं की, कोर्ट ने दिया FIR का ऑर्डर

सलीम की शिकायत, 'सुभाष और अशोक ने मेरे घर पर हमला किया'

कृषि बिलों पर वोटिंग के दौरान किसके कहने पर सांसदों के माइक बंद किए गए थे?

कृषि बिलों पर वोटिंग के दौरान किसके कहने पर सांसदों के माइक बंद किए गए थे?

बहुत हंगामा हुआ था, अब कहानी सामने आयी.

देश की आर्थिक सेहत बताने वाले GDP के आंकड़े आ गए हैं. ये डराने वाले हैं और उम्मीद जगाने वाले भी

देश की आर्थिक सेहत बताने वाले GDP के आंकड़े आ गए हैं. ये डराने वाले हैं और उम्मीद जगाने वाले भी

इस वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के जीडीपी आंकड़े क्या बताते हैं, जान लीजिए