Submit your post

Follow Us

गोधरा कांड: सबकी फांसी को हाई कोर्ट ने उम्रकैद में बदल दिया

साल 2002 में गोधरा में ट्रेन जला दी गई थी. 59 लोग जिंदा जला दिए गए. इसके बाद गुजरात में दंगे भड़क गए. दंगों की आग में हज़ारों ज़िंदगियां खत्म हो गईं. ट्रेन जलाने के मामले में एसआईटी (स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम) की विशेष अदालत ने एक मार्च 2011 को 31 लोगों को दोषी करार दिया था. 11 दोषियों को मौत की सजा सुनाई गई थी और 20 को उम्रकैद की सजा हुई थी. फैसले के खिलाफ हाई कोर्ट में अपील दायर की गई. लंबी सुनवाई के बाद नौ अक्टूबर 2017 को फैसला आ गया. हाई कोर्ट ने जिन 11 लोगों को फांसी की सजा सुनाई थी, उसे उम्रकैद में तब्दील कर दिया है. इसके अलावा जिन 20 लोगों को उम्रकैद हुई थी, उसे बरकरार रखा है.

जिनकी फांसी की सजा उम्रकैद में बदली

1. हाजी बिलाल इस्माइल
2. अब्दुल मजीद रमजानी
3. रज्जाक कुरकुर
4. सलीम उर्फ सलमान जर्दा
5. ज़बीर बेहरा
6. महबूब लतिका
7. इरफान पापिल्या
8. सोकुट लालू
9. इरफान भोपा
10. इस्माइल सुजेला
11. जुबीर बिमयानी

घायलों की गवाही के आधार पर कोर्ट ने दिया फैसला

Godhra 4
निचली अदालत ने 63 लोगों को रिहा किया था, जिसे हाई कोर्ट ने बरकरार रखा है. ( फाइल फोटो: Reuters)

SIT की विशेष अदालत ने 22 फरवरी 2011 को सुनवाई के दौरान 63 लोगों को रिहा कर दिया था. बरी किए गए लोगों में मुख्य आरोपी मौलाना उमरजी, गोधरा नगरपालिका के तत्कालीन प्रेसिडेंट मोहम्मद हुसैन कलोटा, मोहम्मद अंसारी और गंगापुर, उत्तर प्रदेश के नानूमिया चौधरी शामिल थे. इसके खिलाफ राज्य सरकार ने हाई कोर्ट में अपील की थी. हाई कोर्ट ने इन सभी 63 लोगों के मामले में निचली अदालत का ही फैसला बरकरार रखा है और राज्य सरकार की अपील खारिज कर दी है. कोर्ट ने घायल यात्रियों, रेलवे स्टाफ, जीआरपी और जावेद बेहरा की गवाही के आधार पर फैसला सुनाया है. इस दौरान कोर्ट ने कहा-

राज्य सरकार और रेलवे लॉ एंड ऑर्डर कायम करने में नाकाम रही है.

इसके साथ ही हाई कोर्ट ने छह सप्ताह के अंदर हादसे में मारे गए लोगों के घरवालों को 10-10 लाख रुपए का मुआवजा देने का आदेश राज्य सरकार को दिया है.

59 लोगों की हुई थी मौत

Godhra 2
15 साल से अधिक की सुनवाई के बाद कोर्ट ने सभी दोषियों को उम्रकैद की सजा दी है. (फाइल फोटो : Reuters)

27 फरवरी 2002 का दिन था. वक्त सुबह का था. साबरमती एक्सप्रेस गोधरा स्टेशन पहुंची थी. उसके बाद एस-6 डिब्बे में आग लगा दी गई, जिसमें 59 लोगों की मौत हुई थी. मरने वाले ज्यादातर लोग अयोध्या से लौट रहे ‘कार सेवक’ थे. इस हत्याकांड की जांच के लिए गुजरात सरकार ने नानावती आयोग बनाया था. इस आयोग ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि साबरमती एक्सप्रेस के एस-6 कोच में लगी आग हादसा नहीं थी. इसे सुनियोजित साजिश के तहत आग के हवाले किया गया था.


लल्लनटॉप शो में सीएम योगी आदित्यनाथ के सेशन का वीडियो देखें-

ये भी पढ़ें:

ल्यो, नरोदा पाटिया केस में सातवें जज ने भी खुद को सुनवाई से अलग किया

गोधरा कांड में 450 मुसलमान बच्चों की जान बचाने वाले IPS राहुल शर्मा, हरा पाएंगे बीजेपी को?

गुजरात दंगों के 3 दोषी, जिन्हें लोअर कोर्ट ने छोड़ा, HC ने रगड़ा

गुलबर्ग सोसाइटी केस: 24 दंगाइयों में से 11 को उम्रकैद

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

दो महीने बाद शुरू हुईं घरेलू उड़ानें, इस फ्लाइट में मिला कोरोना संक्रमित यात्री

पहले होटल और फिर हॉस्पिटल में क्वारंटीन.

कोरोना: 'उबर' ने भारत में अपने एक-चौथाई कर्मचारियों को नौकरी से निकालने का ऐलान किया

'ओला' का हाल भी कुछ ऐसा ही है.

ईद पर सलमान ने 5000 लोगों के लिए जो किया, वो जानकर भी आप 'भाई भाई' नहीं सुनेंगे

टोटल 50 हज़ार से ज़्यादा लोगों की मदद कर चुके सलमान खान.

प्रवासी मजदूरों के मददगार सोनू सूद ने अब नया क्या किया है?

'नमस्कार! मैं आपका दोस्त सोनू सूद बोल रहा हूं.'

लॉकडाउन खत्म होते-होते कोरोना की जद में आया करण जौहर का घर

करण ने ट्विटर पर डिटेल में जानकारी दी है.

तेजस्वी सूर्या ने मंदिर पर आंध्र सरकार को घेरा, सुब्रमण्यम स्वामी ने बीजेपी को ही फंसा दिया

अब BJP कहे तो कहे क्या, करे तो करे क्या?

लिव-इन पार्टनर की हत्या का पता न चले, इसलिए नौ और लोगों को मार डाला

गर्लफ्रेंड ने नाबालिग बेटी से दूर रहने की चेतावनी दी, तो उसे मारकर ट्रेन से फेंक दिया.

बिहार बोर्ड के 10th का रिजल्ट आ गया है, रोहतास के हिमांशु राज ने टॉप किया है

मेरिट लिस्ट में 41 बच्चों ने जगह बनाई है, इनमें 10 लड़कियां हैं.

लॉकडाउन में अक्षय ने ऐसे शूटिंग की है कि आप देखकर सैनिटाइज़र लगा लेंगे

लेकिन एक दिक्कत भी आ गई है, अक्षय कुमार की फिल्म 'पृथ्वीराज' का सेट तोड़ा जा रहा है.

चीन में दो दिन में कोरोना के 87 नए मामले, जहां से शुरू हुआ वहां सबसे ज्यादा मरीज़

कोरोना वायरस की शुरुआत चीन के वुहान शहर से हुई थी.