Submit your post

Follow Us

क्या इस एक्ट्रेस पर बायोपिक बनाने जा रहे हैं इम्तियाज़ अली?

5
शेयर्स

बॉलीवुड की सबसे खूबसूरत एक्ट्रेस मानी जाने वाली मधुबाला की जिंदगी जल्द ही पर्दे पर नजर आ सकती है.ऐसी खबरें आ रही हैं कि डायरेक्टर इम्तियाज अली मधुबाला पर बायोपिक बना सकते हैं. ये भी कहा जा रहा है कि इम्तियाज ने मधुबाला के परिवार से बात की है. और उनकी फैमिली से फिल्म बनाने के राइट्स लिए हैं. हालांकि फिल्म को लेकर इम्तियाज की तरफ से कोई आधिकारिक ऐलान नहीं हुआ है. न ही हिरोइन का नाम कंफर्म हुआ है.

मधुबाला के परिवार ने भी इस बायोपिक को लेकर कोई बात नहीं की है. हालांकि उनकी बहन मधुर भूषण ने अगस्त 2017 में कहा था कि वो और उनका परिवार नहीं चाहता है कि मधुबाला की जिंदगी पर कोई फिल्म, सीरियल या वेब सीरिज बनाई जाए. उनकी इजाजत के बिना तो बिल्कुल नहीं. क्योंकि वो नहीं चाहती कि उनकी जिदंगी को गलत तरीके से कैमरे पर दिखाया जाए. और लोगों के मन में बनी मधुबाला की छवि को खराब हो. अगर कोई डायरेक्टर ऐसा करना चाहता है, तो पहले उनसे संपर्क करे.

उन्होंने ये भी बताया था कि अगर उनकी इजाजत से मधुबाला की बायोपिक बनती है, तो करीना उनका किरदार निभा सकती हैं.

करीना खूबसूरत और बेहद टैलेंटेड हैं. हालांकि मुझे पता है कि वो मेरी बहन से अलग दिखती हैं, लेकिन मुझे उनकी अदाकारी पसंद है. मैंने सिर्फ अपनी पसंद बताई है. बाकी करीना की मर्जी सबसे अहम है.

Madhubala
मैडम तुसाद म्यूजियम में मधुबाला के वैक्स स्टेच्यू के साथ उनकी बहन मधुर.

मधुबाला के बारे में खास बातें-

1. मधुबाला मशहूर वेटरन एक्ट्रेस हैं, जिन्हें लेकर कई किस्से मशहूर हैं. उन्होंने बतौर बाल कलाकार डेब्यू किया था. उनकी पहली फिल्म ‘बसंत’ थी. नील कमल में वो राज कपूर की को-स्टार बनीं.

2. उन्होंने ने अपने 22 साल के करियर में करीब 66 फिल्में की थी. उनकी आखिरी फिल्म 1971 में रिलीज हुई फिल्म ज्वाला थी. इसमें उनके अपॉजिट सुनील दत्त थे.

3. मधुबाला की पॉपुलरिटी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि साल 1990 में एक फ़िल्मी मैगजीन मूवी ने बॉलीवुड की ऑल टाइम ग्रेटेस्ट एक्ट्रेस की पॉपुलरिटी का सर्वे कराया था. इसमें 58 परसेंट वोट्स के साथ मधुबाला पहले नंबर पर थीं. दूसरे नंबर पर नरगिस थीं, जिन्हें  13 फ़ीसदी वोट मिले थे.

4. 1957 में फ़िल्मफेयर मैगजीन ने उस वक्त के सुपर स्टार्स से खुद के बारे में कुछ लिखने को कहा था. देव आनंद, राजकपूर, मीना कुमारी, दिलीप कुमार ने लिखा. लेकिन जब मधुबाला का नंबर आया तो उन्होंने माफीनामे के साथ अपने बारे में कुछ भी लिखने से इंकार कर दिया. उनके माफानामे की लाइन थी- मैं खुद को खो चुकी हूं. ऐसे में खुद के बारे में क्या लिखूं.

5. मधुबाला को दिल से संबंधित बीमारी थी. कहा  जाता है कि डॉक्टरों ने उनकी सेहत को लेकर हाथ खड़े कर दिए थे. उसके बाद भी वो 9 साल तक अपनी जीने की इच्छा की वजह से जिदां रहीं. हालांकि उन नौ सालों में उन्होंने खुद को पूरी तरह से घर में कैद कर लिया था और बहुत करीबी लोगों से ही मुलाकात करती थीं. 18 मार्च, 2008 को भारतीय डाक सेवा ने मधुबाला की याद में एक डाक टिकट जारी किया था.


Video : सलमान खान और रणबीर कपूर की अनबन को उनकेफैन्स उस लेवल पर ले गए कि रणबीर ट्रेंड करने लगे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

जामिया CAB प्रदर्शनः पुलिस के आंसू गैस गोले से छात्र का अंगूठा फट गया

जामिया में संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन तेज, परीक्षाएं आगे बढ़ीं.

नागरिकता कानून में हुए संशोधन पर संविधान एक्सपर्ट्स का क्या कहना है?

एक्सपर्ट्स का दावा, ये संशोधन संविधान के आर्टिकल 14, 5 और 11 का उल्लंघन है.

पासपोर्ट पर कमल छाप तो दिया लेकिन सरकार खुद इसे राष्ट्रीय फूल नहीं मानती

बवाल मचा तो सरकार ने कहा था राष्ट्रीय प्रतीकों को छाप रहे हैं.

16 दिसंबर को इस वजह से नहीं होगी निर्भया के चारों दोषियों को फांसी

सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई के बाद ही डेथ वारंट पर फैसला होगा.

CAB विरोध: असम में पुलिस की फायरिंग से दो की मौत, कर्फ़्यू मान नहीं रही है भीड़

तीन BJP विधायकों के घर पर हमला. मेघालय के भी कुछ इलाकों में कर्फ़्यू. तीन राज्य में इंटरनेट बंद.

नागरिकता संशोधन बिल पास होने पर IPS ऑफिसर ने विरोध में इस्तीफा दिया

उन्होंने कहा, 'ये बिल देश को बांटने वाला है.'

कर्नाटक में 15 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में BJP का क्या हुआ?

BJP सरकार बनी रहेगी या जाएगी?

मोदी सरकार के इस कदम से घरेलू इंडस्ट्री चमक सकती है, पर रिस्क भी बहुत बड़ी है

सरकार नई नौकरियों का दावा कर रही. पर आंकड़ा किसी को नहीं पता.

अगर संसद में ये बिल पास हो गया तो एक ही तमंचे पर डिस्को हो पाएगा

वैसे नए कानून के मुताबिक, तमंचे पर डिस्को करने पर भी 2 साल की सज़ा हो सकती है.

तेलंगाना पुलिस ने खुद बताई एनकाउंटर के पीछे की पूरी कहानी

'आरोपियों ने पुलिस से हथियार छीनकर फायरिंग की'.