Submit your post

Follow Us

ICC ने सचिन को कहा ये नो बॉल है, सचिन ने जो जवाब दिया वो उनकी कवर ड्राइव से भी अच्छा है

426
शेयर्स

सचिन तेंडुलकर ने चार दिन पहले एक ट्वीट किया. सचिन एक क्रिकेट अकेडमी में पहुंचे थे. वहां नेट्स में बॉलिंग करते दिख रहे थे. ट्वीट में सचिन ने लिखा कि विनोद कांबली के साथ वापस नेट्स में आकर अच्छा लगा. इससे शिवाजी पार्क में बिताए हमारे बचपन के दिन याद आ गए. बहुत कम लोग जानते हैं कि मैं और विनोद बचपन से एक ही टीम के लिए खेले हैं. कभी एक दूसरे की विरोधी टीमों में नहीं.

अब इस पर आईसीसी के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से एक मजेदार ट्वीट किया गया. इस वीडियो में सचिन बॉलिंग करते दिख रहे थे और एक गेंद में पैर लाइन से काफी बाहर था. या यूं कहिए कि दोनों पैर ही बाहर थे. आईसीसी ने सचिन की ये तस्वीर और साथ में अंपायर स्टीव बकनर की नो बॉल वाली तस्वीर लगाकर ट्वीट किया कि अपना फ्रंट फुट देखिए. ये एक फनी ट्वीट था. मगर फिर सचिन ने भी उसी अंदाज में जवाब दिया. कहा,” कम से कम इस समय में बॉलिंग कर रहा हूं. बैटिंग नहीं. अंपायर का निर्णय आखिरी होता है इसलिए ये आउट है.”

यहां सचिन ने अपने उस दर्द को भी जाहिर कर दिया जो बैटिंग करते हुए उनको दिया गया. पूरे करियर में अनेकों बार ऐसा हुआ कि अंपायरों ने सचिन को गलत आउट दिया. कई ऐसे मौके भी आए जब इंडिया की जीत सचिन पर टिकी थी और उन्हें अंपायरों ने गलत आउट कर दिया. तब तो रिव्यू लेने के भी मौके नहीं मिलते थे. मजे की बात तो ये कि जिस अंपायर की तस्वीर यहां आईसीसी ने नो-बॉल का इशारा करते यूज की है वो स्टीव बकनर की है जिनका जन्म ही सचिन को गलत आउट देना था. एक, दो या तीन बार नहीं. अनेकों बार इस अंपायर ने सचिन को गलत आउट दिया था. इसी पर लिखा दी लल्लनटॉप का ये लेख जरूर पढें.


लल्लनटॉप वीडियो भी देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
ICC trolls Sachin Tendulkar for no ball and Sachin trolls ICC too

टॉप खबर

राजीव गांधी के हत्यारे ने संजय दत्त की मुश्किलें बढ़ा दी हैं

जेल में बंद पेरारिवलन ने संजय दत्त से जुड़ी बहुत सी जानकारी इकट्ठी की है.

कठुआ केस के छह दोषियों को क्या सज़ा मिली?

अदालत ने सात में से छह आरोपियों को दोषी माना था. मास्टरमाइंड सांजी राम का बेटा विशाल बरी हो गया.

कठुआ केस में फैसला आ गया है, एक बरी, छह दोषी करार

दोषियों में तीन पुलिसवाले भी शामिल हैं.

पांच साल की बच्ची से रेप किया और फिर ईंटों से कूंचकर मार डाला

उज्जैन में अलीगढ़ जैसा कांड, पड़ोसी ही निकला हत्यारा...

अफगानिस्तान किन गलतियों से श्रीलंका से जीता-जिताया मैच हार गया?

मलिंगा का तो जोड़ नहीं.

क्या चुनावी नतीजे आने के 10 दिनों के अंदर यूपी में 28 यादवों की हत्या हुई है?

28 नामों की एक लिस्ट वायरल हो रही है. लेकिन सच क्या है?

मायावती ने ऐसा क्या कह दिया कि फिलहाल गठबंधन को टूटा मान लेना चाहिए

प्रेस कांफ्रेंस में मायावती ने गठबंधन तोड़ने का सीधा ऐलान तो नहीं किया, लेकिन बहुत कुछ कह गयीं.

चुनाव नतीजे आए दस दिन हुए नहीं, मायावती ने गठबंधन पर सवाल उठा दिए

वो भी तब जब मायावती के पास जीरो से बढ़कर दस सांसद हो गए हैं

अरविंद केजरीवाल ने चुनाव में बंपर वोट खींचने वाला ऐलान कर दिया है

वो ऐसी स्कीम लेकर आए हैं कि दिल्ली-NCR की महिलाएं खुश हो गईं.

आखिर क्या सोचकर मोदी ने UP के इन नेताओं को कैबिनेट में जगह दी है?

इनमें कुछ से पिछली सरकार के दौरान बीच में ही मंत्रालय छीन लिया गया था.