Submit your post

Follow Us

गैंगस्टर जिसने प्रेमिका को नंगा कर पीटा, रेप किया, नाखून उखाड़े, वीडियो बनाया

मार्च की सुबह. ठंडी हवा और धूप की हरारत एक दूसरे को धप्पा कर रहे थे. सुनीता* सोकर उठी थी और सोच रही थी कि इस अलसाए शनिवार को कैसे खपाना है कि फोन बज उठा. फोन था अनिल का.

‘सुनीता, रेडी हो जाओ. तुझे ऋतिक लेने आ रहा है. हम शाम को शिरडी जा रहे हैं.’

सुनीता आनन-फानन में तैयार हुई. कुछ समय बाद ऋतिक आ गया. वहां से दोनों स्कूटी पर सुनीता की बहन के घर पहुंचे. मगर मुलाक़ात बहन नहीं, बहनोई से होनी थी. बहनोई समेत सुनीता और ऋतिक अर्टिका गाड़ी में बैठे. और चल पड़े अनिल के पास.

couple on bike
अनिल को शक था कि उसकी प्रेमिका का उसके ड्राइवर के साथ अफेयर है. सांकेतिक तस्वीर/रॉयटर्स

अनिल यानी, अनिल काठी. जिसे ग्यारह मुल्क तो नहीं, मगर पूरे गुजरात की पुलिस ढूंढ रही थी. अनिल एक हिस्ट्रीशीटर है. यानी उसका क्रिमिनल रिकॉर्ड लंबा-चौड़ा है. जाने सुनीता क्या सोचकर उस वहशी के प्यार में पड़ी थी. अनिल शादीशुदा भी था.

गाड़ी जब सूरत जिले के कडोदरा इलाके में पहुंची, तो अनिल उनके साथ हो लिया. अनिल ने सुनीता को गाड़ी में आगे बुलाकर बैठा लिया. यहां तक तो सब ठीक था. मगर गाड़ी में अनिल के कुछ और दोस्त भी आकर बैठ गए. बड़ी सी गाड़ी अब भर चुकी थी. और ज्यादा देर न हुई थी जब अनिल के दोस्तों ने पीछे बैठे ऋतिक (यानी अनिल के पर्सनल ड्राइवर) और उसके बहनोई को पीटना शुरू कर दिया.

driver
ड्राइवर /फोटो: संजय राठौड़

शायद वो लोग सोच रहे होंगे कि गाड़ी रुकेगी तो ये बेरहमी भी रुक जाएगी. गाड़ी रुकी तो सही, मगर ये हिंसा अब नया रूप लेने वाली थी. गाड़ी अनिल के फार्म हाउस पर रोकी गई. वहां सुनीता, ऋतिक और सुनीता के बहनोई को गाड़ी से खींचकर फार्महाउस पर ले जाया गया. जहां पहले से लगभग दर्जन भर पुरुष मौजूद थे.

उन्होंने पहले तो तीनों को पीटना शुरू किया. फिर सुनीता के दाएं पैर के नाखूनों को क्लिपर से पकड़कर यूं खींचा कि वो उखड़ आए. सुनीता दर्द में चीखती रही और अनिल के साथी हंसते रहे. सुनीता जितनी जोर से चीखती, अनिल के साथी उतनी ही ऊंचे ठहाके लगाते. वो सुनीता को भद्दी-भद्दी गालियां देते.

जब अनिल के दोस्त, सुनीता को पीट चुके थे, अनिल ने सुनीता की जींस को खींच लिया और उसका रेप किया. फिर सुनीता की टीशर्ट उतारी और अपने दोस्तों से कहा, ‘अब ये तुम्हारी है. इसके साथ जो करना चाहो, कर लो.’

girl
सुनीता (बाएं से दूसरी) अस्पताल में /फोटो: संजय राठौड़

आप सोच रहे होंगे कि अचानक कोई भी व्यक्ति अपनी प्रेमिका के साथ इतनी हिंसा क्यों करेगा. जवाब है, शक.

अनिल के दिमाग में दो शक थे, जो बीते दिनों पुख्ता होने लगे थे.

1. अनिल की पत्नी किरण का सुनीता के बहनोई के साथ अफेयर था. सुनीता इस काम में बहनोई की मदद कर रही थी.

2. खुद सुनीता का अफेयर उनके ड्राइवर ऋतिक के साथ था. हालांकि ड्राइवर बार-बार कहता रहा कि सुनीता उसकी दीदी जैसी है.

दोनों ही मसलों में वो अपनी प्रेमिका सुनीता को दोषी के तौर पर देख रहा था. इसके अलावा ड्राइवर और बहनोई, दोनों उसे खटक रहे थे. अपनी प्रेमिका और पत्नी, दोनों को खोने के डर से. ये बात और है कि खुद अनिल की विवाह के बाद एक गर्लफ्रेंड थी. मगर उसकी गर्लफ्रेंड या पत्नी ऐसा कुछ करे, तो उसको क़ुबूल नहीं था.

anil kathi 1
अनिल काठी की इकलौती तस्वीर जो इंटरनेट पर मिलती है/ फोटो: संजय राठौड़

सिर्फ सुनीता का रेप काफी नहीं था. अनिल ने सुनीता के बहनोई के साथ भी रेप किया. जिसे कानूनी भाषा में ‘अप्राकृतिक’ का दर्जा दिया जाता है.

इसके बाद अनिल ने अपने दोनों कथित दोषियों से और बदला लिया. उसने बहनोई से जबरन सुनीता का रेप करवाया. इसी समय अनिल ने ड्राइवर को भी पीटा. उसने उसके दाहिने हाथ और दोनों पांव के तीन-तीन नाखून उखाड़ लिए.

ये सबकुछ लगातार 15 घंटे चला. सुनीता, ड्राइवर और बहनोई ने ये सब 15 घंटे लगातार झेला और वहां मौजूद 15 लोगों में से किसी एक को भी ये नहीं लगा कि जो हो रहा है वो गलत है. इतनी हिंसा, इतना दर्द देखकर भी उनमें से किसी का दिल नहीं पिघला. शायद इसे ही प्रोफेशनल होना कहते हैं.

injured foot
अनिल ने अपनी प्रेमिका और ड्राइवर के नाखून उखड़वा लिए थे/ फोटो: संजय राठौड़

अनिल के ऊपर हत्या की कोशिश, उगाही, दंगे भड़काने की कोशिश मिलाकर कुल 9 केस पहले ही चल रहे हैं.

अनिल काफी समय से अपराध की दुनिया में है. मगर इसका बादशाह बनने का सफ़र 2008 में शुरू हुआ, जब अपने साथी मुन्ना भरवाड की मदद से उसने एक लैंड डील केस में मनीष सिंधिया नाम के व्यक्ति को चाकू मार दिया.

फिर 2010 में उसका नाम फिर पुलिस की नाक में दम करने लगा जब उसने सूरत शहर के मशहूर TGB होटल के पीछे की जमीन अवैध तरीके से हथिया ली. उसी साल चौक बाज़ार में लूटपाट के लिए भी उसपर केस दर्ज हुआ. बहुत खोजने के बाद उसे उसी साल पिस्तौल और गोलियों के साथ धर लिया गया. कभी 6 महीने की सजा काटकर तो कभी बेल पर, अनिल हमेशा छूटता रहा.

gangster
इस समय सूरत पुलिस अनिल काठी की तलाश में है/सांकेतिक तस्वीर: यूट्यूब

2012 में अनिल को शराब की तस्करी के लिए 2 बार पकड़ा गया. उसके बाद 2016 तक वो जेल के अंदर-बाहर होता रहा, जब तक उसे फिर से धर नहीं लिया गया. मगर बीते साल अनिल काठी सुनवाई के दौरान कोर्ट से भाग गया.

इस समय सूरत पुलिस अनिल काठी की तलाश में है. सुनीता, ड्राइवर और उसका बहनोई अस्पताल में भर्ती हैं.

अनिल के आदमी सुनीता और उसके साथियों के साथ हिंसा कर उन्हें रेलवे स्टेशन के पास मांस के लोथड़ों की तरह फेंक गए थे. सुनीता ने एक अजनबी से फोन मांगकर अपनी बहन को फोन किया. तब जाकर उन लोगों को वहां से लाया गया. जिसके बाद पुलिस रिपोर्ट लिखवाई गई.

hospital
सूरत के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है/ फोटो: संजय राठौड़

अनिल के पहले इससे ऊपर मारपीट, हत्या की कोशिश के आरोप रहे. मगर जब बात प्रेम, बेवफाई और लड़की की आई, तो अनिल ने पीटने के पहले रेप करने का फैसला लिया. मानों किसी गैर पुरुष से सेक्स का बदला रेप से लिया जा सकता हो.

जेल भेजने का मकसद होता है कि आदमी वो अपराध दोबारा न करे जो उसने किया था. मगर अनिल जैसे जाने कितने लोग हैं जो हर बार जेल से निकलकर पहले से भी जघन्य अपराध करते हैं. और हर अपराध के साथ हमारी न्यायपालिका, हमारा समाज थोड़ा और हार जाता है.

*सुनीता बदला हुआ नाम है.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

PM मोदी ने माफी मांगते हुए तीनों किसान कानूनों को वापस लिया

PM मोदी ने माफी मांगते हुए तीनों किसान कानूनों को वापस लिया

गुरु नानक जयंती के मौके पर PM मोदी का बड़ा ऐलान.

बिहार: जज ने की टिप्पणी, तो पुलिसवालों ने भरी अदालत में पीटा

बिहार: जज ने की टिप्पणी, तो पुलिसवालों ने भरी अदालत में पीटा

पुलिस ने दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है

'मायावती मर्दों जैसी दिखती हैं', वीर दास के पुराने वीडियो पर बवाल

'मायावती मर्दों जैसी दिखती हैं', वीर दास के पुराने वीडियो पर बवाल

ये भी कहा था- मायावती ने मर्दों की फैंटेसी को सबसे बदसूरत रूप में ढाला

अखिलेश यादव के 'चिलमजीवी' वाले बयान पर उखड़े संत समाज ने उन्हें बड़ी धमकी दे दी है

अखिलेश यादव के 'चिलमजीवी' वाले बयान पर उखड़े संत समाज ने उन्हें बड़ी धमकी दे दी है

गाजीपुर में अखिलेश ने कहा क्या था?

यॉर्कशर में पुजारा को 'स्टीव' बुलाने वाले बोलर ने अब क्या कहा?

यॉर्कशर में पुजारा को 'स्टीव' बुलाने वाले बोलर ने अब क्या कहा?

पुराने ट्वीट्स पर भी फंसे जैक ब्रूक्स.

POCSO पर सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, 'टच' के बिना भी यौन उत्पीड़न माना जाएगा

POCSO पर सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, 'टच' के बिना भी यौन उत्पीड़न माना जाएगा

POCSO एक्ट का मकसद बताते हुए सुप्रीम कोर्ट ने हाई कोर्ट के फैसले को बदला.

वीवीएस लक्ष्मण के NCA डायरेक्टर बनने का ये नुकसान आप शायद ही जानते हों!

वीवीएस लक्ष्मण के NCA डायरेक्टर बनने का ये नुकसान आप शायद ही जानते हों!

गांगुली ने बताई अंदर की बातें.

जयपुर और राजस्थान पर भारी ना पड़ जाए टीम इंडिया की ये जीत!

जयपुर और राजस्थान पर भारी ना पड़ जाए टीम इंडिया की ये जीत!

कहीं ये हमारा 'गेम ज़ीरो' तो नहीं?

महबूबा मुफ्ती नजरबंद, हैदरपुरा एनकाउंटर में बेकसूरों को मारने का लगाया था आरोप

महबूबा मुफ्ती नजरबंद, हैदरपुरा एनकाउंटर में बेकसूरों को मारने का लगाया था आरोप

श्रीनगर के हैदरपुरा एनकाउंटर में 2 आम नागरिकों की भी मौत हुई थी

रोहित को कप्तानी मिलते ही बदल गया भारत-न्यूज़ीलैंड T20I का इतिहास!

रोहित को कप्तानी मिलते ही बदल गया भारत-न्यूज़ीलैंड T20I का इतिहास!

कप्तानी में भी 'हिट' हैं हिटमैन शर्मा.