Submit your post

Follow Us

छेड़छाड़ कर स्लॉट गायब करने की बात पर सरकार ने कहा-कोविन प्लेटफॉर्म हैक नहीं हो सकता

कोरोना वैक्सीन रजिस्ट्रेशन के लिए केंद्र सरकार ने कोविन प्लेटफॉर्म लॉन्च किया था. इस प्लेटफॉर्म को लेकर तमाम तरह की बातें की जा रही हैं. सोशल मीडिया पर लोग ऐसी बातें कर रहे हैं कि इस ऐप के साथ छेड़छाड़ की जा रही है और स्लॉट गायब किए जा रहे हैं. आरोप है कि इसी वजह से आम लोगों को वैक्सीन के स्लॉट नहीं मिल रहे हैं, जबकि कुछ लोगों को आसानी से स्लॉट उपलब्ध हो रहे हैं. इन तमाम बातों का केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने खंडन किया है. कहा है कि कोविन को हैक नहीं किया जा सकता है.

‘कोविन ऐप पूरी तरह सुरक्षित है’

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि ना तो कोविन प्लेटफॉर्म को हैक किया जा सकता है और ना ही इसके फीचर्स को बाइपास किया जा सकता है. कोविन पर लॉगइन करते ही मोबाइल पर एक OTP आता है और उसे डालने के बाद ही आगे बढ़ पाते हैं. मंत्रालय का दावा है कि OTP और कैप्चा को बाइपास करना संभव नहीं है. ये प्लेटफॉर्म पूरी तरह सुरक्षित है और ये केवल एक भ्रम है कि इस प्लेटफॉर्म के कारण लोगों को वैक्सीन नहीं मिल पा रही है.

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि इस प्लेटफॉर्म के जरिए कोरोना संक्रमण को रोकने में मदद मिल पा रही है, क्योंकि एक जगह पर भीड़ होने के चलते संक्रमण फैलने का खतरा होता है. इस ऐप के जरिए पता चल जाता है कि स्लॉट खाली है या नहीं. यदि स्लॉट बुक हैं तो लोग वैक्सीनेशन सेंटर पर जमा नहीं होंगे और भीड़ का मैनेजमेंट करना आसान रहेगा. केंद्रीय मंत्रालय ने कहा कि देश में अभी तक जितने लोगों को वैक्सीन लगाई गई हैं उनमें से 50 फीसदी लोगों ने वॉक-इन रजिस्ट्रेशन किया है.

शनिवार, 29 मई को जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में 130 दिनों में कोविड-19 टीके की 21 करोड़ से ज्यादा (21,18,39,768) खुराक दी जा चुकी हैं. भारत ना केवल फाइजर और मॉडर्ना जैसी कंपनियों के साथ संपर्क में है, बल्कि अन्य विदेशी टीका निर्माताओं को भी आकर्षित करने की कोशिश कर रहा है. इसके साथ ही देश में वैक्सीन का उत्पादन बढ़ाने की कोशिशें भी का जा रही हैं ताकि जल्द से जल्द सभी लोगों को वैक्सीन दी जा सके.

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी 1.82 करोड़ से अधिक वैक्सीन उपलब्ध हैं और 4 लाख से अधिक वैक्सीन भेजी जा रही हैं जो अगले 3 दिनों में पहुंच जाएंगी.

मंत्रालय ने एक ग्राफ पेश करते हुए बताया कि 10 मई 2021 के बाद से देश में कोरोना के मामलों में गिरावट दर्ज की जा रही है. अब देश में 22 लाख 28 हजार 724 एक्टिव केस हैं. पिछले 24 घंटे में 1,73,790 नये मामले सामने आए हैं. अब तक देश में 34.11 करोड़ लोगों का केविड टेस्ट किया जा चुका है.


वीडियो- अर्थात: क्या लोगों को कोरोना वैक्सीन देने के दौरान हुई ये ग़लती मोदी सरकार कभी नहीं मानेगी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

PPE Kit पहन कोरोना से मरे व्यक्ति की डेड बॉडी पुल से नदी में फेंक दी, वीडियो वायरल

बलरामपुर का मामला, CMO ने कहा कार्रवाई होगी.

लग्ज़री होटल में वैक्सीन लगवाने का पैकेज ले रहे हैं तो पहले ये सरकारी आदेश पढ़ लीजिए

किन जगहों पर बन सकते हैं वैक्सीनेशन सेंटर?

2015 में धोनी की किस सलाह ने बदल दिया रविंद्र जडेजा का करियर?

2019 सेमीफाइनल के बारे में भी बात की.

डोमिनिका की जेल से सामने आई मेहुल चोकसी की तस्वीर, लेकिन ये निशान कैसे हैं?

मेहुल चोकसी का प्रत्यर्पण एंटीगुआ में सियासी मुद्दा बन गया है.

कांग्रेस ने BJP नेता तेजस्वी सूर्या और उनके चाचा की गिरफ्तारी की मांग क्यों की है?

मामला वैक्सीन से जुड़ा है.

कोविड काल में 21 बरस के इस सरपंच ने अपने गांव को बीमारी से एक कदम आगे ला खड़ा किया!

एक ही घर से 2 मौत के बाद सहमे गांव को कैसे संभाला?

IPL 2021: बचे हुए 31 मैच UAE में ही होंगे, BCCI ने किया कंफर्म

कोरोना की वजह से बीच में ही रोकना पड़ा था IPL.

सागर धनखड़ हत्या: जिस दोस्त ने मारपीट का वीडियो बनाया, उसने सुशील कुमार की मुश्किल बढ़ा दी है!

इस केस में एक के बाद एक गिरफ्तारियां हो रही हैं.

जिस CAA को लेकर बवाल हुआ, उसके बिना ही गैर मुस्लिम शरणार्थियों को मिलेगी नागरिकता

गृह मंत्रालय ने जारी की अधिसूचना.

ममता के करीबी बंगाल के मुख्य सचिव को केंद्र ने वापस दिल्ली क्यों बुला लिया?

मोदी के साथ मीटिंग में 30 मिनट की देरी से पहुंची थीं दीदी.