Submit your post

Follow Us

CAA पर बवाल के बीच एक पाकिस्तानी महिला को भारत की नागरिकता मिल गई है

देश में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) पर बवाल मचा हुआ है. इस बीच पाकिस्तान की एक महिला हसीना बेन को भारत की नागरिकता दी गई है. हसीना बेन का जन्म गुजरात में हुआ था. 1999 में शादी के बाद उन्होंने पाकिस्तान की नागरिकता ले ली थी. लेकिन पति की मौत के बाद हसीना बेन ने भारत की नागरिकता के लिए अप्लाई किया. दो साल पहले. उन्हें 18 दिसंबर को भारत की नागरिकता दी गई.

द्वारका कलेक्टर डॉ. नरेंद्र कुमार मीणा ने हसीना बेन के नागरिकता का सर्टिफिकेट दिया. मीणा ने कहा, ‘वो (हसीना बेन) गुजरात के भानवाड़ तालुका में पैदा हुई थीं और यहीं पली-बढ़ीं. 1999 में एक पाकिस्तानी नागरिक से शादी के बाद वो पाकिस्तान चली गईं और वहां नागरिकता ले ली.’

मीणा ने बताया, ‘अब उनके पति की मौत हो चुकी है. पति की मौत के बाद वो भारत लौटीं और भारत की नागरिकता के लिए आवेदन किया. भारत सरकार और गुजरात सरकार ने हसीना को नागरिकता प्रदान की.’

नागरिकता कानून का हो रहा विरोध

केंद्र सरकार का नागरिकता संशोधन कानून लगातार विवादों में बना हुआ है. इस कानून के मुताबिक, पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के धार्मिक अल्पसंख्यकों को भारत की नागरिकता मिलने का रास्ता खुलता है. बिल पेश करते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि नागरिकता कानून पड़ोसी देशों में धार्मिक प्रताड़ना झेलकर यहां आने वाले और नागरिकता प्राप्त नहीं कर पाने वाले अल्पसंख्यकों के लिए उम्मीद है.

हालांकि, इस कानून को खासे विरोध का सामना करना पड़ रहा है. कहा जा रहा है कि ये कानून धर्म के आधार पर भेदभाव करता है. जामिया मिल्लिया इस्लामिया में 15 दिसंबर को पुलिस क्रैकडाउन के बाद देश भर की यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के स्टूडेंट्स ने प्रदर्शन शुरू किया. इसके बाद अलग-अलग शहरों में लगातार इस कानून के खिलाफ लोग सड़कों पर उतर रहे हैं. 19 दिसंबर को मुंबई, बेंगलुरु और दिल्ली में बड़े प्रोटेस्ट हुए. 20 दिसंबर को दिल्ली की जामिया मस्जिद में जुम्मे की नमाज़ के बाद लोगों ने प्रदर्शन किया. यूपी में प्रोटेस्ट के दौरान पांच लोगों की मौत की ख़बर है.


CAA के खिलाफ दिल्ली के सीलमपुर में बवाल को दिल्ली पुलिस ने कैसे संभाला

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

फुलटॉस गेंद पर आउट होकर लौटने पर क्या बोले ऋषभ पंत?

फुलटॉस गेंद पर आउट होकर लौटने पर क्या बोले ऋषभ पंत?

4 ओवर में 52 रन...फिर भी इस बॉलर की तारिफ!

राशिद खान का वो स्पेल मुंबई इंडियंस को आज भी डराता है!

राशिद खान का वो स्पेल मुंबई इंडियंस को आज भी डराता है!

गुजरात का रथ रोक पाएगी मुंबई?

सूरत मर्डर केस: जज ने मनुस्मृति का श्लोक पढ़ा, बोले- मौत की सजा सुना पाना आसान नहीं

सूरत मर्डर केस: जज ने मनुस्मृति का श्लोक पढ़ा, बोले- मौत की सजा सुना पाना आसान नहीं

और फिर श्लोक का मतलब बताते हुए ग्रीष्मा वेकरिया के हत्यारे को फांसी पर चढ़ाने का हुक्म दे दिया!

कुणाल कामरा ने PM मोदी के लिए गाना गाते बच्चे का एडिटेड वीडियो शेयर किया, पिता ने लगाई क्लास

कुणाल कामरा ने PM मोदी के लिए गाना गाते बच्चे का एडिटेड वीडियो शेयर किया, पिता ने लगाई क्लास

"मिस्टर कामरा या कचरा, मेरा बेटा तुमसे ज्यादा अपने देश से प्यार करता है"

बंगाल में अमित शाह बोले- कोरोना खत्म होते ही CAA लागू करेंगे, ममता ने कहा, फालतू मत बोलिए

बंगाल में अमित शाह बोले- कोरोना खत्म होते ही CAA लागू करेंगे, ममता ने कहा, फालतू मत बोलिए

शाह ने की कटमनी की बात, तो ममता बोलीं- ये लोग पॉकेटमारी में शामिल

मध्य प्रदेश: कांग्रेस ने कहा- हनुमान मूर्ति तोड़ने वाला BJP नेता का भतीजा, पुलिस ने सच्चाई बता दी!

मध्य प्रदेश: कांग्रेस ने कहा- हनुमान मूर्ति तोड़ने वाला BJP नेता का भतीजा, पुलिस ने सच्चाई बता दी!

बुरहानपुर पुलिस ने मूर्ति तोड़ने वाले की असलियत बताई!

ऋषभ पंत की लापरवाही को लेकर वीरेंद्र सहवाग ने ये क्या कह दिया!

ऋषभ पंत की लापरवाही को लेकर वीरेंद्र सहवाग ने ये क्या कह दिया!

इस IPL में पंत के बल्ले से एक भी अर्धशतक नहीं आया

PM मोदी की राह पर केजरीवाल, अक्टूबर से दिल्ली के सिर्फ इन लोगों को ही मिलेगी बिजली सब्सिडी

PM मोदी की राह पर केजरीवाल, अक्टूबर से दिल्ली के सिर्फ इन लोगों को ही मिलेगी बिजली सब्सिडी

5 महीने बाद दिल्ली में सस्ती बिजली के लिए क्या करना होगा, जान लीजिए

मस्जिद के सामने पढ़ेंगे हनुमान चालीसा, ऐसा दुंद काटने वालों से लालू यादव ने कायदे की बात कह दी!

मस्जिद के सामने पढ़ेंगे हनुमान चालीसा, ऐसा दुंद काटने वालों से लालू यादव ने कायदे की बात कह दी!

'लोगों को इरिटेट किया जा रहा है'

राजद्रोह कानून: SC ने कहा- अब सुनवाई और आगे नहीं बढ़ा सकते, सरकार ने बताई ये मजबूरी!

राजद्रोह कानून: SC ने कहा- अब सुनवाई और आगे नहीं बढ़ा सकते, सरकार ने बताई ये मजबूरी!

'सोमवार तक हर हाल में जवाब दाखिल कीजिए'