Submit your post

Follow Us

कोरोना पीड़ित महिला ने जुड़वा शिशु को जन्म दिया, बच्चों की रिपोर्ट से डॉक्टर भी चकित हैं

गुजरात में कोरोना पॉजिटिव एक महिला ने जुड़वा बच्चों को जन्म दिया. बच्चों की भी कोरोना जांच की गई. इनमें एक पॉजिटिव निकला, जबकि दूसरा नेगेटिव. बच्चों की रिपोर्ट पर डॉक्टरों ने भी हैरानी जताई. हालांकि कंफर्मेशन के लिए दोनों बच्चों की दोबारा जांच की जाएगी.

पूरा मामला क्या है

‘इंडिया टुडे’ की गोपी मणियार ने बताया कि मेहसाना के वडनगर की रहने वाली एक गर्भवती महिला कोरोना पॉजिटिव थीं. महिला ने 16 मई को जुड़वा बच्चों को जन्म दिया. इनमें एक लड़का और दूसरी लड़की है. डॉक्टरों ने प्रोटोकॉल के तहत दोनों बच्चों की भी कोरोना जांच कराई. 18 मई को रिपोर्ट आई. इसमें बताया गया कि लड़का कोरोना पॉजिटिव है और लड़की नेगेटिव. रिपोर्ट देखकर अस्पताल के डॉक्टर भी हैरान हुए. जांच को लेकर भी संदेह जताया गया है.

कोलकाता में मां और बेटे की मूर्ति को भी मास्क पहनाकर लोगों से मास्क पहनने की अपील की गई है. (Photo:PTI)
कोलकाता में मां और बेटे की मूर्ति को भी मास्क पहनाकर लोगों से मास्क पहनने की अपील की गई है. (Photo:PTI)

डॉक्टर ने क्या कहा

वडनगर मेडिकल कॉलेज के सुपरिटेंडेंट एचडी पालेकर ने बताया कि रिपोर्ट संदिग्ध हो सकती है. बच्चों को ब्रेस्ट फीडिंग भी नहीं कराई गई. दोनों के पैदा होने में कुछ देर का ही अंतर है. ऐसे में दोनों बच्चों की रिपोर्ट अलग-अलग कैसे हो सकती है. अब दोबारा जांच कराई जाएगी. दो दिन बाद दोनों के सैंपल फिर से लिए जाएंगे और कोरोना जांच के लिए भेजे जाएंगे. अभी दोनों बच्चों को मां से अलग रखा गया है.

ओडिशा में भी जुड़वा बच्चों का जन्म

इसी तरह ओडिशा में 13 मई को एक कोरोना पॉजिटिव महिला ने दो बच्चों को जन्म दिया. महिला कुछ दिनों पहले ही गुजरात से ओडिशा लौटी थी. जुड़वा बच्चों में एक लड़का और एक लड़की है. हालांकि जन्म के बाद लड़के की मौत हो गई. वहीं लड़की स्वस्थ है. डॉक्टरों ने बताया कि डिलिवरी समय से दो महीने पहले ही हो गई. हालांकि डिलिवरी नॉर्मल थी. बच्ची का कोरोना टेस्ट एक सप्ताह बाद कराने का फैसला किया गया था.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: PPE किट की शिकायत करने पर सस्पेंड हुए डॉक्टर को पुलिस ने क्यों पीटा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लॉकडाउन 4: दफ़्तरों के लिए क्या गाइडलाइंस हैं?

इस लॉकडाउन में तमाम तरह की छूट दी गई हैं.

प्रियंका गांधी वाड्रा की 1000 बसों में कुछ नंबर ऑटो और कार के कैसे निकल गए?

हालांकि संबित पात्रा ने भी जिस बस को स्कूटर बताया, वहां एक पेच है.

मज़दूरों की लाश की ऐसी बेक़द्री पर झारखंड के सीएम कसके गुस्साए हैं

घायल मज़दूरों के साथ अमानवीय व्यवहार करने का आरोप.

कोरोना की वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर, जल्द ही आखिरी स्टेज का टेस्ट होने की उम्मीद

जुलाई के महीने को लेकर अहम बात भी कह डाली है.

केजरीवाल ने लॉकडाउन 4 में बहुत सारी छूट दे दी हैं

ऑड-ईवन आ गया, लेकिन ट्रांसपोर्ट में नहीं.

लॉकडाउन 4: पर्सनल गाड़ी से शहर या राज्य के बाहर जाने के क्या नियम हैं?

केंद्र सरकार ने इस पर क्या कहा है?

कोरोना संक्रमण के बीच स्विगी ने बहुत बुरी खबर दी है

दो दिन पहले जोमैटो ने भी ऐसा ही ऐलान किया था.

ममता बनर्जी ने लॉकडाउन के नियमों में बहुत बड़ा बदलाव किया है

केंद्र सरकार की नई बात मानने से मना कर दिया!

लॉकडाउन 4.0: सरकार ने जारी की गाइडलाइंस, जानें क्या खुलेगा और क्या बंद रहेगा

31 मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ाया गया है.

घर जाने को लेकर राजकोट में 500 मज़दूरों का सब्र जवाब दे गया, सड़क पर उतरे

हंगामे के बीच पुलिस घायल, किसी तरह शांत हुआ मामला.