Submit your post

Follow Us

दिल्ली हो या बिहार, अब देशभर में एक जैसा होगा गाड़ियों का पॉल्यूशन सर्टिफिकेट

PUC यानी पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल सर्टिफिकेट. प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों का पता लगाने के लिए परिवहन विभाग की ओर से जारी किए जाते हैं. केंद्रीय मोटर वाहन नियम 1989 के तहत. अब केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने PUC सर्टिफिकेट का नया फॉर्मेट जारी किया है. यह देशभर में एक जैसा होगा. इसमें और क्या QR कोड के अलावा और खास होगा, आइए बताते हैं.

# देशभर में अलग-अलग प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र (PUC) नहीं होंगे. एक समान प्रारूप की शुरूआत की जाएगी.

#PUC डेटाबेस को नेशनल रजिस्टर से जोड़ा जाएगा. नेशनल रजिस्टर में दर्ज जानकारियों से पॉल्यूशन सर्टिफिकेट लिंक होगा.

# रिजेक्शन स्लिप (Rejection slip) का सिस्टम पहली बार शुरू होगा. इसमें प्रदूषण लेवल तय मानकों से ज्यादा होने पर गाड़ी मालिक को Rejection slip दी जाएगी. इस स्लिप को लेकर गाड़ी की सर्विसिंग के लिए सर्विस सेंटर जाना होगा. अगर वहां पॉल्यूशन नापने वाली मशीन खराब है तो मालिक दूसरे सेंटर जा सकता है.

#PUC सर्टिफिकेट में गाड़ी मालिक का मोबाइल नंबर अनिवार्य कर दिया गया है. इसी नंबर पर वेरिफिकेशन और फीस के लिए SMS अलर्ट भेजे जाएंगे.

# सर्टिफिकेट पर गाड़ी मालिक का मोबाइल नंबर, नाम, पता, इंजन नंबर, चेसिस नंबर जैसी सूचनाएं गोपनीय रखी जाएंगी. आखिरी चार नंबर ही दिखाई देंगे. पूरा नंबर नहीं दिखेगा.

# PUC सर्टिफिकेट पर QR code भी छपा होगा. इसमें PUC केंद्र के बारे में पूरी जानकारी मिल सकेगी.

# वाहन से तय लिमिट से ज्यादा प्रदूषण होने या PUC न होने पर प्रवर्तन अधिकारी कार्रवाई कर सकेगा. ऐसा होने पर अधिकारी लिखित रूप में या इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से चालक या वाहन मालिक को वाहन जमा करने का निर्देश दे सकेगा. अधिकृत प्रदूषण नियंत्रण (PUC)  सेंटर में से किसी पर प्रदूषण की जांच के लिए कह सकेगा.

#यदि ड्राइवर या गाड़ी मालिक जांच के लिए वाहन नहीं लाता तो पेनल्टी लगेगी. रजिस्ट्रेशन प्राधिकारी लिखित रूप में कारण दर्ज करने के बाद रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र (RC) और परमिट को भी निलंबित कर सकेगा. यह निलंबन तब तक रहेगा, जब तक कि PUC नहीं बन जाता.

परमिट की वैधता 30 सितंबर तक बढ़ी

PUC सर्टिफिकेट का नया फॉर्मेट जारी करने के अलावा केंद्र सरकार ने वाहनों से जुड़े जरूरी दस्तावेजों की वैधता बढ़ा दी है. इन दस्तावेजों में ड्राइविंग लाइसेंस, RC यानी गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र, फिटनेस प्रमाण पत्र और अन्य सभी प्रकार के परमिट शामिल हैं. इनकी वैधता फरवरी 2020 के बाद खत्म हो गई थी. अब इसे 30 सितंबर 2021 तक बढ़ा दिया गया है.

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने गुरुवार, 17 जून को इस बारे में एक एडवाइजरी जारी की है. इसमें परिवहन विभागों को निर्देश दिया गया है कि पिछले साल फरवरी से जिन वाहन चालकों के दस्तावेजों की वैधता खत्म हो गई है, उनके खिलाफ आगामी तारीख तक मुकदमा न चलाया जाए.

मंत्रालय ने एडवाइजरी में कहा है कि कोरोना लॉकडाउन की गंभीर स्थिति को ध्यान में रखते हुए यह सलाह दी जाती है कि ऐसे सभी दस्तावेज, जिनकी वैधता 1 फरवरी 2020 को खत्म हो चुकी है, और लॉकडाउन के कारण आगे बढ़ाई नहीं जा सकी है, उन्हें 30 सितंबर 2021 तक वैध माना जा सकता है. प्रवर्तन अधिकारियों को सलाह दी जाती है कि वे ऐसे दस्तावेजों को 30 सितंबर, 2021 तक वैध मानें. एडवाइजरी में कहा गया है कि सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश इस सलाह को लागू करें ताकि लोगों को परेशानी ना हो.


अगर प्रदूषण से आपका नुकसान हुआ है तो यहां मुआवजे के लिए आवेदन दे सकते हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

चिराग पासवान के चचेरे भाई सांसद प्रिंस राज पर लगे रेप के आरोप का पूरा मामला है क्या?

चिराग पासवान के चचेरे भाई सांसद प्रिंस राज पर लगे रेप के आरोप का पूरा मामला है क्या?

आरोप लगाने वाली महिला के खिलाफ प्रिंस ने भी फरवरी में दर्ज कराई थी FIR.

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

बहादुरगढ़ की घटना, पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है.

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

31 जुलाई से पहले फाइनल रिजल्ट जारी करने की जानकारी भी दी है.

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

नए नियम के बाद विवादों में कमी आएगी?

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

अख़बार का दावा, सरकारी जांच में हुआ ख़ुलासा

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

जानिए क्या है पूरा मामला?

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सेना के इतिहास से जुड़ी जानकारियां सार्वजनिक करने की पॉलिसी को मंजूरी

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब के अलावा बाकी चुनाव भी साथ लड़ने की घोषणा.

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

मुकुल रॉय को बराबर में बिठाकर ममता बनर्जी किन गद्दारों पर भड़कीं?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

पहले TV डिबेट में बोला, फिर फेसबुक पर पोस्ट लिखा.