Submit your post

Follow Us

अखिलेश यादव ने डॉक्टर से कहा- तुम RSS-BJP के हो सकते हो, इसलिए चुप रहो

5
शेयर्स

यूपी के कन्नौज में 10 जनवरी की रात एक बस में आग लग गई थी. बस में उस 46 लोग सवार थे. ट्रक से टक्कर होने के बाद इस हादसे में करीब 20 लोगों की जान चली गई थी. घायलों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. इन्हीं घायलों से मिलने के लिए सपा नेता और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव अस्पताल पहुंचे थे. वहां उन्होंने इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर से वॉर्ड से ही जाने के लिए कह दिया. इसी वाकये का वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो में अखिलेश यादव कह रहे हैं-

तुम सरकारी आदमी हो, हम जानते हैं क्या होती है सरकार. तुम तो बोलो ही नहीं. तुम्हें नहीं बोलना चाहिए. तुम सरकार का पक्ष नहीं ले सकते. तुम बहुत छोटे कर्मचारी हो. तुम RSS के हो सकते हो, BJP के हो सकते हो, लेकिन तुम मुझे ये नहीं समझा सकते कि ये क्या कह रहे हैं. दूर हो जाओ, भाग जाओ, भाग जाओ बाहर.

दरअसल, अखिलेश यादव अस्पताल में घायलों के परिजनों से बात कर रहे थे. वहां लोग घायलों और मरे हुए लोगों की संख्या के बारे में बता रहे थे. किसी ने बोल दिया कि 80 लोग थे बस में और 50 तो कम-से-कम मरे होंगे. साथ ही कहा कि उन्हें मुआवजा भी नहीं मिला है. इसी पर इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर आकर लोगों को समझाने लगे. इसी बात पर अखिलेश यादव भड़क गए. साथ ही मरीजों ने बोला कि उन्हें कोई मुआवजा नहीं मिला है.

उधर, न्यूज़ एजेंसी ANI ने इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर डीसी मिश्रा से बात की. उन्होंने बताया कि वो तो सिर्फ मरीजों को मुआवजा न मिलने की बात को सुधार रहे थे. उनके मुताबिक, वो वहां खड़े थे और जब मरीजों ने कहा कि उन्हें मुआवजा नहीं मिला है, तो वो बस ये कह रहे थे कि चेक मिल गया है. इसी पर अखिलेश यादव ने उन्हें वहां से जाने के लिए बोल दिया.


वीडियो देखें : केजरीवाल की बात समझने के लिए अमित शाह को हॉलीवुड मूवी देखनी पड़ेगी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी पुलिस में मचा हंगामा, तो योगी ने की ये बड़ी कार्रवाई

सेक्स चैट से शुरू हुआ था मामला, "घूसखोरी" और पोस्टिंग पर अटकी बात

JNU : जिस समय आइशी घोष को पीटा जा रहा था, उसी वक़्त उन पर FIR हो रही थी

और नक़ाबपोश गुंडों का न कोई नाम, न कोई सुराग

बवाल हुआ तो JNU प्रशासन ने मंत्रालय से कैम्पस को बंद करने की मांग उठा दी

मंत्रालय ने भी ये जवाब दिया.

5 जनवरी की रात तीन बजे तक JNU कैम्पस में क्या-क्या हुआ?

जेएनयू कैम्पस में 5 जनवरी को नकाबपोशों ने स्टूडेंट्स और टीचर्स पर हमला किया.

2015 और इस बार के दिल्ली विधानसभा चुनाव में क्या अंतर है?

चुनाव के नतीजे 11 फरवरी को आएंगे.

JNU छात्रों पर हमले के बाद VC एम जगदीश कुमार क्या बोले?

नकाबपोश गुंडों ने कैंपस में मारपीट की थी.

जानिए, 5 जनवरी की दोपहर और शाम JNU कैंपस में क्या हुआ?

दो-तीन दिनों से कैंपस में तनाव था. अगले सेमेस्टर के रजिस्ट्रेशन पर स्टूडेंट्स में झड़पों की भी ख़बरें आईं थीं.

कोर्ट के आदेश के बाद वो 3 मौके, जब योगी सरकार ने 'दंगाइयों' से जुर्माना नहीं वसूला

और सवाल उठ रहे कि इस बार ही क्यों?

मोदी के जिस ड्रीम प्रोजेक्ट पर सरकार ने करोड़ों खर्च किये वो फ्लॉप हो गया

इसके प्रचार के लिए सरकार ने जगह-जगह बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगवाए थे.

नए साल की पहली खुशखबरी आ गई, रेलवे का किराया बढ़ गया

सेकंड क्लास, स्लीपर, फ़र्स्ट क्लास, एसी सबका किराया बढ़ा है रे फैज़ल...