Submit your post

Follow Us

अब ED ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में फारूक अब्दुल्ला पर गंभीर आरोप लगाए हैं

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं. जम्मू-कश्मीर क्रिकेट संघ से जुड़े कथित घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से कई नए खुलासे किए गए हैं. ईडी का दावा है कि फारूक 45 करोड़ रुपये से अधिक की मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में शामिल थे.

ईडी ने अपनी जांच के बाद कहा है कि जब फारूक अब्दुल्ला जम्मू-कश्मीर क्रिकेट संघ के अध्यक्ष थे, तब उन्होंने कई नियुक्तियां गलत तरह से की थीं. इसी के जरिए उन्होंने जम्मू-कश्मीर क्रिकेट संघ (JKCA) को मिले फंड का गलत इस्तेमाल किया. ईडी ने आरोप लगाया कि फारूक ने निजी लाभ के लिए अपने पद का दुरुपयोग किया. ईडी के मुताबिक,

“साल 2005-6 से लेकर दिसंबर 2011 तक JKCA को BCCI से 109.78 करोड़ का फंड मिला. साल 2006 से लेकर जनवरी 2012 तक जब फारूक अब्दुल्ला JKCA के अध्यक्ष थे, 45 करोड़ का गबन किया गया.”

ईडी ने दावा किया कि जांच से उसे पता चला है कि इस पैसे को निकालने के लिए 6 नए बैंक खोते खोले गए थे. इनके जरिए 25 करोड़ से अधिक रुपये निकाले गए और पर्सनल अकाउंट्स में डाले गए.

फारूक पर ईडी की कार्रवाई

ईडी ने हाल ही में बड़ा एक्शन लेते हुए फारूक अब्दुल्ला की संपत्ति सीज़ कर दी थी. फारूक के तीन घर, दो प्लॉट और एक कमर्शियल प्रॉपर्टी अटैच की गई थी. इनकी कीमत 12 करोड़ तक बताई जा रही है. ईडी ने नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला से पूछताछ भी की थी.

नेशनल कॉन्फ्रेंस का आरोप है कि उसकी आवाज को दबाने के लिए उसके नेता को निशाना बनाया जा रहा है. फारूक के बेटे उमर अब्दुल्ला भी लगातार ट्वीट करके ईडी की कार्रवाई पर सवाल उठा रहे हैं.

इस कथित धांधली की जांच पहले जम्मू-कश्मीर पुलिस कर रही थी. बाद में कोर्ट ने केस सीबीआई को सौंप दिया. सीबीआई ने अपनी जांच में फारूक को शामिल किया था, और चार्जशीट दाखिल की. इस मामले में मनी लॉन्ड्रिंग का एंगल निकलने पर ईडी यानी प्रवर्तन निदेशालय ने भी जांच शुरू की. इस केस में फारूक के अलावा क्रिकेट एसोसिएशन के तत्कालीन महासचिव, कोषाध्यक्ष और J&K बैंक का एक कर्मचारी भी आरोपी है.


वीडियो- JKCA घोटाला मामले में ईडी फारूक अब्दुल्ला से सवाल कर रही है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कभी कृषि कानूनों की पक्षधर रहीं पार्टियों ने अब यूटर्न क्यों ले लिया है?

जानिए पहले क्या था इन राजनीतिक दलों का स्टैंड

क्या बढ़िया फ्रिज न होने के कारण इंडिया में कोरोना वैक्सीन लगने में और लेट हो सकती है?

कोल्ड चेन का पूरा तिया पांचा यहां समझिए.

साल 2015 के बाद गुजरात, केरल, बंगाल, महाराष्ट्र और बिहार के बच्चों में बढ़ा कुपोषण

सर्वे का दावा, बच्चों की लम्बाई और वज़न ख़तरनाक तरीक़े से घट रहे

क्या कोरोना की नई वैक्सीन लगवाने के बाद लोगों को लकवा मार जा रहा है?

वैक्सीन लगवाने पर कुछ लोगों में एलर्जी की समस्या भी सामने आई है.

किसान आंदोलन के समर्थन में वैज्ञानिक ने केंद्रीय मंत्री के हाथ से अवॉर्ड लेने से मना कर दिया

पत्र में कहा, 'ये मेरी अंतरात्मा के खिलाफ़ है'

350 करोड़ का स्कैम उजागर करने वाले RTI एक्टिविस्ट की मौत पर पुलिस और फ़ैमिली अलग कहानी क्यों बता रहे?

पुलिस ने कहा कि दुर्घटना में मौत हुई, परिवार हत्या का आरोप लगा रहा

एनकाउंटर पर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज ने कहा, 'ऐसा ही चलता रहा तो कोई भी शिकार बन सकता है'

हैदराबाद के ICFAI लॉ स्कूल में रूल ऑफ लॉ पर लेक्चर दे रहे थे जस्टिस चेलमेश्वर.

कोरोना का ट्रायल वैक्सीन लेने वाले हरियाणा के मंत्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए

कोरोना की वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के दौरान टीका लगाया गया था.

उइगर मुस्लिम ने बताया, 'चीन में हमें ज़बरदस्ती सूअर का मांस खिलाया जाता था'

नसबंदी न करवाने पर उइगर मुस्लिमों के साथ क्या होता है?

सरकार और किसानों के बीच साढ़े सात घंटे तक चली बैठक में क्या नतीजा निकला, जान लीजिए

कृषि मंत्री ने बताया, सरकार किन-किन बातों पर राजी हो गई है