Submit your post

Follow Us

ED ने रियल एस्टेट टाइकून ललित गोयल को गिरफ्तार किया, एयरपोर्ट से धरे गए थे

टाइकून. बड़े और ताकतवर उद्योगपतियों के लिए ये शब्द इस्तेमाल होता है. ऐसे ही एक कारोबारी हैं IREO Group के चेयरमैन ललित गोयल. रियल एस्टेट टाइकून कहते हैं लोग इन्हें. खबर है कि ललित गोयल को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने गिरफ्तार कर लिया है. ये कार्रवाई मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में की गई है. अरेस्ट करने से पहले ED ने ललित गोयल को 4 दिन हिरासत में भी रखा था.

दिल्ली एयरपोर्ट पर धरे गए थे

इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक मामला चंडीगढ़ में पैसों को लेकर हुए एक फ्रॉड से जुड़ा है. इसी सिलसिले में ED ने पिछले हफ्ते ललित गोयल को दिल्ली एयरपोर्ट से हिरासत में लिया था. गोयल के खिलाफ एक लुकआउट सर्कुलर (LOC) जारी किया गया था. LOC का इस्तेमाल अधिकारियों द्वारा ये जांचने के लिए किया जाता है कि यात्रा करने वाले किसी आदमी को पुलिस या कोई और जांच एजेंसी पकड़ना चाहती है या नहीं. LOC के जरिये अक्सर हवाई अड्डों और बंदरगाहों पर जांच की जाती है.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक ललित गोयल के बारे में जानकारी मिली थी कि वो फ्लाइट पकड़ कर देश से बाहर जाने वाले थे. लेकिन उससे पहले ही ईडी ने उन्हें एयरपोर्ट सिक्योरिटी की मदद से धर लिया. बाद में उनसे चंडीगढ़ वाले फाइनेंशियल फ्रॉड मामले में पूछताछ की गई.

पहले क्या आरोप लगे?

IREO 2010 से ही जांच के घेरे में रही है. कंपनी पर फॉरेन एक्सचेंज मैनेजमेंट ऐक्ट यानी फेमा के नियमों के उल्लंघन का आरोप है. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक कंपनी ने कथित रूप से घर खरीदारों से मिले पैसों, निवेश और शेयरहोल्डिंग्स के जरिये 570 करोड़ रुपये से भी ज्यादा की रकम इकट्ठा कर ली और उन्हें एक ऑफशोर ट्रस्ट को ट्रांसफर कर दिया. होमबायर्स को उनके घर नहीं सौंपे गए. कई अमेरिकी निवेशक कंपनियां भी ललित गोयल पर धोखाधड़ी के आरोप लगा चुकी हैं. हालांकि ललित गोयल और उनके वकील तमाम आरोपों को खारिज करते रहे हैं.

पैंडोरा पेपर्स में भी था ललित गोयल का नाम

हाल ही में चर्चा में रहे पैंडोरा पेपर्स में भी ललित गोयल का नाम सामने आया था. भारत में इंडियन एक्सप्रेस अखबार ने पैंडोरा पेपर्स से जुड़ी रिपोर्टें प्रकाशित की थीं. ऐसी ही एक रिपोर्ट के मुताबिक ललित गोयल ने कथित रूप से एक ट्रस्ट और चार संस्थाओं के जरिए करीब 572 करोड़ रुपये ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड में ट्रांसफर करवाए थे. बता दें कि जिन लोगों के नाम पैंडोरा पेपर्स में सामने आए हैं, भारत सरकार ने उनके खिलाफ जांच करने के आदेश दिए हैं.


  वीडियो: हज़ारों करोड़ रुपए के बैंक फ़्रॉड्स हुए, लेकिन पैसा वापिस पाने की टेक्नीक कोई नहीं बताएगा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5G के रोल आउट को लेकर दिक्कतें चालू.

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

बीमा कंपनी गाड़ी चोरी या दुर्घटनाग्रस्त होने का बहाना बनाए तो ये आदेश दिखा देना.

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

दबी जुबान में क्या कह रही है पुलिस?

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

जानेंगे बैंक FD में क्यों घट रही है लोगों की दिलचस्पी.

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

तौकीर रजा कांग्रेस पर आरोप लगा चुके हैं कि उसने मुसलमानों पर आतंकी का टैग लगाया.

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

जानिए UPA के समय हुई इस डील ने कैसे देश को शर्मसार किया.

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

बीबीसी का आरोप, टीम के साथ नरसिंहानंद के समर्थकों ने गाली-गलौज और धक्का-मुक्की की.

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

मुख्य आरोपी के साथ उसके दोस्तों को पुलिस ने पकड़ लिया है.

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

पार्टी के इस कदम से आहत हरक सिंह रावत मीडिया के सामने भावुक हो गए.

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

Bull Run कांड में सेबी का फैसला, एक ही परिवार के 6 लोगों पर लगा बैन.