Submit your post

Follow Us

थूक लगाकर गेंद चमकाने पर बैन के बाद गेंदबाजों का क्या होगा? शमी, कुलदीप और चहल ने बताया

कोरोना वायरस की वजह से दुनिया भर में खेल रुके पड़े हैं. लेकिन अलग-अलग खेल के नियम बनाने वाली संस्थाएं पोस्ट कोरोना काल के लिए नए नियम तैयार करने में जुटी हैं. क्रिकेट की बात करें तो इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने कुछ दिन पहले ही एक बड़ा बदलाव किया है. अब गेंदबाज या फील्डर थूक लगाकर गेंद चमका नहीं सकेंगे. यानी गेंद पर सलाइवा बैन.

आज तक के E Salaam Cricket कार्यक्रम से 13 जून को जब टीम इंडिया के तीन अहम गेंदबाज मोहम्मद शमी, कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल जुड़े तो सलाइवा बैन पर बात हुई.

शमी ने कहा –

“क्रिकेट में गेंदबाजी और गेंदबाज हमेशा से (बल्लेबाजों के) पीछे रहे हैं. अब सलाइवा बैन से तो और भी डर लगने लगा है. इसके बिना गेंदबाजी काफी मुश्किल होगी. सबसे बड़ी चुनौती रहेगी  हमें खुद को गेंद पर सलाइवा लगाने से रोकना है. हम बचपन से सभी गेंदबाज ऐसा करते आ रहे हैं. अब आदत बदलना बड़ी चुनौती होगी.”

इसके अलावा शमी और सेशन से जुड़े इरफान पठान ने कहा कि अब गेंदबाजों के अनुकूल पिचें बनाने की ज़रूरत और भी बढ़ेगी.

कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल ने भी माना कि इससे गेंदबाजों, ख़ासकर फास्ट गेंदबाजों के लिए मुश्किलें बढ़ेंगी. कुल्चा नाम से मशहूर टीम इंडिया की स्पिन जोड़ी ने कहा कि टीम 2019 वर्ल्ड कप की निराशा से उबरकर अब टी20 वर्ल्ड कप पर ध्यान लगा रही है. बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों मजबूत हैं और उन्हें यकीन है कि टीम इंडिया आईसीसी टूर्नामेंट जीतेगी.

इसके अलावा कुलदीप ने ये भी बताया कि वे लॉकडाउन का इस्तेमाल अपना पेंटिंग का शौक पूरा करने के लिए कर रहे हैं. वहीं चहल चेस खेलकर लॉकडाउन में समय काट रहे हैं. चहल यूं भी चेस के बड़े शौकीन हैं.


जून-जुलाई में प्रस्तावित श्रीलंका टूर को लेकर BCCI ने क्या फैसला किया है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कोरोना टेस्टिंग पर यूपी सरकार को घेरने वाले पूर्व IAS की पूरी कहानी जानिए!

सूर्यप्रताप सिंह, जिन पर FIR दर्ज हुई.

ज्योतिरादित्य सिंधिया की दूसरी कोरोना जांच रिपोर्ट में क्या निकला?

पिछले दिनों सिंधिया और उनकी मां को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था.

WHO ने कोरोना पर राहत देने वाली बात की तो दुनियाभर के वैज्ञानिकों ने कहा, “अरी मोरी मईया!”

पलटकर WHO से ही सबूत मांग रहे हैं लोग.

ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां को हुआ कोरोना इंफेक्शन, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती

बीते कुछ दिनों से दोनों की तबीयत खराब थी.

बिहार: अमित शाह ने वर्चुअल रैली में तेजस्वी को घेरा, कहा-लालटेन राज से एलईडी युग में आ गए

तेजस्वी यादव ने रैली पर 144 करोड़ खर्च करने का आरोप लगाया.

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.