Submit your post

Follow Us

लॉकडाउन में मदद मांग रहे मुस्लिम युवक से ये क्या बोल गए नीतीश की पार्टी के सांसद

लॉकडाउन में लाखों मजदूर दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं. मदद मांग रहे हैं. अपनी परेशानी अपने सांसद, विधायक और नेता को बता रहे हैं. कई लोग मदद के लिए आगे भी आए हैं. इस बीच एक ऑडियो वायरल हो रहा है. ये ऑडियो सुपौल से JDU के सांसद दिलेश्वर कामत का बताया जा रहा है. इस ऑडियो में एक व्यक्ति मदद मांग रहा है, लेकिन सांसद जी कह रहे हैं कि वो मदद नहीं कर पाएंगे. क्योंकि उनको जो करना था कर चुके हैं.

बात बहसबाजी में बदल जाती है. मदद नहीं मिल पाने पर नाराज व्यक्ति कहता है कि आप वोट लेने आइएगा फिर बताएंगे. इसके बाद सांसद कहते हैं कि मैं आपके वोट से MP नहीं बना हूं. सांसद जी कह रहे हैं कि मुस्लिम समुदाय ने उन्हें वोट नहीं दिया.

क्या है ऑडियो में?.

मदद मांगने वाला कहता है- हां सर क्या हुआ? फोन आप लोग काट देते हैं. हम लोग भूखे मरेंगे क्या?

सांसद- कौन बोल रहे हैं आप?

मैं आदिल खान बोल रहा हूं जयपुर से. पैसे सारे खत्म हो गए. क्या करें. आप हमारे सांसद हैं.

बाद में बातचीत बहसबाजी में बदल जाती है. कॉल करने वाला कहता है- आप वोट लेने आइएगा फिर…

सांसद- कौन वोट दिए हैं जी! कौन मुस्लिम लोग वोट दिए हैं. आपके वोट से हम MP बने हैं? आपके वोट से MP नहीं बने हैं? वोट की धमकी मत दीजिएगा. आपका वोट नहीं चाहिए.

ऑडियो क्लिप वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर सांसद की आलोचना होने लगी. बिहार के मुख्य विपक्षी दल RJD ने निशाना साधा. ट्वीट किया.

अवसर देख कर अंतरात्मा जगाने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सादर अपील है कि या तो मधेपुरा सांसद को अपने RCP एंटरप्राइज से बाहर निकालें! JDU कोई दल नहीं, वसूली व्यवस्था है! या स्वयं प्रेस वार्ता बुला आधिकारिक रूप से सांसद महोदय की बात दोहराकर सच्चाई पर मुहर लगा दें!

बाद में सांसद ने सफाई दी. कहा कि मैंने सभी मुस्लिमों के लिए ये बात नहीं बोली थी. वो तीन दिन से मुझे गाली दे रहे थे. गुस्से में मैं ऐसा बोल गया. मैंने सिर्फ उन्हें बोला था. सभी मुस्लिमों को नहीं. मेरे सभी मुस्लिमों से संबंध अच्छे हैं. मुझे अल्पसंख्यकों का वोट मिला है. लॉकडाउन में जितने लोग फंसे हैं उनसे मैं बात करता हूं. उनकी समस्या सुनता हूं. मदद करता हूं. मैं ने जो कहा है उसका मुझे दुख है.


तबलीगी जमात के सदस्यों की तारीफ में IAS अधिकारी ने क्या कहा कि बवाल मच गया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लॉकडाउन: मां चूल्हे पर बर्तन में पत्थर पकाती जिससे बच्चों को लगे कि खाना बन रहा है

भूखे बच्चे इंतजार करते-करते सो जाते.

पालघर: लिंचिंग स्पॉट पर जा रही पुलिस की बस को 200 लोगों ने रोका था, मारे थे पत्थर

लिंचिंग वाली जगह से करीब 13 किमी दूर तीन घंटे तक रोक कर रखा था.

यूजीसी ने बताया, इन तारीखों को और इस तरह होंगे यूनिवर्सिटी के एग्जाम

जिन बच्चों के पेपर अटके हुए हैं, उनका साल बर्बाद न हो, इसकी पूरी व्यवस्था है.

आतंकियों को हथियार पहुंचाने में BJP का पूर्व नेता पकड़ाया, पार्टी ने कहा 'बैकग्राउंड पता नहीं था'

ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा #BJPwithTerrorists.

मज़दूरों को अपने राज्य ले जाने वाली पहली ट्रेन चल पड़ी है

केंद्र ने तो बस की बात की थी, फिर ये कैसे मुमकिन हुआ?

ऋषि कपूर नहीं रहे, अमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर बताया

29 अप्रैल की देर रात अस्पताल में हुए थे भर्ती.

ऋषि कपूर अस्पताल में भर्ती, भाई रणधीर ने बताया- उनकी सेहत ठीक नहीं है

कुछ ही महीनों पहले कैंसर से ठीक होकर न्यू यॉर्क से लौटे हैं.

समंदर के तूफानों का नामकरण हो गया है, जानिए क्या-क्या नाम रखे गए हैं

अगले 25 साल तक का इंतजाम हो गया है.

पंजाब का पांच साल का ये सरदार टिक-टॉक स्टार असल में लड़की है?

इसके हाज़िरजवाबी को लोग पसंद कर रहे हैं.

क्या मोदी सरकार ने पैसा लेकर भागने वालों का लोन माफ़ कर दिया?

इस तरह के वायरल मैसेज की सचाई क्या है?