Submit your post

Follow Us

जो रैपिड टेस्ट किट छत्तीसगढ़ ने सस्ते में मंगाई, उसी किट के लिए अन्य राज्य दोगुनी कीमत क्यों दे रहे हैं?

कोरोना वायरस के मामले सामने आने के बाद भारत पर कम टेस्ट करने के आरोप लग रहे थे. इसके बाद सरकार ने रैपिड टेस्ट कराने का फैसला किया. चीन, दक्षिण कोरिया जैसे देशों से रैपिड टेस्ट किट मंगाई. कई राज्यों ने भी अपने स्तर पर किट मंगाई. अब एंटीबॉडी टेस्ट पहले की तुलना में ज्यादा हो रहे हैं. इसी बीच एक नया विवाद खड़ा हो गया है. रैपिड टेस्ट किट की कीमत पर सवाल उठ रहे हैं. खबरें आ रही हैं कि देश के कई राज्यों ने अलग-अलग कीमतों पर टेस्ट किट मंगाए हैं.

तीन राज्य और तीन तरह की कीमत

उदाहरण के लिए आंध्र प्रदेश सरकार ने बताया कि उसे एक किट 700 रुपये के करीब पड़ी. उसने एक लाख किट मंगाई है. तमिलनाडु सरकार ने एक किट 600 रुपये में खरीदी. उसकी ओर से तीन लाख किट मंगाई गई है. वहीं छत्तीसगढ़ ने रैपिड टेस्ट किट इन राज्यों की तुलना में लगभग आधे दाम में ही खरीदी है.

2रैपिड टेस्ट किट से देश के कई राज्यों में कोरोना की जांच शुरू हो चुकी है. (Photo: PTI)
रैपिड टेस्ट किट से देश के कई राज्यों में कोरोना की जांच शुरू हो चुकी है. (Photo: PTI)

छत्तीसगढ़ सरकार ने बताया कि उसने एक किट के लिए 337 रुपये+ जीएसटी के हिसाब से ऑर्डर दिया है. उसने 75 हजार किट मंगाई है. राज्य के वित्त मंत्री टीएस सिंहदेव ने यह जानकारी दी थी. साथ ही दावा किया था कि देश में रैपिड टेस्ट किट के लिए छत्तीसगढ़ ने सबसे कम कीमत दी.  आंध्र प्रदेश और छत्तीसगढ़ ने दक्षिण कोरिया से किट मंगाई है. वहीं तमिलनाडु ने चीन को ऑर्डर दिया.

इसी बीच आंध्र प्रदेश सरकार महंगी कीमत पर रैपिड टेस्ट किट खरीदने के चलते निशाने पर आ गई. उसकी ओर से कहा गया है कि रैपिड किट्स की कीमतों को लेकर हम छत्तीसगढ़, केरल, कर्नाटक जैसे राज्यों के संपर्क में हैं. इस बारे में आगे भी जानकारी दी जाएगी. अभी इसका फाइनल हिसाब लगाया जा रहा है.


पहले कहा जा रहा था कि आंध्रा ने 1200 रुपये में एक किट खरीदी है. राज्य सरकार ने इस दावे को गलत बताया. उसने ऐसे दावों को छवि बिगाड़ने वाला बताया. उसकी ओर से कहा गया कि भ्रामक सूचनाएं फैलाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

तमिलनाडु सरकार भी महंगी रेट पर घिरी

इसी तरह तमिलनाडु सरकार भी महंगी कीमत पर किट खरीदने के आरोपों का सामना कर रही है. डीएमके नेता स्टालिन ने आरोप लगाया था कि सरकार ने काफी महंगी कीमतों पर रैपिड टेस्ट किट खरीदी हैं. इसके बाद राज्य सरकार ने बताया कि उसने एक किट के लिए 600 रुपये दिए हैं.

तमिलनाडु सरकार का रैपिड टेस्ट किट का ऑर्डर. (Photo: Twitter)
तमिलनाडु सरकार का रैपिड टेस्ट किट का ऑर्डर. (Photo: Twitter)

केंद्र सरकार ने हटाई ड्यूटी और सैस

अब सवाल उठता है कि रैपिड टेस्ट किट की कीमतों में अंतर क्यों हैं. इसका जवाब केंद्र सरकार के 9 अप्रैल के आदेश में छुपा हो सकता है. केंद्र सरकार ने 9 अप्रैल को आदेश जारी कर कई सामानों से इंपोर्ट ड्यूटी और सेस हटा लिया था. इनमें पीपीई, वेंटिलेटर, फेस मास्क, कोरोना टेस्ट किट और सर्जिकल मास्क शामिल थे. पीटीआई के अनुसार, बाहर से आयात किए जाने वाले सभी सामानों पर 5 प्रतिशत सेस लगता है. इसके अलावा टेस्ट किट पर 10 प्रतिशत इंपोर्ट ड्यूटी थी. सरकार ने कहा था कि 30 सितंबर तक इन सामानों को छूट मिलेगी.

तमिलनाडु सरकार की भी यही दलील

तमिलनाडु मेडिकल सर्विसेज कॉर्पोरेशन के एमडी डॉ. पी उमानाथ का भी यही कहना है. उन्होंने 18 अप्रैल को मीडिया से बात की और कहा –

हमने 3 अप्रैल को किट ऑर्डर किए. केंद्र सरकार से अनुमति मिलने के दूसरे ही दिन ऑर्डर दे दिया था. जिस वेंडर को केंद्र ने ऑर्डर दिया. हमने भी उसे ही दिया. उस समय केवल सात कंपनियां ही किट खरीदने के लिए थीं. जो ऑर्डर दिया गया वह केंद्र सरकार की ओर से तय नियमों के तहत थे. साथ ही आईसीएमआर ने जो कीमत तय की. उसी के तहत ऑर्डर हुआ.

उमानाथ ने आगे कहा

16 अप्रैल को रैपिड टेस्ट किट खरीदने के लिए कई और कंपनियों को शामिल किया गया. इसके बाद कीमतों में कंपीटिशन बढ़ गया. अब कीमतों को लेकर कंपनियों से बात की जा रही है. साथ ही अब रैपिड टेस्ट किट पर हेल्थ सेस और इम्पॉर्ट ड्यूटी नहीं लग रही है. इससे कीमत कम हुई है. अगर तमिलनाडु अब ऑर्डर देगा तो वह छत्तीसगढ़ से भी सस्ती किट खरीद सकता है.

राजस्थान, दिल्ली, महाराष्ट्र जैसे राज्यों ने भी रैपिड टेस्ट किट मंगाई है. लेकिन इन्होंने कीमत नहीं बताई है. केंद्र भी राज्यों को रैपिट किट मुहैया करा रहा है. उसकी ओर से भी कीमत का खुलासा नहीं हुआ है.
भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: केरल के मुख्यमंत्री मुफ्त में राशन बांटने के बाद 87 लाख परिवारों को क्वारंटीन किट भी बांट रहे हैं!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बारे में एम्स की रिपोर्ट से एक बड़ा खुलासा हुआ है

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बारे में एम्स की रिपोर्ट से एक बड़ा खुलासा हुआ है

सीबीआई अब मेडिकली ये तय कर सकेगी कि सुशांत ने आत्महत्या की थी या हत्या हुई थी

क्या इस वायरल वीडियो में टेरेंस लुईस ने नोरा फतेही को गलत ढंग से छुआ?

क्या इस वायरल वीडियो में टेरेंस लुईस ने नोरा फतेही को गलत ढंग से छुआ?

नोरा फतेही ने खुद हकीकत बता दी है.

सुपरओवर से बहुत पहले किस ओवर में हार गई थी MI?

सुपरओवर से बहुत पहले किस ओवर में हार गई थी MI?

विराट की कप्तानी में कैसे बंध गए पोलार्ड-किशन.

सुपरफॉर्म में होकर भी इसलिए सुपरओवर खेलने नहीं आए ईशान किशन

सुपरफॉर्म में होकर भी इसलिए सुपरओवर खेलने नहीं आए ईशान किशन

रोहित ने बताया ईशान को ना खिलाने का रीज़न.

हथियारों की कौन-सी लंबी-चौड़ी खेप खरीदने जा रहा है भारत?

हथियारों की कौन-सी लंबी-चौड़ी खेप खरीदने जा रहा है भारत?

रक्षा मंत्रालय ने 28 सितंबर को इसे हरी झंडी दी है.

किसानों को आतंकी कहने वाली कंगना रनौत के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो गया

किसानों को आतंकी कहने वाली कंगना रनौत के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो गया

BMC के साथ पहले ही कोर्ट केस चल रहा है.

पत्नी को पीटने का विडियो वायरल, MP के स्पेशल डीजी सस्पेंड

पत्नी को पीटने का विडियो वायरल, MP के स्पेशल डीजी सस्पेंड

DG ने सफाई में कही ये बात.

'इतनी शक्ति हमें देना दाता' जैसा शानदार गीत लिखने वाले अभिलाष नहीं रहे

'इतनी शक्ति हमें देना दाता' जैसा शानदार गीत लिखने वाले अभिलाष नहीं रहे

74 साल की उम्र में मुंबई में निधन हो गया.

सैमसन ने ऐसा क्या कहा कि फ्लॉप जा रहे तेवतिया ने एक ओवर में 5 छक्के जड़ डाले?

सैमसन ने ऐसा क्या कहा कि फ्लॉप जा रहे तेवतिया ने एक ओवर में 5 छक्के जड़ डाले?

सैमसन की बात सुन तउवा गए तेवतिया.

करण जौहर के पुराने एंप्लॉई को NCB ने ड्रग्स के झूठे आरोप लगाने पर मजबूर किया?

करण जौहर के पुराने एंप्लॉई को NCB ने ड्रग्स के झूठे आरोप लगाने पर मजबूर किया?

एजेंसी ने कहा, ऐसा कुछ नहीं किया था.