Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

राम रहीम अब रेपिस्ट के साथ हत्यारा भी

345
शेयर्स

पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड में सीबीआई की विशेष अदालत ने अपना फैसला सुना दिया है. इस मामले में डेरा सच्चा सौदा चलाने वाले गुरमीत राम रहीम पर मुख्य साजिशकर्ता होने का इल्ज़ाम था. राम रहीम फिलहाल रोहतक की सुनारिया जेल में बंद है. अगस्त 2017 में उसे अपने डेरा में साध्वियों से रेप के मामले में 20 साल की सज़ा हुई थी. अदालत ने राम रहीम को हत्या का दोषी मान लिया है. साज़िश के आरोप में राम रहीम को 2 साल से फांसी तक की सज़ा हो सकती है. सज़ा का ऐलान 17 जनवरी को होगा.

रामचंद्र छत्रपति सिरसा शहर में पूरा सच नाम से शाम का एक अखबार निकालते थे. डेरा में हो रहे भ्रष्टाचार पर उन्होंने खूब रिपोर्टिंग की थी. 30 मई, 2002 को उन्होंने अपने अखबार में उस साध्वी के खत पर रिपोर्ट छापी थी, जिसने राम रहीम पर रेप का इल्ज़ाम लगाते हुए प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को खत लिखा था. इसके बाद वो डेरा के निशाने पर आ गए थे. उन्हें लगातार धमकिया दी गईं. जब उन्होंने खबरें छापनी बंद नहीं कीं, तो  24 अक्टूबर, 2002 को निर्मल और कुलदीप नाम के दो लोगों ने छत्रपति को घर के बाहर 5 गोलियां मार दीं.

छत्रपति इसके बाद 28 दिन ज़िंदा रहे लेकिन राम रहीम के रसूख के चलते उनके मजिस्ट्रेट के सामने बयान नहीं हुए. छत्रपति के परिवार ने हाईकोर्ट से मदद मांगी, तब जाकर सीबीआई ने इस मामले की छानबीन शुरू की. अब फैसला आया है.

रामचंद्र छत्रपति केस की पूरी कहानी आप इस लिंक पर पढ़ सकते हैं-

रामचंद्र छत्रपतिः वो पत्रकार, जिसने राम रहीम के खिलाफ आवाज़ उठाई और मार दिया गया

सांस अटकी हुई थी प्रशासन की

राम रहीम पर जब-जब कार्रवाई होती है, उसके अनुयायी कानून अपने हाथ में ले लेते हैं. जांच और सुनवाई के दौरान कई बार ऐसा हुआ. सबसे बड़ा हंगामा हुआ उस दिन जब सीबीआई की विशेष अदालत ने साध्वी रेप मामले में राम रहीम को दोषी माना और उसे जेल भेज दिया गया. हिंसा, आगज़नी और तोड़फोड़ हुई. गोलियां भी चलीं. उस रोज़ 34 लोगों की जान चली गई थी.

25 अगस्त, 2017 को जब राम रहीम को रेप के मामले में दोषी माना गया, तब उसके अनुयायियों ने बड़े पैमाने पर हिंसा की थी. (फोटोःरॉयटर्स)
25 अगस्त, 2017 को जब राम रहीम को रेप के मामले में दोषी माना गया, तब उसके अनुयायियों ने बड़े पैमाने पर हिंसा की थी. (फोटोःरॉयटर्स)

इसलिए इस बार हरियाणा प्रशासन ने तैयारी की थी. हरियाणा पुलिस ने राम रहीम को जेल से ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए अदालत में पेश किया था. इसके अलावा जेल की सुरक्षा के लिए अलग से 500 पुलिस वाले 2 घेरों में तैनात किए गए थे. ड्रोन से भी निगरानी की गई. मामले के बाकी तीन आरोपियों को अदालत ले जाया गया था.

आगे क्या होगा

राम रहीम को अब इस मामले में सज़ा सुनाई जाएगी. और ये आखिरी मामला नहीं है. अभी राम रहीम पर अपने आश्रम में 400 अनुयायियों को नपुंसक बनाने का केस चल रहा है. इस मामले में 100 से ज़्यादा अनुयायियों ने गवाही भी दी है. आरोप साबित हो जाने पर राम रहीम की सज़ा और बढ़ सकती है.


 

वीडियोः रामचंद्र छत्रपतिः वो पत्रकार, जिसने राम रहीम के खिलाफ आवाज़ उठाई और मार दिया गया

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Dera Saccha Sauda: Gurmeet Ram Rahim sentenced in journalist Ramchandra Chatrapati murder case

क्या चल रहा है?

शराब की लत से परेशान भगवंत मान ने मंच पर अपनी मां को बुलाकर जो कहा, वो मजेदार है

संसद में दारू पीकर पहुंचने के लिए बदनाम हो चुके हैं.

इस भाजपा विधायक ने राजनाथ के बेटे की मौजूदगी में मायावती पर बेहद घटिया बात की है

बीएसपी ने कहा- ये लोग पागल हो गए हैं. पागलखाने भेज दो.

सिक्योरिटी गार्ड ने इस टेनिस स्टार के साथ जो किया, ऐसा भारत में होता तो दंगा पक्का था

नियम और कानूनों से ऊपर कोई नहीं.

मोदी सरकार ने चार साल में देश पर इतना कर्ज बढ़ा दिया है!

जानिए आप कितने कर्ज में हैं.

भुवनेश्वर की अंपायर के पास से फेंकी ये गेंद डेड क्यों दी गई?

क्या एरॉन फिंच इस गेंद से डर गए थे?

मोदी के खिलाफ ममता की रैली में महफिल लूट ले गए अरविंद केजरीवाल

2014 में मोदी का नारा, उन्हीं को चिपका दिया.

जिन्हें शक हो कि धोनी क्रिकेट के चाणक्य नहीं हैं, वो ये वीडियो जरूर ही देखें

ऑस्ट्रेलिया की सारी रणनीति धोनी को पहले ही पता थी.