Submit your post

Follow Us

मुजफ्फरपुर जैसा देवरिया का केस, कार आती थी, 15 साल से बड़ी लड़कियों को कहीं ले जाती थी

बिहार के मुजफ्फरपुर में बालिका गृह में जब 34 बच्चियों के साथ रेप की खबर सामने आई थी, तो इस खबर को सामने लाने वाली संस्था टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज के असिस्टेंट प्रोफेसर मोहम्मद तारिक भी सामने आए थे. उन्होंने दी लल्लनटॉप से बातचीत में एक बात साफ तौर पर कही थी. उन्होंने कहा था कि

”मेरा मानना है कि देश में चल रहे हर संरक्षण गृह की हालत कमोबेश एक सी ही है. कोई भी सरकार ये दावा नहीं कर पा रही है कि उनके राज्य में सबकुछ ठीक चल रहा है और कोई भी संस्था आकर उनका ऑडिट कर सकती है. मुझे बेहद खुशी होगी अगर कोई सरकार इस तरह का दावा करती है.”

मोहम्मद तारिक ये बात 16 आने सच साबित हुई है. बिहार के मुजफ्फरपुर में 34 बच्चियों के साथ हुई रेप की वारदात की सीबीआई जांच अभी खत्म भी नहीं हुई है कि यूपी के देवरिया में भी ऐसा ही मामला सामने आ गया है. देवरिया के मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह में रहने वाली 10 साल की एक बच्ची ने खुलासा किया है कि उस संरक्षण गृह में भी रहने वाली बच्चियों का यौन शोषण किया जाता था, उन्हें जबरन देह व्यापार के धंधे में धकेला जाता था और बच्चियों-महिलाओं को यातनाएं दी जाती थीं.

पुलिस को संरक्षण गृह में छापेमारी के दौरान 18 बच्चियां गायब मिली हैं.

कैसे खुला मामला?

देवरिया के मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह में रहने वाली एक लड़की 5 अगस्त की शाम को संरक्षण गृह से किसी तरह से फरार हो गई. वहां से भागने के बाद वो लड़की सीधे महिला थाने पहुंची. वहां बच्ची ने पुलिस को बताया-

”हर रोज शाम चार बजे के करीब बड़ी-बड़ी गाड़ियों में लोग आते थे. कभी लाल, कभी सफेद और कभी काली गाड़ी आती थी. मैम उन गाड़ियों में दीदी को ले जाती थीं. दीदी लोग अगले दिन सुबह वापस आती थीं. जब वो वापस आती थीं तो रोती हुई दिखती थीं. जब हम लोग पूछते तो कोई भी दीदी कुछ भी नहीं बताती थी. छोटे-छोटे बच्चों से पोछा लगवाया जाता था. जब बच्चे पोछा लगाने और सफाई करने से इन्कार कर देते थे, तो छोटी मैडम और बड़ी मैडम पिटाई करती थीं. इतना ही नहीं हम लोगों को खाना भी नहीं दिया जाता था.”

कौन है ये बच्ची, जिसकी वजह से खुला मामला

जिस 10 साल की बच्ची ने देवरिया के मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह का खुलासा किया है, वो रहने वाली बिहार के बेतिया की रहने वाली है. बच्ची के जन्म के दौरान ही उसकी मां की मौत हो गई. इसके कुछ ही दिनों के बाद बच्ची के पिता ने दूसरी शादी कर ली. जब सौतेली मां घर आ गई, तो उसने बच्ची को घर से निकाल दिया. इसके बाद बच्ची अपने नाना-नानी के घर चली गई. लेकिन उसके नाना-नानी ने भी बच्ची को ही उसकी मां की मौत का जिम्मेदार माना और उसे शेल्टर होम में भेज दिया. उसके बाद से ही बच्ची शेल्टर होम में रह रही थी.

पुलिस ने की छापेमारी, तीन गिरफ्तार

मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह की संचालिका गिरिजा त्रिपाठी, गिरिजा के पति मोहन और अधीक्षिका कंचनलता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह की संचालिका का नाम गिरिजा त्रिपाठी है. स्थानीय पत्रकारों के मुताबिक गिरिजा काफी रसूख वाली है. जब 10 साल की बच्ची ने 5 अगस्त की शाम पुलिस के शिकायत की, तो पूरी फोर्स मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह पर पहुंची. वहां छानबीन के दौरान पता चला कि रजिस्टर में कुल 42 लड़कियों के नाम दर्ज हैं. लेकिन जब पुलिस ने लड़कियों को खोजना शुरू किया, तो वहां पर सिर्फ 24 लड़कियां ही मिलीं. मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह से कुल 18 लड़कियां गायब थीं. इसके बाद पुलिस ने मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह को सील कर दिया. इसके साथ ही मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह की अधीक्षिका कंचनलता, संचालिका गिरिजा त्रिपाठी और गिरिजा के पति मोहन त्रिपाठी को गिरफ्तार कर लिया.

देवरिया के एसपी रोहन पी. कनय के मुताबिक इस मामले में गिरिजा त्रिपाठी की बेटी कंचनलता की गिरफ्तारी के लिए पुलिस अपनी कोशिश कर रही है. गायब हुए 18 बच्चों और लड़कियों की जांच के सीओ सिटी और जिला प्रोबेशन अधिकारी को सौंप दी गई है.

एक हफ्ते पहले भी पहुंची थी पुलिस

इस संरक्षण गृह को 2017 में ही बंद करने का आदेश दे दिया गया था.
इस संरक्षण गृह को 2017 में ही बंद करने का आदेश दे दिया गया था.

मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह की मान्यता पहले से भी संदिग्ध है. इस मामले की जांच 2017 में सीबीआई ने की थी. सीबीआई ने उस वक्त ही इस संस्था को बंद करने का निर्देश दिया था, लेकिन उसे बंद नहीं किया गया. इसके बाद शासन के आदेश पर जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रभात कुमार ने 28 महिलाओं के साथ ही वहां रह रहे सात बच्चों को गोरखपुर शिफ्ट करने के लिए पत्र लिख दिया. हालांकि इसपर अमल नहीं हुआ और मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह पहले की ही तरह चलता रहा. वहीं इस संरक्षण गृह को चलाने वाली संचालिका गिरिजा त्रिपाठी ने हाई कोर्ट में इस मुद्दे पर याचिका दाखिल कर दी. वहां पर इस मामले की अभी सुनवाई नहीं हुई, लेकिन शासन ने अपनी ओर से सख्ती जारी रखी. इसी को लेकर जिला प्रोबेशन अधिकारी ने 28 जुलाई को एक बार फिर मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह को शिफ्ट करवाने के लिए पुलिस भेजी. पुलिस की टीम जब वहां पहुंची, तो मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह की अधीक्षक कंचनलता पुलिस से उलझ गई. पुलिस टीम इतनी परेशान हुई कि जिला प्रोबेशन अधिकारी की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने 31 जुलाई को अधीक्षक कंचनलता और संचालिका गिरिजा त्रिपाठी के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने के आरोप में केस दर्ज कर लिया है.

शेल्टर होम बंद करने का था आदेश

यूपी में महिला एवं बाल कल्याण विभाग की मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने भी कहा है कि देवरिया का शेल्टर होम गैर-कानूनी ढंग से चल रहा था. इसे बंद करके वहां की महिलाओं, लड़कियों और बच्चों को शिफ्ट करने के आदेश दिए गए थे, लेकिन इसका पालन नहीं हुआ. मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह में कितने बच्चे, महिलाएं और लड़कियां रह रहे थे, उसके भी रिकॉर्ड नहीं मिले हैं.

अब पाक्सो कोर्ट में जाएगा मामला पुलिस ने मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह से जिन 18 बच्चियों को छुड़ाया है, उन्हें मेडिकल के लिए भेज दिया गया है. एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने कहा है कि देवरिया मामले की पूरी जांच करवाई जा रही है. अब इन बच्चियों के बयान पॉक्सो कोर्ट में मैजिस्ट्रेट के सामने दर्ज करवाया जाएगा.

मुख्यमंत्री ने मांगी रिपोर्ट, डीपीओ सस्पेंड, हटाए गए डीम

योगी आदित्यनाथ.
योगी आदित्यनाथ ने भी देवरिया मामले में रिपोर्ट तलब कर ली है.

देवरिया के मां विंध्यवासिनी नारी संरक्षण गृह मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रमुख सचिव महिला एवं बाल कल्याण विभाग से रिपोर्ट तलब की है. इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में सीएम योगी ने डीएम सुजीत कुमार को सस्पेंड कर दिया है. जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रभात कुमार को शासन ने निलंबित कर दिया है. वहीं पूर्व प्रभारी जिला प्रोबेशन अधिकारी नीरज कुमार और अनूप सिंह के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं. पूर्व  डीपीओ अभिषेक पांडेय को भी सस्पेंड कर दिया गया है.


ये भी पढ़ें:

मुजफ्फरपुर रेप केस में जिन मंत्री के पति का नाम आया है, वो हर घाट का पानी पिए हैं

मुजफ्फरपुर बालिका गृह : जहां बच्चियों से रेप के लिए इस्तेमाल की जाती थीं 67 किस्म की नशीली दवाएं

मुजफ्फरपुर : कौन हैं वो 10 लोग जिनकी वजह से हुआ था 34 बच्चियों से रेप

कौन है ब्रजेश ठाकुर, जिसके बालिका गृह में 34 बच्चियों से रेप हुआ है?

मुजफ्फरपुर ही नहीं, बिहार की इन 14 जगहों पर भी बच्चे-बच्चियों से हुआ है रेप!

34 बच्चियों से बार-बार रेप और एक बच्ची की हत्या, फिर भी ये मामला दबा हुआ क्यों है?

TISS के ऑडिट ने बताया था, मुजफ्फरपुर की बालिका गृह में बच्चियों का रेप होता था-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

विराट कोहली बल्ला चलाते हैं तो RECORDS झड़ते हैं

विराट कोहली बल्ला चलाते हैं तो RECORDS झड़ते हैं

IPL में है कोई विराट जैसा?

गुजरात को हराकर विराट ने बोली फ़ैन्स का दिल छूने वाली बात!

गुजरात को हराकर विराट ने बोली फ़ैन्स का दिल छूने वाली बात!

'मैं अब भी खेल सकता हूं.'

आउट होने के बाद मैथ्यू वेड ने ड्रेसिंग रूम में की शर्मनाक हरकत!

आउट होने के बाद मैथ्यू वेड ने ड्रेसिंग रूम में की शर्मनाक हरकत!

बहुत बुरी थी वेड की ये हरकत.

160kmph की स्पीड से गेंद फेंकने के लिए ट्रक खींचने पड़ते हैं?

160kmph की स्पीड से गेंद फेंकने के लिए ट्रक खींचने पड़ते हैं?

उमरान मलिक की स्पीड देख अख्तर ने खोले कई राज़.

जब धोनी-रैना-वॉटसन पर अकेले भारी पड़े थे जॉस बटलर!

जब धोनी-रैना-वॉटसन पर अकेले भारी पड़े थे जॉस बटलर!

फिर से बटलर के सामने है CSK.

कोहली की कप्तानी पर अब क्यों सवाल उठा रहे हैं सहवाग?

कोहली की कप्तानी पर अब क्यों सवाल उठा रहे हैं सहवाग?

'टीम नहीं बना पाए कोहली'

जॉर्ज बुश के भेजे से नहीं निकला इराक युद्ध का भूत, भाषण देते हुए रूस से भिड़ा दिया!

जॉर्ज बुश के भेजे से नहीं निकला इराक युद्ध का भूत, भाषण देते हुए रूस से भिड़ा दिया!

बुश की जुबान फिसलने का वीडियो खूब वायरल है.

मुगल काल के फव्वारे बिना बिजली के कैसे चलते थे?

मुगल काल के फव्वारे बिना बिजली के कैसे चलते थे?

ज्ञानवापी मस्जिद में मिली आकृति शिवलिंग है या फव्वारा, जानकारों भी अलग-अलग राय है.

असम में बाढ़ का जायजा लेने पहुंचे BJP MLA बचावकर्मी की पीठ पर लद गए, वीडियो वायरल

असम में बाढ़ का जायजा लेने पहुंचे BJP MLA बचावकर्मी की पीठ पर लद गए, वीडियो वायरल

असम कांग्रेस ने विधायक सिबू मिश्रा पर तंज कसा है.

शिवराज सिंह चौहान के बेटे के लॉ इंस्टिट्यूट के बारे में जानना है तो यहां आइए!

शिवराज सिंह चौहान के बेटे के लॉ इंस्टिट्यूट के बारे में जानना है तो यहां आइए!

सीएम शिवराज के बेटे को डिग्री मिलने की बात पर लोगों ने पूछा था- कहां से पढ़ा?