Submit your post

Follow Us

संबित पात्रा ने जिस वीडियो का आधा हिस्सा 'ये है असल दंगाई' लिखकर शेयर किया, उसके पूरे में क्या था?

पूर्व IAS और सोशल एक्टिविस्ट हर्ष मंदर 4 मार्च को सुप्रीम कोर्ट पहुंचे. भाजपा के अनुराग ठाकुर, कपिल मिश्रा और प्रवेश वर्मा पर FIR की मांग लेकर. उनका आरोप है कि इन नेताओं के भड़काऊ बयानों की वजह से ही दिल्ली में हिंसा भड़की. लेकिन अब हर्षमंदर खुद ही घिरते नज़र आ रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हर्ष मंदर की याचिका पर तब तक सुनवाई नहीं होगी, जब तक न्यायपालिका को लेकर किए गए उनके कमेंट्स का मामला नहीं सुलझता. चीफ जस्टिस एसए बोबडे ने हर्ष के भाषण का ट्रांसक्रिप्ट मांगा है. इस मामले में शुक्रवार को सुनवाई होगी.

हर्ष मंदर पर आरोप है कि उन्होंने सुप्रीम कोर्ट का अपमान किया. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने मंदर का एक वीडियो पोस्ट किया. उन्हें दंगाई बताया. लिखा,

“सुप्रीम कोर्ट मानवता, समानता और धर्मनिरपेक्षता की रक्षा नहीं करती. इसलिए न सुप्रीम कोर्ट में, न संसद में फैसला होगा. फैसला सड़क पर होगा.” सोनिया गांधी के NAC के सदस्य और अर्बन नक्सल हर्ष मंदर का कहना है. ये है असल दंगाई जो लोगों को उकसा रहे हैं सड़क पर उतर के हिंसा करने के लिए.

संबित पात्रा के साथ ही कई बीजेपी नेताओं ने हर्ष पर निशाना साधा है. बीजेपी के आईटी सेल के मुखिया अमित मालवीय का ट्वीट देख लीजिए.

हालांकि, यह वीडियो अधूरा था. पूरे वीडियो में हर्ष मंदर ने और भी कई बातें कही थीं.

हर्ष मंदर ने वीडियो में क्या कहा था?

16 दिसंबर, 2019. जामिया मिल्लिया इस्लामिया के गेट नंबर सात के पास कई लोग नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर विरोध-प्रदर्शन कर रहे थे. यहां पूर्व IAS और सोशल एक्टिविस्ट हर्ष मंदर भी पहुंचे थे. यहां उन्होंने भाषण दिया और कहा-

देखिए, ये लड़ाई संसद में नहीं जीती जाएगी. क्योंकि हमारे जो राजनीतिक दल हैं. जो अपने आप को सेक्युलर कहते हैं, उनमें उस तरह का नैतिक साहस नहीं है. ये लड़ाई सुप्रीम कोर्ट में भी नहीं जीती जाएगी. क्योंकि हमने सुप्रीम कोर्ट को देखा है पिछले कुछ वक्त से राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के मामले में, अयोध्या के मामले में, कश्मीर के मामले में. सुप्रीम कोर्ट ने इंसानियत, समानता और सेकुलरिज्म की रक्षा नहीं की है. वहां हम कोशिश जरूर करेंगे. हमारा सुप्रीम कोर्ट है लेकिन फैसला न संसद में, न सुप्रीम कोर्ट में होगा. इस देश का क्या भविष्य होगा. आप सब लोग नौजवान हैं. आप अपने बच्चों को किस तरह का देश देना चाहते हैं, ये फैसला कहां होगा? एक, सड़कों पर होगा. लेकिन सड़कों से बढ़कर भी एक जगह है, जहां इसका फैसला होगा. कौन सी जगह में इस लड़ाई का फैसला सबसे ज्यादा होगा. वो है अपने दिलों में. मेरे दिल में. आपके दिल में.

हर्ष ने आगे कहा था-

अगर वो नफरत भरना चाहते हैं, हम उसका जवाब अगर नफरत से ही देंगे तो नफरत ही गहरा होगा. अगर देश में कोई अंधेरा कर रहा है और हम लोग कहेंगे कि हम और अंधेरा करेंगे. लड़ने के लिए. तो अंधेरा तो और गहरा ही होगा. अगर अंधेरा है तो उसका सामना सिर्फ चिराग जलाने से होगा. उसी से अंधेरा खत्म होगा. इसलिए उनके नफरत का हमारे पास एक ही जवाब है. वो है मुहब्बत. वो हिंसा करेंगे. हमें हिंसा के लिए भड़काएंगे. हम हिंसा कभी न करें.

अगर आप खुद पूरा सुनना चाहते हैं, तो नीचे सुन लीजिए.


वीडियो- पूर्व IAS हर्ष मंदर ने एक्ट, अयोध्या, कश्मीर पर सुप्रीम कोर्ट पर ये क्या कह दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

एंटी-CAA प्रोटेस्ट को उकसाने के आरोप में कपल गिरफ्तार, पुलिस ने कहा- ISIS से लिंक हो सकता है

दिल्ली के शाहीन बाग में 15 दिसंबर से प्रोटेस्ट चल रहा है.

सबसे ज्यादा रणजी मैच और सबसे ज्यादा रन, इस खिलाड़ी ने 24 साल बाद लिया संन्यास

42 की उम्र तक खेलते रहे, अब बल्ला टांगा.

लखनऊ में CAA विरोधी प्रदर्शन के दौरान 'तोड़फोड़ करने वाले' 57 लोगों के होर्डिंग लगाए

होर्डिंग पर पूर्व IPS एसआर दारापुरी और कांग्रेस कार्यकर्ता सदफ ज़फर जैसे लोगों का नाम.

दिल्ली दंगे के 'हिन्दू पीड़ितों' की मदद के लिए कपिल मिश्रा ने जुटाये 71 लाख, खुद एक पईसा नहीं दिया

अब भी कह रहे हैं, 'आप धर्म को बचाइये, धर्म आपको बचायेगा'

कांग्रेस सांसद का आरोप : अमित शाह का इस्तीफा मांगा, तो संसद में मुझ पर हमला कर दिया गया

कांग्रेस सांसद ने कहा, 'मैं दलित महिला हूं, इसलिए?'

निर्भया केस: चार दोषियों की फांसी से एक दिन पहले कोर्ट ने क्या कहा?

राष्ट्रपति ने पवन गुप्ता की दया याचिका खारिज कर दी है.

कश्मीर : हथियारों के फर्जी लाइसेंस बनवाने वाला IAS अधिकारी कैसे धरा गया?

हर लाइसेंस पर 8-10 लाख रूपए लेता था!

गृहमंत्री अमित शाह की रैली में आई भीड़ ने लगाया देश के गद्दारों को गोली मारो... का नारा!

ये नारा डरावना है, उससे भी डरावना है इसका गृहमंत्री की रैली में लगाया जाना.

दिल्ली के बाद मेघालय में भी हिंसा भड़की, दो की मौत, कई जिलों में इंटरनेट बंद

मामला CAA प्रोटेस्ट से जुड़ा है.

एक्टिंग छोड़ बीजेपी जॉइन की थी, अब कपिल मिश्रा और अनुराग ठाकुर की वजह से पार्टी छोड़ दी

बीजेपी नेता ने अपनी पार्टी के नेताओं पर बड़ा बयान दिया है.