Submit your post

Follow Us

मोबाइल चोरी के शक में पीट-पीटकर मार डाला, पिता ने कहा- बेटा नौकरी खोजने जा रहा था

पश्चिमी दिल्ली का नारायणा इलाका. यहां एक 23 साल के शख्स को मोबाइल फोन चोरी के शक में पेड़ से बांधकर इतना पीटा गया कि उसकी मौत हो गई. रिपोर्ट के मुताबिक, 28 अगस्त को चार आरोपी इस्तिहार, अनीस, मुश्ताक अहमद और शिराज ने राहुल नाम के लड़के को एमसीडी पार्क तक खींचकर ले जाने के बाद पीटा. पुलिस का कहना है कि पेड़ से बांधकर उसे डंडों, पाइप और लोहे की रॉड से पीटा गया. प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि पीड़ित को बेहोश देखकर आरोपी भाग निकले. चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

पुलिस का कहना है कि राहुल बेरोजगार था और 15-20 दिन पहले एक छोटी सी चोरी को लेकर जेल से छूटा था. कहा गया कि वो रात के समय ट्रक ड्राइवरों से छिनैती का काम भी करता था.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, पुलिस ने बताया कि उसे शेष कुमार नाम के प्रत्यक्षदर्शी से घटना की सूचना मिली. उसने पुलिस को बताया,

”मैं सुबह करीब 5:30 बजे जगा और मैंने देखा कि मेरे पड़ोसी एक शख्स को मार रहे हैं. मुझे झटका लगा…उसे पार्क तक घसीटा जा रहा था. उनके हाथों में डंडे थे और एक ने लोहे की रॉड पकड़ रखी थी. मैंने उसे छोड़ने को कहा लेकिन उन्होंने कहा कि ये चोर है और मुझे भी धमकी दी.”

इसके बाद शेष कुमार ने पुलिस को सूचना दी.

डीसीपी (पश्चिम) दीपक पुरोहित ने कहा,

”पुलिस को राहुल एक पेड़ के नीचे मिला. उसकी पहले ही मौत हो चुकी थी. उसके शरीर पर कई चोट थी और कई गहरे निशान थे. शव के पास से एक रस्सी मिली. हमने शेष कुमार के बयान के आधार पर मर्डर केस दर्ज किया है.”

मोबाइल फोन चुराने का आरोप

पूछताछ के दौरान गिरफ्तार हुए आरोपियों ने कहा कि राहुल और उसके आदमियों ने शिराज का मोबाइल फोन उसके ट्रक से चुराया था. उन्होंने कहा कि कई लोगों ने ये देखा तो उनका पीछा किया लेकिन राहुल पकड़ में आया. उन्होंने कहा कि उसे खींचकर पार्क में ले गए और उसकी हालत खराब होने पर छोड़कर भाग गए.

परिवारवालों ने कहा- नौकरी की खोज में जा रहा था

राहुल के परिवार को 28 अगस्त की शाम को सूचना मिली. उसकी मां गुड्डी ने कहा,

उसे पहले चोरी के केस में पकड़ा गया था तो स्थानीय लोग और पुलिस उसे टारगेट करते हैं. पिछले हफ्ते कुछ लोगों के एक समूह ने उसे पीटा, ये सोचकर कि उसने बटुआ चुराया है जबकि वो गलत थे. राहुल का बायां हाथ टूट गया.

शुक्रवार को उसने कहा कि वो नई ज़िंदगी शुरू करना चाहता है और रोजगार की तलाश करेगा. हाल ही में उसकी शादी हुई थी और वो हमारी मदद करना चाहता था. उसके दोस्तों के बुलाने पर वो घर से गया. हमें नहीं पता था, उसे इस तरह मारा जाएगा. अगर उसने चोरी की भी थी, तो भी उसे इस तरह नहीं पीटा जाना चाहिए था.

वहीं, मृतक राहुल के पिता रघुबीर ने भी कहा कि वो 17 अगस्त को जेल से छूटने के बाद बड़े भाई की मदद से गुरुग्राम में नौकरी खोजने जा रहा था. 27 अगस्त को उसने सामान पैक किया था. अगले दिन उसका शव मिला.


छुट्टियों में घर आया था सेना का जवान, लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अनलॉक-4 की गाइडलाइंस जारी, मेट्रो चलेगी, जानिए स्कूल खोलने को लेकर क्या कहा गया है

धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों को लेकर क्या छूट मिली है?

NEET, JEE आगे बढ़ाने की मांग कर रहे छात्र ये पांच कारण बता रहे हैं

तय समय पर परीक्षा कराने के लिए 150 शिक्षाविदों ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी.

कोर्ट ने कहा, ये शर्त पूरी किए बिना अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा पर दिल्ली दंगों में हेट स्पीच का केस नहीं

बीजेपी नेताओं के खिलाफ़ याचिका ख़ारिज करते हुए अदालत ने और क्या कहा, ये भी पढ़िए.

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.

महाराष्ट्र: रायगढ़ में पांचमंज़िला इमारत ढही, 50 से ज़्यादा लोग दबे

एनडीआरएफ की तीन टीमें राहत के काम में जुटी हैं.

क्या 73 दिन में कोरोना वैक्सीन आ रही है? बनाने वाली कंपनी ने बताई सच्ची-सच्ची बात

कन्फ्यूजन है कि खुश होना है या अभी रुकना है?

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.