Submit your post

Follow Us

मोदी-केजरीवाल के 'मुफ्त-मुफ्त' पर DCW के पूर्व प्रवक्ता और आकाश चोपड़ा भिड़ गए

राहुल तहिलियानी. दिल्ली महिला आयोग के पूर्व प्रवक्ता हैं. आकाश चोपड़ा पूर्व क्रिकेटर हैं. फिलहाल कॉमेंटेटर हैं. दोनों की 17 सितंबर को ट्विटर पर तगड़ी बहसबाजी हो गई. शुरुआत आकाश चोपड़ा के एक ट्वीट से हुई. उन्होंने इसमें लिखा–

“जब भी कोई पॉलिटिकल पार्टी चुनाव से पहले ये-वो फ्री में देने का वादा करती है, तो चुनकर आने के बाद उन्हें ये वादे पार्टी फंड से पूरे करने चाहिए. क्योंकि ऐसे में वो एक जेब से लेकर दूसरे में देने का काम करती हैं. ज़रूरतमंदों की मदद करने की बात मुझे पसंद है, लेकिन वोट के लिए लालच देने का काम बंद होना चाहिए.”

आकाश चोपड़ा ने किसी पार्टी का नाम तो नहीं लिया. लेकिन उनका ये ट्वीट तब आया, जब आम आदमी पार्टी ने उत्तर प्रदेश में सरकार बनने पर फ्री बिजली का वादा किया है. उनके ट्वीट पर राहुल तहिलियानी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बैनर की तस्वीर शेयर कर दिया. इस पर लिखा था, ‘सबको वैक्सीन, मुफ्त वैक्सीन’. राहुल ने ट्वीट के साथ बैनर शेयर करते हुए आकाश चोपड़ा पर ये तंज कसा–

“ज्ञानी जी, आप इसकी बात तो नहीं कर रहे?”

इस पर आया आकाश चोपड़ा का जवाब –

“राहुल जी, यहां वोट के बदले मुफ्त वैक्सीन नहीं कह रहे हैं. ये तो आप ने भी दिल्ली में बोला था ना. मुफ़्त वैक्सीन लगाएंगे सबको. आपको मुफ्त वैक्सीन अभियान से कुछ समस्या है तो आप इसकी आलोचना कर सकते हैं. अभिव्यक्ति का अधिकार तो सभी का है. आप का और मेरा बराबर है.”

इस पर राहुल ने लिखा –

“आकाश जी, वोट के लिए नहीं है तो सरकारी पैसे से Thank You Modi Ji लिखवाने की जगह थैंक्यू देशवासियो लिखवा देते. ये वाली वैक्सीन अपनी तनख्वाह से या भाजपा के पार्टी फंड से लगवाई जा रही है?”

अब इस पर तंज कसते हुए आकाश चोपड़ा ने लिखा –

“अरे राहुल जी, आप को ये बात कहां शोभा देती है? दिल्ली दर्शन पर निकलें एक बार. पूरी चित्रावली नज़र आएगी हर गली-नुक्कड़-बस स्टैंड पर. अब ये मत पूछना किसके चित्र. लेकिन आपकी राय पर आपका पूरा अधिकार है. बेबाक़ अन्दाज़ में व्यक्त कीजिए. बस अपने साथियों को समझाएं कि मर्यादा ना भूलें.”

आकाश चोपड़ा का इशारा आम आदमी पार्टी और दिल्ली में लगी अरविंद केजरीवाल की तस्वीरों की तरफ था. इस पर राहुल ने फिर लिखा –

“आप भी दिल्ली से हैं, दिल्ली को अच्छी तरह देखा होगा. आइए आप और हम मिलकर दिल्ली का एक भ्रमण करते हैं, कार्य भी देख लेंगे और रास्ते में आम लोगों से “उस व्यक्ति” के बारे में राय भी पूछ लेंगे? उसके बाद चांदनी चौक में जलेबी मेरी तरफ से.”

मामला यहां भी नहीं थमा. आकाश चोपड़ा ने फिर ट्वीट किया –

“मंज़ूर। थोड़ी बारिश थम जाए, राहुल जी. भ्रमण कार में करेंगे. नांव में बैठने का अभी मन नहीं है. अच्छा लगा कि आपने चित्रावली के संदर्भ में कुछ नहीं कहा. आपकी सहमति जानकर दिल ख़ुश हो गया. सप्रेम, आपका आकाश.”

फिर राहुल ने ट्वीट किया –

“बिल्कुल, मैं आपसे सहमत हूं. भाजपा शासित एमसीडी ने दिल्ली में नदियां बनवा दी हैं. आप अनेकों विषयों का ज्ञान रखते हैं. मुझे पूरा विश्वास है कि आपको पता ही होगा दिल्ली में 90% से अधिक नालियां एमसीडी संभालती है.”

इतने लंबे ट्विटर वॉर का यहां पटाक्षेप होता दिख रहा है. फिलहाल स्टोरी लिखने तक तो मामला यहीं रुका था. देखते हैं बारिश थमने तक ये दोनों भी थम जाएंगे या वाकई में दिल्ली भ्रमण के लिए निकलेंगे.


सरकारी बस के भीतर पानी भर जाने वाले वीडियो की सच्चाई क्या है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करने के लिए यूपी सरकार को एक दिन का वक्त दिया है.