Submit your post

Follow Us

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन अब कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन. उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. ‘इंडिया टुडे’ की रिपोर्ट के मुताबिक, दूसरी बार टेस्ट करने पर उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इससे पहले 15 जून की रात को सांस लेने में भी दिक्कत हुई थी. इसके बाद उन्हें राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल (RGSSH) में एडमिट कराया गया. तेज़ बुखार और सांस में तकलीफ, दोनों ही कोरोना वायरस इंफेक्शन के लक्षण हैं. ऐसे में उनका कोरोना टेस्ट किया गया. हालांकि उनकी पहली रिपोर्ट नेगेटिव आई थी.

सत्येंद्र जैन का दिल्ली के राजीव गांधी अस्पताल में इलाज जारी रहेगा.

सत्येंद्र जैन ने ट्विटर पर अपनी सेहत खराब होने की जानकारी दी थी. लिखा था,

‘तेज़ बुखार और कल रात से ऑक्सीजन लेवल में अचानक गिरावट आने की वजह से मुझे RGSSH में भर्ती कराया गया है. मैं इसकी आगे जानकारी देता रहूंगा.

14 जून की सुबह 11 बजे केंद्रीय गृह मंत्रालय की मीटिंग हुई थी. सत्येंद्र इस मीटिंग में मौजूद थे. उनके अलावा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, दिल्ली के एलजी अनिल बैजल, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया समेत दिल्ली के चीफ सेक्रेटरी और होम सेक्रेटरी भी मीटिंग में शामिल हुए थे. इनके अलावा भी अन्य कुछ अधिकारी मौजूद थे. सत्येंद्र जैन ने उस दिन सीएम केजरीवाल की कार भी शेयर की थी.

आतिशी भी कोरोना पॉजिटिव 

आतिशी मर्लेना. आम आदमी पार्टी (AAP) की विधायक हैं. विधानसभा में कालकाजी क्षेत्र को रिप्रेजेंट करती हैं. आतिशी को 16 जून को सर्दी जैसा फील हुआ और खांसी भी आने लगी. कोरोना टेस्ट किया गया. 17 जून को रिपोर्ट पॉजिटिव आई.

पहली निगेटिव, दूसरी पॉजिटिव कैसे आई?

हर वायरल बीमारी का एक विंडो पीरियड होता है. वो चाहे कोरोना हो, एड्स हो या कोई अन्य बीमारी, जिस दौरान मरीज में लक्षण दिखते हैं. वायरल बीमारी में सर्दी-खांसी आती है. इसे वायरल प्रोड्रोम कहते हैं. आम तौर पर कोई भी वायरल बीमारी होगी, उसमें प्रोड्रोम आएगा. यानी सर्दी-खांसी होगी. प्रोड्रोम आने के तुरंत बाद जरूरी नहीं कि टेस्ट पॉजिटिव आए.

कोरोना के केस में जिन लोगों को क्वारंटीन जाता है, उनके तीन टेस्ट करने होते थे. पांचवें दिन, आठवें दिन और 12वें दिन. पहला टेस्ट बहुत लोगों का निगेटिव आता था. लेकिन उन्हीं लोगों की रिपोर्ट आठवें या 10वें दिन पॉजिटिव आती थी. ये भी देखने को मिला है कि इंफेक्शन के दूसरे-तीसरे दिन लक्षण आने शुरू होते हैं. पांचवें, छठे दिन से टेस्ट पॉजिटिव आने लगती है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री के साथ भी ऐसा ही हुआ. उनकी पहली रिपोर्ट निगेटिव आई और जैसे ही दूसरी बार टेस्ट किया गया. रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई.


अरविंद केजरीवाल की पहली कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव है, तो क्या माना जाए कि कोरोनावायरस नहीं है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गलवान घाटी में झड़प के बाद भी चीनी सेना मौजूद, 200 से ज्यादा ट्रक और टेंट लगाए

सैटेलाइट से ली गई तस्वीरों में यह सामने आया है.

पेट्रोल-डीजल के दाम में फिर से उबाल क्यों आ रहा है?

रोजाना इनके दाम घटने-बढ़ने की पूरी कहानी.

उत्तर प्रदेश में एक IPS अधिकारी के ट्रांसफर पर क्यों तहलका मचा हुआ है?

69000 भर्ती में कार्रवाई का नतीजा ट्रांसफर बता रहे लोग. मगर बात कुछ और भी है.

गलवान घाटी: LAC पर भारत के तीन नहीं, 20 जवान शहीद हुए हैं, कई चीनी सैनिक भी मारे गए

लड़ाई में हमारे एक के मुकाबले तीन थे चीनी सैनिक.

गलवान घाटीः वो जगह जहां भारत-चीन के बीच झड़प हुई

पिछले कुछ समय से यहां पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं.

लद्दाख: गलवान घाटी में भारत-चीन झड़प पर विपक्ष के नेता क्या बोले?

सेना के एक अधिकारी समेत तीन जवान शहीद हुए हैं.

क्या परवीन बाबी की राह पर चल पड़े थे सुशांत?

मुकेश भट्ट ने एक इंटरव्यू में कहा.

सुशांत के पिता और उनके विधायक भाई ने डिप्रेशन को लेकर क्या कहा?

फाइनेंशियल दिक्कत की ख़बरों पर भी बोले.

मुंबई में सुशांत सिंह राजपूत को दी गई अंतिम विदाई, ये हस्तियां हुईं शामिल

मुंबई में तेज बारिश के बीच अंतिम संस्कार.

सुशांत ने किस दोस्त को आख़िरी कॉल किया था?

दोस्त फोन रिसीव न कर सका. जब तक कॉल बैक किया, देर हो चुकी थी.