Submit your post

Follow Us

कांग्रेस की कौन सी योजना पीएम मोदी से लागू करने के लिए कह रहे हैं राहुल गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली के सुखदेव विहार फ्लाईओवर के पास कुछ प्रवासी मज़दूरों से मुलाकात की. तस्वीरों में राहुल गांधी फुटपाथ पर बैठकर उनसे बात करते दिख रहे हैं. इससे पहले राहुल गांधी ने शनिवार, 16 मई को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से फिर मीडिया से बात की. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को प्रवासी मज़दूरों और किसानों के खातों में सीधे पैसे ट्रांसफर करने चाहिए.

राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव के दौरान ‘न्याय’ योजना के तहत न्यूनतम आय का वादा किया था. उन्होंने केंद्र सरकार से न्याय योजना को कुछ समय के लिए लागू करने की अपील की. उन्होंने कहा कि बग़ैर गरीबों और ज़रूरतमंदों की मदद किए अर्थव्यवस्था पटरी पर नहीं लौटेगी. उन्होंने सरकार से  मनरेगा के कार्य दिवस बढ़ाकर 200 दिन करने की मांग की.

राहुल गांधी ने कहा,

जब बच्चा रोता है तो मां उसे कर्ज नहीं देती है, ट्रीट देती है. सड़क पर चलने वाले प्रवासी मजदूरों को कर्ज नहीं पैसे की ज़रूरत है. इसलिए सरकार को साहूकार की तरह काम नहीं करना चाहिए.

‘न्याय योजना कुछ समय के लिए लागू करें’

राहुल गांधी ने कहा,

दस साल पहले का भारत और आज का हिंदुस्तान दोनों अलग-अलग हैं. आज बहुत सारे मजदूर शहरों में रहते हैं. इसलिए मेरा विचार है कि गांव में इनकी सुरक्षा के लिए मनरेगा और शहर में न्याय योजना होनी चाहिए. जिससे इनके बैंक अकाउंट में कुछ पैसा भेजा जा सके. सरकार चाहे तो न्याय योजना को कुछ समय के लिए लागू करके देख सकती है.

राहुल ने कहा,

मेरे हिसाब से सरकार को तीन टर्म- शॉर्ट, मिड और लॉन्गटर्म में काम करना चाहिए. शॉर्ट टर्म में डिमांड बढ़ाइए. हिंदुस्तान के छोटे और मझोले व्यापारियों को बचाइए. इन्हें रोजगार और आर्थिक मदद दीजिए.

राहुल गांधी ने केरल में कोरोना वायरस पर कंट्रोल की तारीफ की. उन्होंने कहा कि वह एक मॉडल स्‍टेट है और बाकी राज्‍य उससे सबक ले सकते हैं.

राहुल गांधी इससे पहले भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए पत्रकारों से बात कर चुके हैं. फोटो: PTI
राहुल गांधी इससे पहले भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए पत्रकारों से बात कर चुके हैं. फोटो: PTI

केंद्र सरकार ने 4 घंटे के नोटिस पर लॉकडाउन कर दिया: मनीष तिवारी

न्यूज़ चैनल ‘आज तक’ के ‘ई-एजेंडा’ कार्यक्रम में कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने भी डायरेक्ट कैश ट्रांसफर की बात दोहराई. प्रवासी मजदूरों के मुद्दे पर कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी और बीजेपी सांसद जयंत सिन्हा के बीच बहस हुई. मनीष तिवारी ने कहा कि केंद्र सरकार ने 4 घंटे के नोटिस पर पूरे देश में लॉकडाउन कर दिया. इसी वजह से प्रवासी मजदूरों की हालत खराब है. वो घर जाने को मजबूर हैं. उन्होंने भी कहा कि आखिर सरकार मजदूरों के खातों में सीधे पैसा क्यों नहीं डाल रही है.

जयंत सिन्हा ने जवाब देते हुए कहा, ‘ये राजनीति का वक्त नहीं है. हमें पता है कि लाखों मजदूर सड़क पर हैं. ऐसे में हमें राजनीति करने की जगह मिल-जुल कर उनकी मदद करनी चाहिए.’ जयंत सिन्हा ने कहा कि केंद्र सरकार मजदूरों की हरसंभव मदद कर रही है, अब राज्य सरकारों को अपने-अपने राज्यों में और अधिक ट्रेन चलवाने की मांग करनी चाहिए.


राहुल गांधी ने कहा, कोरोना से लड़ाई में एक मजबूत PM काफी नहीं, CM और DM की जरूरत

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी: औरैया में दो ट्रक टकराने से 24 मज़दूर मारे गए, योगी ने कई पुलिसवालों को सस्पेंड किया

पीएम मोदी ने घटना पर शोक जताया है.

घर-घर खाना पहुंचाने वाली ये कंपनी 600 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही है

राहत वाली बात ये है कि छह महीने तक आधी सैलरी मिलती रहेगी.

बंगाल में हफ्तेभर से क्या बवाल चल रहा है, जिसमें 129 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं

‘तुम कोरोना फैला रहे हो’ कहकर हमला किया, हिंसा भड़की.

लंबे वक्त तक क्रिकेट के नक्शे पर पाकिस्तान को जिंदा रखा था इस जोड़ी ने

वो दिन, जब मिस्बाह-उल-हक़ और यूनिस खान ने क्रिकेट को अलविदा कहा

कश्मीर : चेकप्वाइंट पर गाड़ी नहीं रोकी तो आम नागरिक को CRPF ने गोली मार दी?

क्या है घटना का सच?

रेलवे ने टिकट कटा चुके लोगों को बड़ा झटका दिया है

इसका श्रमिक और स्पेशल ट्रेनों पर क्या असर पड़ेगा?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में से पहले दिन वित्त मंत्री ने क्या-क्या ऐलान किया?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की डिटेल दी.

पीएम मोदी ने जिस Y2K क्राइसिस का ज़िक्र किया, वो क्या था?

पीएम ने 12 मई को देश को संबोधित किया.

अपने भाषण में नरेंद्र मोदी ने अगले लॉकडाउन के बारे में ये हिंट दे दिया है

मोदी के 34 मिनट के भाषण में काम की बात क्या थी?

ट्रेन के बाद अब फ़्लाइट शुरू होगी तो यात्रा के क्या नियम होंगे?

केबिन लगेज, जांच और बैठने की व्यवस्था को लेकर क्या नियम हैं?