Submit your post

Follow Us

किसी को सही-सही पता ही नहीं कि दिल्ली में कोरोना से कितनी मौतें हुईं!

दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) ने दिल्ली सरकार पर COVID-19 से होने वाली मौतों के नंबर छिपाने का आरोप लगाया है. नगर निगम ने तो बाकायदा आधिकारिक सूची भी जारी कर दी है. इसके मुताबिक, दिल्ली में अब तक कोरोना वायरस इंफेक्शन से 340 लोगों की मौत हो चुकी है. साउथ एमसीडी में 187 और नॉर्थ एमसीडी में 153. वहीं दिल्ली सरकार के मुताबिक, कोरोना से अब तक 73 मौतें हुई हैं.

कोरोना प्रोटोकॉल से कितनों के अंतिम संस्कार?

नगर निगम कोरोना इंफेक्शन से हुई मौतों का आंकड़ा इस आधार पर जोड़ रहा है कि कितने लोगों का अंतिम संस्कार कोरोना प्रोटोकॉल के तहत किया गया. उतने लोगों की मौत की वजह COVID-19 को मान रहा है. साउथ एमसीडी का दावा है कि अब तक उनके क्षेत्र के श्मशान घाट और कब्रिस्तान में 187 लोगों का अंतिम संस्कार कोरोना प्रोटोकॉल से किया गया है.

वहीं नॉर्थ एमसीडी ये आंकड़ा 153 का बता रहा है.

क्या डेथ ऑडिट के नियमों का पालन नहीं हो रहा?

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा –

“कुछ अस्पतालों से आंकड़े आने में देरी हो जाती है. इसलिए कहीं कुछ कमी रह सकती है. लेकिन सभी मौतों को कोरोना से ही जोड़ देना ठीक नहीं है.”

इस बीच दिल्ली के मुख्य सचिव विजय देव ने एक लेटर जारी किया. इसमें लिखा–

“डेथ ऑडिट कमिटी के गठन के वक्त ही ये तय कर लिया गया था कि सभी सरकारी और प्राइवेट अस्पताल रोज़ अपने यहां होने वाली मौतों की जानकारी कमिटी तक पहुंचाएंगे. लेकिन ऐसा हो नहीं रहा है. इसी वजह से गड़बड़ हो रही है. मौत के आंकड़े रोज़ ऑडिट कमिटी तक पहुंचाए जाएं.”

हालांकि साउथ एमसीडी के चेयरमैन भूपेंद्र गुप्ता ने तो साफ आरोप लगा दिया है कि दिल्ली सरकार मौत के आंकड़ों को कम करके बताना चाह रही है.


दिल्ली प्रशासन को लोगों ने मरते मजदूरों की याद दिलाकर रगेद दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

BJP सांसद बोले- कोरोना फैलाने वाले जमात के लोगों से आतंकियों की तरह निपटना चाहिए

मुज़फ्फरपुर सांसद अजय निषाद ने भारत सरकार से कारवाई की मांग की है.

'क्राइम पेट्रोल' के एक्टर और 'बाग़बान' के स्क्रीनराइटर की कैंसर से मौत हो गई

इलाज के लिए पैसे भी मुश्किल से जुटाने पड़े.

गुजरातः वोटों की गिनती में घपले के चलते जीते थे BJP के मंत्री, हाई कोर्ट ने चुनाव ही रद्द कर दिया

भूपेंद्र सिंह चुड़ास्मा की गुजरात के बड़े नेताओं में गिनती होती है.

कोरोना के कारण पड़ोसी परेशान करते थे, डॉक्टर ने कहा- कुत्ते के साथ होटल में रह लूंगा

डॉक्टर को देखकर रास्ता बदलने लगे थे पड़ोसी.

लॉकडाउन के बीच सनी लियोन के भारत से अमेरिका जाने की वजह भावुक कर देगी!

अब तक भारत में परिवार समेत रह रही थीं सनी लियोन

PM मोदी और मुख्यमंत्रियों की मीटिंग में लॉकडाउन को लेकर क्या फ़ैसला हुआ?

क्या लॉकडाउन बढ़ाया जाएगा?

ट्रेन चलने पर भी घर न जा सका, तो कारखाने में ही फांसी लगा ली

बड़े भाई ने वीडियो बनाकर बाकी लोगों को घर भेजे जाने की अपील की.

विरेंदर सहवाग का सबसे फेमस किस्सा सरासर झूठ है: शोएब अख्तर

'भरोसा न हो, तो गौतम गंभीर से पूछ लो'.

सोनू सूद ने प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए अपने खर्चे पर चलवाईं 10 बसें

जो काम सरकारों को करना चाहिए था, उसकी परमिशन सोनू खुद सरकारों से लेकर आए.

मध्य प्रदेश में सरकार ने कोरोना मरीजों के डेटा के साथ ये गड़बड़ी कर दी!

'सार्थक' नाम से ऐप बनाया, पर नाम जैसा काम नहीं कर पाए.