Submit your post

Follow Us

क्या मुखर्जी नगर में रहने वाले स्टूडेंट्स को जबरन छुट्टी पर भेज रही है दिल्ली पुलिस?

दिल्ली का मुखर्जी नगर. यहां सिविल सर्विसेज और दूसरी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले स्टूडेंट्स रहते हैं. बड़ी संख्या में. कई सारे कोचिंग सेंटर्स भी यहां चलते हैं. ख़बर है कि दिल्ली पुलिस ने यहां चलने वाले कोचिंग सेंटर्स और पीजी-हॉस्टल्स को 2 जनवरी तक बंद रखने का आदेश दिया है. इस संबंध में एक नोटिस भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. दावा किया जा रहा है कि नोटिस दिल्ली पुलिस की तरफ से ज़ारी किया गया है.

नोटिस में लिखा है कि मुखर्जीनगर इलाके के सभी कोचिंग सेंटर्स और पीजी 24 दिसंबर से 2 जनवरी तक बंद रखे जाएं. इसके साथ ही कुछ विडियो भी वायरल हैं. इनमें से एक में पुलिसवाला स्टूडेंट्स से घर जाने को, इसे विंटर वेकेशन मानने को कह रहा है. इस नोटिस और वीडियोज़ को लोग CAA प्रोटेस्ट से जोड़कर देख रहे हैं. सोशल मीडिया पर ये भी दावा किया जा रहा है कि पुलिस कोचिंग सेंटर्स के क्लासरूम में जा रही है, उन्हें खाली करवा रही है और स्टूडेंट्स को अपनी टिकट करवाकर घर जाने को कह रही है. हालांकि, पुलिस ने विडियो और नोटिस को फ़ेक बताया है.

पहले नोटिस देखें, जो मुखर्जी नगर थाने के SHO का आदेश बताकर सर्कुलेट हो रहा है. नोटिस में लिखी बात को हम ज्यों का त्यों लिख रहे हैं:

सभी कोचिंग एवं PG वालों को सूचित किया जाता है कि दिनांक 24/12/2019 से 02/01/2020 तक सभी कोचिंग एवं PG बंद रहेंगे. अगर कोई भी कोचिंग एवं PG खुला पाया गया तो उस पर 50,000 रुपये तक का ज़ुर्माना या उसका PG या कोचिंग सील  कर दिया जायेगा. धन्यवाद.

नोटिस में 23 दिसंबर, 2019 की तारीख़ है और ‘आदेशानुसार थाना SHO’ मुखर्जी नगर लिखा है. इस नोटिस में SHO का कोई साइन नहीं है और न ही ऑर्डर संख्या का ज़िक्र है.

सोशल मीडिया पर सर्कुलेट किया जा रहा लेटर. फोटो: ट्विटर
सोशल मीडिया पर सर्कुलेट किया जा रहा लेटर. फोटो: ट्विटर

अब वायरल हो रहे विडियो को देखते हैं. इसमें एक पुलिसकर्मी कह रहा है कि 2 तारीख़ तक अपने घर चले जाओ और कोई भी किसी प्रोटेस्ट में भाग नहीं लेगा. विडियो में जो बोला जा रहा है, हम वैसा ही लिख रहे हैं:

24 तारीख़ से हम डायरेक्शन दे रहे हैं सारे पीजी वालों को,थाने वालों को, स्टूडेंट्स को, और कोचिंग वालों को. 24 की शाम से सभी बंद हो जाएंगे. सभी लोग अपने टिकट कटा लो, घर चले जाओ. ठीक है. पूरा दो तारीख़ तक. दो तारीख़ को वापस आइए. विंटर ब्रेक समझ लो इसे. लॉ एंड ऑर्डर सिचुएशन काफी नाज़ुक हो रखी है. धारा 144 लगी हुई है पूरी दिल्ली में. कोई भी गैदरिंग, कोई भी नुइसेंस हुई, अपना करियर ख़राब कर लोगे बेटा. समझ में आ रहा है. तो करियर मत ख़राब होने देना अपना. अपने घर निकल जाओ. 24 की शाम को निकल जाना और 2 तारीख़ को ही वापस आना. धारा 144 पता है क्या है? चार से ज़्यादा आदमी इकट्ठा होने पर…अपराध है ये. क्यों अपना करियर ख़राब करना चाहते हो और क्यों जेल जाना चाहते हो. और रात को जो तुम लोग शोर मचाते हो, अगर हमें एक भी कंप्लेंट मिल गई न या फुटेज में हमें मिल गई तो हम बंद कर देंगे बिल्कुल. कैमरे लगे हुए हैं तुम्हारे सबके पीजी में. कल रात को क्यों इकट्ठा हुए थे भई. जेनुइनली बता रहा हूं, स्टूडेंट्स हो इसलिए छोटे भाई होने के नाते बता रहा हूं, बिल्कुल अलर्ट हैं, बिल्कुल नहीं बख्शेंगे. ये आगाह कर रहे हैं आपको. वॉर्निंग दे रहे हैं. कोई डाउट है किसी को? ठीक है, चलिए जाइए.

मुखर्जी नगर के कई छात्रों का कहना है कि कोचिंग सेंटर बंद करने के निर्देश तो दिए गए हैं लेकिन लिखित में कोई आदेश नहीं दिया गया है और इसका CAA प्रोटेस्ट से लेना-देना नहीं है. उनका कहना है कि ऐसा न्यू ईयर से पहले होने वाली हुड़दंगई को रोकने के लिए किया गया है. वहीं कुछ का कहना है कि CAA प्रोटेस्ट की वजह से ही पुलिस ऐसा कर रही है. हमने मुखर्जी नगर में रहने वाले छात्रों, कोचिंग सेंटर से जुड़े लोगों, पीजी में रहने वालों और पीजी मालिक से बात की.

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में कहा गया कि पुलिस क्लासरूम में आकर छात्रों को चेतावनी दे रही है. फोटो: फेसबुक
सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में कहा गया कि पुलिस क्लासरूम में आकर छात्रों को चेतावनी दे रही है. फोटो: फेसबुक

पीजी में रहने वाले एक छात्र गौरव ने ‘दी लल्लनटॉप’ को बताया, ”पीजी वालों ने पीजी बंद होने का नोटिस चिपकाया है. खाना यहां नहीं मिल रहा है. छात्र बाहर खाना खा रहे हैं. CAA प्रोटेस्ट से जुड़े कई छात्र जामिया और डीयू से आकर यहां रहते हैं इसलिए पीजी वाले ऐसा कर रहे हैं. पुलिस चाहती है लोग यहां न इकट्ठा हों. पुलिस ने लाइब्रेरी भी बंद करने को कहा है. कई दुकानें भी बंद हैं. यहां ऐसा कोई प्रोटेस्ट हुआ नहीं है. कैंडल मार्च भी नहीं निकला इसलिए पुलिस सेफ़ खेल रही है.”

वायरल विडियो के बारे में उनका कहना है कि ये विडियो मुखर्जी नगर का ही है और दो दिन पहले का है. उन्होंने दावा किया कि जब विडियो में मौजूद पुलिसकर्मी ऐसा कह रहा था तो उनके कई मित्र मौके पर मौजूद थे. हम उनके दावे की पुष्टि नहीं करते हैं. इसके अलावा ऐसे वीडियो भी सामने आए हैं, जिसमें कथित तौर पर पुलिस क्लासरूम में जाकर छात्रों को चेतावनी दे रही है. इस पर गौरव का कहना है कि इस बारे में नहीं पता लेकिन पुलिसवालों ने लाइब्रेरी बंद करवायी है.

वहीं, एक पीजी मालिक अवधेश का कहना है कि हमारा पीजी बंद नहीं है. बाकियों का नहीं पता.

सोशल मीडिया पर चल रहा नोटिस, जिसमें दावा किया गया है कि छात्रों को कमरे खाली करने को कहा गया है. फोटो: फेसबुक
सोशल मीडिया पर चल रहा नोटिस, जिसमें दावा किया गया है कि छात्रों को कमरे खाली करने को कहा गया है. फोटो: फेसबुक

मामले का एक और वर्ज़न है 

इस पूरे मामले का एक और वर्ज़न सामने आया है. दृष्टि कोचिंग सेंटर से जुड़े हिमांशु सिंह ने ‘दी लल्लनटॉप’ को बताया, ”पिछले साल कुछ लड़कों ने बत्रा सिनेमा पर छेड़खानी की थी. लाठीचार्ज भी हुआ था. एहतियात के तौर पर एक हफ़्ते के लिए कोचिंग और पीजी बंद करने के निर्देश हैं. दृष्टि कोचिंग सेंटर बंद है. इसका CAA प्रोटेस्ट से कोई लेना-देना नहीं है.”

छात्र सन्नी कुमार ने बताया, ”2018 में न्यू ईयर से पहले बत्रा सिनेमा के पास छेड़खानी की घटना हुई थी जो बड़ी थी. लड़के हुड़दंगई करते थे. इस घटना के बाद एहतियातन पुलिस ने ऐसा किया है लेकिन तब एक दो दिन कोचिंग सेंटर बंद रखने का निर्देश दिया गया था. पीजी के लिए कोई निर्देश नहीं था. इस बार इसे एक हफ़्ते कर दिया गया है. CAA के प्रोटेस्ट इस समय चल रहे हैं इसलिए उससे जोड़कर इसे देखा जा रहा है. राकेश यादव SSC की कोचिंग चलाते हैं, उनका कोचिंग सेंटर खुला था, उसे पुलिस ने जाकर बंद करवाया. लगभग सभी कोचिंग सेंटर बंद हैं.”

एक कोचिंग सेंटर द्वारा छात्रों को भेजा गया मैसेज. फोटो: फेसबुक
एक कोचिंग सेंटर द्वारा छात्रों को भेजा गया मैसेज. फोटो: फेसबुक

दिल्ली पुलिस का क्या कहना है

फ़िलहाल दिल्ली पुलिस ने इस लेटर और विडियो को फेक बताया है. पुलिस का दावा है कि वायरल हो रहा विडियो एडिटेड है और ऐसा कोई भी लेटर दिल्ली पुलिस ने ज़ारी नहीं किया है. नॉर्थ वेस्ट दिल्ली के डीसीपी विजयंत आर्या ने कहा, ”हमने फेक मैसेज को लेकर केस दर्ज़ किया है और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से अपील कर रहे हैं कि विडियो हटायें क्योंकि इसका कॉन्टेंट एडिट किया गया है.”

हालांकि दिल्ली पुलिस ने ये साफ़ नहीं किया है कि ये वीडियो कब का है और अगर वीडियो एडिटेड है तो असली वीडियो में पुलिस क्या कह रही थी. मुखर्जी नगर पुलिस का पक्ष जानने के लिए हमने संपर्क करने की कोशिश की लेकिन फ़िलहाल संपर्क नहीं हो पाया है.


पड़ताल: जामिया प्रोटेस्ट में शामिल महिला प्रोटेस्टर की वायरल की जा रही फोटो कहीं और की है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

CJI बोबड़े ने बीजेपी नेता से कहा- अपनी लड़ाई टीवी चैनल पर जाकर सेटल करो, कोर्ट में नहीं

बंगाल सरकार भी अदालत में थी, उन्हें भी डांट पड़ी.

आमिर खान ने अक्षय कुमार को दोस्त कहा, तो अक्षय ने इतराने वाला जवाब दिया

मामला बच्चन पांडे और लाल सिंह चड्ढा की रिलीज से जुड़ा है.

तिग्मांशु धूलिया की भतीजी को शराबियों ने परेशान किया, ट्विटर पर लोगों से मदद मांगी

रेलवे हेल्पलाइन नंबर से कोई जवाब नहीं मिला.

पद्मश्री सम्मान पर कांग्रेस प्रवक्ता ने अदनान सामी को बताया 'सरकार का चमचा'

इसके बाद अंकल-बच्चा कहते हुए दोनों ट्विटर पर ही भिड़ गए.

मांजरेकर बोले, 'प्लेयर ऑफ द मैच गेंदबाज़ को होना चाहिए था', जडेजा ने मज़े ले लिए

जडेजा के सवाल पर मांजरेकर का जवाब अलग ही है.

बास्केटबॉल लीजेंड कोबी ब्रायंट, जिनकी मौत की बात 8 साल पहले ही कह दी गई थी!

हेलीकॉप्टर क्रैश में कोबी और उनकी बेटी जियाना की मौत.

कोबी ब्रायंट और उनकी बेटी की मौत पर बॉलीवुड स्टार्स ने शेयर की इमोशनल पोस्ट

अक्षय ने लिखा- 'मेरी भतीजी को बास्केटबॉल खेलने के लिए हर रोज इंस्पायर किया.'

कमाई के मामले में वरुण धवन से पंगा कंगना को भारी पड़ता दिख रहा है

इन दोनों फिल्मों की कमाई में सबसे ज़्यादा सेंधमारी की है अजय देवगन की 'तान्हाजी' ने.

अमित शाह ने चिल्लाकर पिट रहे लड़के को भीड़ से बचाया

अमित शाह ने चिल्लाकर कहा, अरे अरे अरे छोड़ दो इसको

कांग्रेस के कैंडिडेट को मिले 0 वोट, अपना वोट भी किसी और को दे दिया!

जिसने सुना वो हैरान हो गया.