Submit your post

Follow Us

जजों-वकीलों के काले कोट को कोरोना वायरस से खतरा!

जल्द ही कोर्ट में जज और वकील बिना काले गाउन या जैकेट के नज़र आ सकते हैं. सुप्रीम कोर्ट इस बारे में आदेश जारी कर सकता है. यह कदम कोरोना वायरस के चलते उठाया जा सकता है. 13 मई को चीफ जस्टिस एसए बोबडे ने एक सुनवाई के दौरान इस तरह के संकेत दिए.

बिना गाउन-जैकेट के नज़र आए जज

जानकारी के अनुसार, वॉट्सऐप पेमेंट सर्विस पर प्रतिबंध लगाने की याचिका कोर्ट में दाखिल हुई. इस पर चीफ जस्टिस बोबडे के साथ ही जस्टिस इंदु मल्होत्रा और ऋषिकेश रॉय की बेंच सुनवाई कर रही थी. सुनवाई के दौरान सभी जज सफेद शर्ट, काली पैंट और ज्यूडिशिल बैंड में नजर आए. सुनवाई के दौरान स़ॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने भी सुनवाई के दौरान गाउन नहीं पहना था.

याचिकाकर्ता की ओर से सीनियर वकील कपिल सिब्बल पेश हुए. जजों को इस तरह देख सिब्बल ने पूछा कि आज बेंच ने गाउन क्यों नहीं पहना है?

 गाउन-जैकेट न पहनने का आदेश जल्द आएगा

इस पर चीफ जस्टिस ने कहा कि गाउन और जैकेट से कोरोना वायरस फैलने की आशंका ज्यादा होती है. जजों को इस बारे में जानकारी मिली है. ऐसे में ड्रेस कोड को बदले जाने की जरूरत है. जजों और वकीलों को जैकेट और गाउन नहीं पहनने चाहिए. जल्द ही इस बारे में आदेश जारी कर दिया जाएगा.

बता दें कि कोरोना वायरस के चलते सुप्रीम कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही सुनवाई हो रही है. ऐसे संकेत मिले हैं कि आने वाले समय में जज घर की बजाय कोर्टरूम से सुनवाई करेंगे.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: तमिलनाडु में जिन्होंने कोरोना की दवा बनाई, उसे खाकर उनकी खुद मौत हो गई

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में से पहले दिन वित्त मंत्री ने क्या-क्या ऐलान किया?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की डिटेल दी.

पीएम मोदी ने जिस Y2K क्राइसिस का ज़िक्र किया, वो क्या था?

पीएम ने 12 मई को देश को संबोधित किया.

अपने भाषण में नरेंद्र मोदी ने अगले लॉकडाउन के बारे में ये हिंट दे दिया है

मोदी के 34 मिनट के भाषण में काम की बात क्या थी?

ट्रेन के बाद अब फ़्लाइट शुरू होगी तो यात्रा के क्या नियम होंगे?

केबिन लगेज, जांच और बैठने की व्यवस्था को लेकर क्या नियम हैं?

गुजरात: CM बदलने की संभावना पर खबर चलाई, पुलिस ने राजद्रोह का केस लिख लिया

इस मामले में गुजरात सरकार की किरकिरी हो रही है.

किसी को सही-सही पता ही नहीं कि दिल्ली में कोरोना से कितनी मौतें हुईं!

सरकार और नगर निगम के आंकड़े अलग-अलग.

चीन से ठगे जाने के बाद इंडिया ने अपनी टेस्टिंग किट बनाई, कैसे काम करेगी?

किसने बनाई ये टेस्टिंग किट?

कॉन्स्टेबल साब ने दिल्ली में शराब वितरण का लेटेस्ट तरीका निकाला था, नप गए

दिल्ली में शराब की दुकानों पर भीड़ बहुत ज़्यादा है.

12 मई से चलने वाली ट्रेनों के स्टॉपेज, टाइम टेबल और नियम क़ानून की जानकारी यहां देखिए

किस-किस दिन चलेंगी ट्रेनें?

कोरोना: सुपर स्प्रेडर क्या होते हैं और ये इतने खतरनाक क्यों हैं कि अहमदाबाद में सब कुछ बंद करना पड़ा

अहमदाबाद में 14 हजार सुपर स्प्रेडर होने की आशंका जताई जा रही है.