Submit your post

Follow Us

पैंगोंग और गलवान के बाद लद्दाख के इन इलाकों में चीन नई मुसीबत खड़ी कर रहा है

भारत और चीन के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है. पहले पैंगोंग झील के पास चीन ने भारत के इलाके में घुसने की कोशिश की, फिर गलवान घाटी का वो इलाका, जो भारत के अधिकार क्षेत्र में आता है, वहां पर भी चीन भारतीय सेना के लिए मुसीबत बना. इसी इलाके में 15 जून की रात दोनों सेनाओं के बीच हिंसक झड़प हुई. भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए. अब खबर आ रही है कि चीन दो और इलाकों में भारतीय जवानों के लिए मुसीबत बन रहा है. ये इलाके हैं- दौलत बेग ओल्डी (DBO) और देपसांग सेक्टर.

‘इंडिया टुडे’ के मंजीत सिंह नेगी की रिपोर्ट के मुताबिक, लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) के पास स्थित DBO इलाके में, पेट्रोलिंग पॉइंट 10 से 13 के बीच चीन, भारतीय जवानों के लिए दिक्कत बढ़ा रहा है. ‘इंडिया टुडे’ को टॉप सोर्सेज ने बताया कि चीन के इरादे अब साफ होते दिख रहे हैं. वो काराकोरम दर्रे के आसपास के इलाकों में अतिक्रमण करना चाहता है, ताकि पाकिस्तान और यूरोप के देशों की तरफ जाने वाले हाइवेज़ के लिए रास्ता मिल जाए.

सोर्स का कहना है,

‘दौलत बेग ओल्डी (DBO) सेक्टर में चीन भारत के लिए परेशानियां खड़ी करना चाहता है. वो हमारे पेट्रोल्स के रास्तों को ब्लॉक कर रहा है, उन्हें पेट्रोलिंग पॉइंट 10 से 13 तक नहीं पहुंचने दे रहा. ये कारवां नदी घाटी से सटे हुए हैं और DBO सेक्टर में इंडियन बटालियन के पास हैं.’

Indian Patrols
मैप में साफ नज़र आ रहा है कि दौलत बेग ओल्डी किधर है.

भारी वाहनों और तोपों को LAC के करीब लाया

सूत्रों का कहना है कि चीन सड़क के ज़रिए भारी वाहनों और तोपों को LAC के पास मौजूद पेट्रोलिंग पॉइंट (PP) 15, PP 17 और PP 17-A के करीब ले आया है. इन इलाकों में चीन की सेना की गतिविधियां और कंस्ट्रक्शन एक्टिविटीज़ बंद नहीं हुई हैं. फिंगर (छोटी-छोटी पहाड़ियां, जिन्हें फिंगर्स कहकर मार्क किया गया है.) इलाकों में भी, चीन खुद को मजबूत कर रहा है. फिंगर-4 और उससे लगे इलाकों में चीन ने खुद को काफी मजबूत कर लिया है.

चीन ने सुखोई-30 विमान भी तैनात किया है, जो भारतीय क्षेत्र के करीब नियमित उड़ान भरते हैं. LAC के पास चीन की लॉन्ग रेंज वाली एयर डिफेंस गन बैटरीज़ की मौजूदगी का पता चला है. ये भारतीय वायुसेना के फाइटर एयरक्राफ्ट से महसूस हो रहे खतरे से बचने के लिए किया गया है.

कैंप और वाहन देखे गए

चीनी बेस के पास कैंप और वाहन देखे गए हैं. चीन की ओर से ये बेस 2016 से पहले ही बनाए गए थे, लेकिन इस महीने सैटेलाइट तस्वीरों से पता चला है कि यहां पर नए शिविरों और वाहनों के लिए ट्रैक बनाए गए हैं. जमीनी ट्रैकिंग के जरिये भी इसकी पुष्टि हो चुकी है.

भारत ने मई के आखिर में ही भांप लिया था कि चीन देपसांग में लामबंदी कर सकता है. ये वो इलाका है, जहां पर चीन की सेना ने 2013 में घुसपैठ की थी.


वीडियो देखें: भारत-चीन के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद पता चला कि गलवान घाटी में कई सालों से क्या हो रहा था?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

बिहार विधान परिषद चुनाव: जानिए कौन हैं MLC के ये उम्मीदवार, क्यों मिला टिकट

कांग्रेस छोड़ सभी पार्टियों ने घोषित किए उम्मीदवार.

CBI कोर्ट में महिला से रेप का आरोप, आरोपी कोर्ट का स्टाफर

आरोपी गिरफ्तार. जांच जारी.

'बॉयकॉट चाइनीज प्रोडक्ट' के शोर के बीच अब सरकार खेल का नया नियम लेकर आई है!

'मेक इन इंडिया' और 'आत्मनिर्भर भारत' को बढ़ावा देने के लिए ये कदम उठाया गया.

एक फेसबुक पोस्ट ने सचिन और द्रविड़ के फैंस को क्यों भिड़ा दिया?

फेसबुक पर हुए पोल ने कराया ट्विटर पर बवाल.

इस बड़े डायरेक्टर ने नेपोटिज़म पर कहा, 'मेरे बेटे के लिए मेरी परछाई फायदा भी है और शाप भी'

सुशांत की मौत के बाद नेपोटिज़म पर जो बहस छिड़ी, वो और लंबी होती जा रही है.

कोरोना के इलाज के लिए किस तरह की हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी ला सकेंगी कंपनियां, IRDAI ने साफ कर दिया

ये पॉलिसी किसी व्यक्ति या समूह के लिए हो सकती है.

पुलिसवाले ने महिला बैंकर से मारपीट की, सूरत पुलिस की भद्द पिटी, निर्मला सीतारमण ने कर दिया फोन

पुलिसवाले के ख़िलाफ़ FIR दर्ज हो गई है.

पाकिस्तान के साथ ऐसा क्या हुआ कि भारत को 2001 संसद हमले के बाद वाला कड़ा फैसला लेना पड़ा!

सबका ध्यान चीन पर है, इधर भारत-पाकिस्तान के बीच भी सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है.

अब भूषण कुमार की पत्नी दिव्या खोसला ने सोनू निगम के खिलाफ लिख डाला, नाशुक्रा तक कह दिया

सोनू निगम ने पहले टी-सीरीज़ वाले भूषण कुमार पर संगीन आरोप लगाए थे.

गौतम गंभीर ने वो कह दिया, जो शायद हर भारतीय कहना चाहता था

इसे सुन भावुक हो सकते हैं राहुल द्रविड़.