Submit your post

Follow Us

बैंक के लॉकर में 37 लाख के चूरन वाले नोट मिले, सब पर 'चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया' लिखा था

5
शेयर्स

गुजरात के सूरत में वराछा नाम का एक कस्बा है. यहां के खांड बाजार में बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB) की एक ब्रांच है. इस ब्रांच के लॉकर से हाल ही में 37 लाख के चूरन वाले नोट निकले, जिसके बाद छानबीन हुई. और कैशियर दीपेश पटेल के खिलाफ कड़ा एक्शन लिया गया.

क्या है पूरा मामला?

घटना 21 अक्टूबर की है. दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस दिन बैंक के चीफ मैनेजर प्रमोद कुमार निरिक्षण के लिए पहुंचे. सारी जरूरी फाइल्स और कैश की जांच करने के बाद ये लॉकर सेक्शन में गए. उनके साथ बैंक के एक सीनियर कर्मचारी रमन मेहता भी थे.

दोनों जब लॉकर में रखे कैश की जांच कर रहे थे, तो देखा कि नोट की गड्डियों में कुछ नकली नोट रखे हुए हैं. इन नोटों पर ‘चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया’ लिखा हुआ था. यानी ये बच्चों के खेलने के नोट थे. ठीक से चेक किया गया, तो दिखा कि 36.52 लाख रुपए के नकली नोट रखे हुए थे.

मैनेजर ने कैशियर दीपेश पटेल को बुलाया. पूछताछ की, तो उसने कहा कि उसे कुछ नहीं पता है. दूसरे दिन कड़ाई से पूछने के बाद बताया कि उसने ही इन नोटों की अदला-बदली की थी. उसने बैंक के जॉइंट कस्टोडियन मधुसूदन याधानी के साथ मिलकर ऐसा किया था.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, दीपेश और मधुसूदन करीब तीन महीनों से नोटों की अदला-बदली कर रहे थे. रोज़ थोड़े-थोड़े नोट बदल दिए जाते थे. इन पैसों से दीपेश ने तो हाल ही में एक नया फ्लैट भी खरीदा था. दोनों के खिलाफ मामला दर्ज हो चुका है और बैंक ने दोनों को निलंबित कर दिया है.


 वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.

CAA और कश्मीर पर बोलने वाले मलयेशियाई PM अब खुद को छोटा क्यों बता रहे हैं?

हाल में भारत और मलयेशिया के बीच रिश्तों में खटास बढ़ती गई है.

निर्भया के दोषियों की फांसी की नई तारीख आ गई

पहले 22 जनवरी दी जानी थी फांसी.

दूसरे वनडे से ऋषभ पंत बाहर हुए, तो संजू सैमसन को टीम में जगह क्यों नहीं दी गई?

सैमसन को BCCI ने कॉन्ट्रैक्ट भी नहीं दिया है.