Submit your post

Follow Us

चुम्मी और गालियों के बाद पहलाज अब 'हिंदू', 'गुजरात' और 'गाय' पर बीप लगवा रहे हैं

सेंसर बोर्ड. सेंसर बोर्ड. सेंसर बोर्ड.

एक मराठी कहावत है. ‘जली, स्थळी, काष्ठी, पाषाणी.’ जिसका सिंपल भावार्थ हुआ कि हर जगह. वाकई हर जगह सेंसर बोर्ड की टांग फंसी नज़र आ रही है. जब देखो तब किसी न किसी चीज़ पर ऐतराज़ उठा देता है. फिल्ममेकर्स को अब अपनी फिल्म हिट होगी या फ्लॉप, इसकी चिंता कम रहती है. ज़्यादा फ़िक्र इस बात की रहती है कि पहलाज निहलानी और उनका बाड़ा न जाने फिल्म की किस बात पर सवाल खड़ा कर दे.

इम्तियाज़ अली, अलंकृता श्रीवास्तव जैसे लोग फिल्मकार हाथ जला बैठे हैं. ‘उड़ता पंजाब’, फिल्लौरी’ जैसी फ़िल्में बोर्ड की दीवारों से माथा फुडवा चुकी है. अब इस लिस्ट में नया इज़ाफ़ा हुआ है. फिल्ममेकर सुमन घोष और उनकी डॉक्यूमेंट्री का. मशहूर अर्थशास्त्री डॉ अमर्त्य सेन की ज़िंदगी पर बनी इस डॉक्यूमेंट्री पर CBFC की टेढ़ी नज़र पड़ गई है. इस डॉक्यूमेंट्री का नाम है ‘दी आर्गुमेंटेटिव इंडियन’ (The Argumentative Indian).

CBFC ने सुमन घोष से कहा है कि वो अपनी डॉक्यूमेंट्री में कुछ शब्दों को ‘बीप’ कर दे. वो शब्द हैं,

‘गुजरात’,

‘गाय’,

‘हिंदू इंडिया’

और..

‘हिंदुत्व’.

न, न, सर न पकड़िये. ये सच है.

ये डॉक्यूमेंट्री दो हिस्सों में शूट हुई है. पहला पार्ट 2002 में शूट हुआ था. दूसरा अब हुआ है. नोबेल प्राइज विजेता अमर्त्य सेन ने पहले पार्ट में एक जगह ‘गुजरात’ कहा है. जब वो गुजरात दंगों की बात कर रहे हैं. CBFC ने डायरेक्टर से कहा कि वो इस शब्द को बीप कर दे. अगला शब्द जिसपर उन्हें ऐतराज़ हुआ वो ‘गाय’ था. सुमन घोष कहते हैं कि उन्हें इसपर हंसी आ गई. हिंदू और हिंदुत्व जैसे शब्दों को भी म्यूट करने को कहा गया.

सुमन घोष ने ऐसे किसी भी बदलाव को मानने से इंकार कर दिया है. वो कहते हैं,

“मैं इस डॉक्यूमेंट्री से एक भी शब्द बीप नहीं करूंगा. इसके लिए एक पूरी प्रक्रिया है और हम उसे फॉलो करेंगे. देखते हैं मामला कहां तक जाता है.”

इंडियन एक्सप्रेस में छपी एक ख़बर के अनुसार, CBFC के एग्जामिनर ने कोलकाता से मुंबई एक लिखित रिपोर्ट भेजी है. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि इन शब्दों के इस्तेमाल से गुजरात राज्य की आंतरिक सुरक्षा खतरे में पड़ सकती है. और ‘हिंदू इंडिया’ कहने से किसी ख़ास समुदाय की भावनाएं आहत हो सकती हैं.

पहलाज निहलानी, हर बार की तरह प्रेस के लिए ‘मिस्टर इंडिया’ हो गए हैं. किसी स्टेटमेंट के लिए हाथ ही नहीं आ रहे हैं. उधर अमर्त्य सेन ने कहा है कि वो इस डॉक्यूमेंट्री के सब्जेक्ट हैं, डायरेक्टर नहीं. वो इसपर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे. अगर बोर्ड को कोई दिक्कत है तो वो साझा करे, जिसपर औरों की भी राय ली जाए.

CBFC की इस हरकत से ममता बैनर्जी गुस्सा हो गई हैं. उनका कहना है,

“विपक्ष की हर आवाज़ को दबाया जा रहा है. अगर अमर्त्य सेन जैसी शख्सियत को बोलने की आज़ादी नहीं है, तो आम आदमी का क्या हाल होगा?”

CBFC के मनमाने फैसलों से कई फिल्मकार खफा हैं. सेंसर बोर्ड की प्रासंगिकता पर सवाल उठने लगे हैं. भारत में फिल्में बन रही हैं, प्रगतिशील फिल्में बन रही हैं, नारीवाद और समलैंगिकता पर फिल्में बन रही हैं. पूरी दुनिया भारत को बड़े सम्मान की नजर से देख रही है. लेकिन निहलानी जी पहरा दे रहे हैं कि कहीं कुछ फिल्मों में ऐसा न रह जाए जिससे समाज करप्ट हो जाए, सांस्कृतिक रूप से ‘बीमार’ हो जाए. दुआ यही है कि ‘गाय’ पर ऑब्जेक्शन को गौ-रक्षक दल उल्टा न ले जाए. उनका कुछ भरोसा नहीं.


ये भी पढ़ें:

गालियां हैं, सेक्स है, अश्लील ऑडियो है, तो? मर जाएंगे संस्कार?

अपनी इस फिल्म में पहलाज निहलानी ने खुद जमकर ‘अश्लीलता’ फैलाई थी

सेंसर बोर्ड के हिसाब से कितने ‘फक-यू’ संस्कारी होते हैं?

4 और फिल्में जिनसे सेंसर बोर्ड सभी दर्शकों की ‘रक्षा’ कर रहा है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

तौकीर रजा कांग्रेस पर आरोप लगा चुके हैं कि उसने मुसलमानों पर आतंकी का टैग लगाया.

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

जानिए UPA के समय हुई इस डील ने कैसे देश को शर्मसार किया.

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

बीबीसी का आरोप, टीम के साथ नरसिंहानंद के समर्थकों ने गाली-गलौज और धक्का-मुक्की की.

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

मुख्य आरोपी के साथ उसके दोस्तों को पुलिस ने पकड़ लिया है.

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

पार्टी के इस कदम से आहत हरक सिंह रावत मीडिया के सामने भावुक हो गए.

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

Bull Run कांड में सेबी का फैसला, एक ही परिवार के 6 लोगों पर लगा बैन.

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

कांग्रेस की पहली लिस्ट में 50 महिला उम्मीदवार शामिल हैं

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

तस्वीर गौर से देखेंगे तो समझ आ जाएगा, हम तो बता ही देंगे.

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

बीते 24 घंटों के भीतर यूपी के दो कैबिनेट मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है.

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस ने असल में क्या कहा है?