Submit your post

Follow Us

'इतनी शक्ति हमें देना दाता' जैसा शानदार गीत लिखने वाले अभिलाष नहीं रहे

‘इतनी शक्ति हमें देना दाता…मन का विश्वास कमज़ोर हो ना…’ फिल्म ‘अंकुश’ के इस गीत को हम सभी ने अपने-अपने स्कूल में ज़रूर गाया होगा. इस गीत को लिखने वाले गीतकार अभिलाष, हमारे बीच नहीं रहे. 27 सितंबर को मुंबई में उनका निधन हो गया. 74 साल के अभिलाष को पेट से जुड़ी समस्या थी.

पेट की अंतड़ियों का ऑपरेशन हुआ था

पहले अफवाहें चल रही थीं कि अभिलाष को कैंसर हो गया है. मगर उनकी वाइफ ने इस अफवाह को खारिज कर दिया है. एबीपी न्यूज़ से बात करते हुए पत्नी नीरा ने बताया कि अभिलाष को कैंसर या कोई दूसरी बीमारी नहीं थी. इसी साल मार्च में उनकी पेट की अंतड़ियों का ऑपरेशन हुआ था. जिसके बाद से वे काफी कमज़ोर महसूस करने लगे थे. उन्हें चलने-फिरने में भी तकलीफ होती थी. अभिलाष का निधन उनके गोरेगांव स्थित घर पर हुआ.

गीत का 8 से ज़्यादा भाषाओं में अनुवाद

अभिलाष ने अपने करियर में बहुत सारे हिट नगमें दिए. इनमें ‘सांझ भई घर आजा’, ‘वो जो खत मुहब्बत में’, ‘तुम्हारी याद के सागर में’, ‘संसार है इक नदिया’ और ‘तेरे बिन सूना मेरे मन का मंदिर’ जैसे कई गीत शामिल हैं. मगर अभिलाष का सबसे यादगार गाना बना साल 1986 में आई मूवी ‘अंकुश’ का प्रार्थना गीत, ‘इतनी शक्ति हमें देना दाता’. इस गीत को देशभर के ज़्यादातर स्कूलों और जेलों में प्रार्थना गीत के रुप में गाया जाता है. इस गाने का अब तक दुनिया की 8 अलग-अलग भाषाओं में अनुवाद हो चुका है.

असली नाम था ओमप्रकाश

अभिलाष का असली नाम ओमप्रकाश था. इस बात की जानकारी उन्होंने खुद एक इंटरव्यू में दी थी. उन्होंने बताया था कि उनका पहला गाना लता मंगेशकर की आवाज में रिकॉर्ड हो रहा था. गीत ‘सांझ भई घर आजा पिया’ की रिकॉर्डिंग खत्म होने के बाद म्यूज़िक डायरेक्टर ने कहा कि गीतकार का क्या नाम लिखा जाए? वहां बैठे लोगों ने अभिलाष नाम सुझाया. म्यूजिक डायरेक्टर महावीरजी ने हामी भर दी. तब से उनका नाम ओमप्रकाश से अभिलाष पड़ गया.

कलाश्री अवॉर्ड से सम्मानित

अभिलाष ने कई हिंदी सीरियल्स के लिए भी लिखा. उन्हें पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह से कलाश्री अवॉर्ड भी मिला.  म्युज़िक इंडस्ट्री के दिग्गजों के बारे में लगातार बुरी ख़बरें आ रही हैं. अभी 25 सितंबर को जाने-माने सिंगर और गीतकार एसपी बालासुब्रमण्यम ने भी दुनिया को अलविदा कहा था. वो कोरोना पॉज़िटिव थे और 5 अगस्त से चेन्नई के एक अस्पताल में भर्ती थे.

अभिलाष की याद में आप भी सुनिए ‘अंकुश’ फिल्म का ये गीत

 


 

वीडियो:

मैटिनी शो: तमिल सिनेमा के वो 10 बढ़िया कलाकार, जिनके लिए फैन्स भी लहालोट रहते हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?