Submit your post

Follow Us

बिहार: पप्पू यादव को BJP नेता के बाद अब कहां मिली एंबुलेंस जो खड़े-खड़े सड़ रही थीं

पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव ने 8 मई को कुछ तस्वीरें शेयर कीं, जिनमें तमाम एंबुलेंस खड़ी दिख रही हैं. ट्वीट करके दावा किया कि ये एंबुलेंस पूर्व सांसद कीर्ति झा आजाद की सांसद निधि से खरीदी गईं और फिर सड़ने के लिए छोड़ दी गईं.

पप्पू यादव ने लिखा –

“यह सब हाईटेक लाइफ सपोर्ट सिस्टम, एक्सरे, जेनेरेटर युक्त एम्बुलेंस हैं. दरभंगा के MP रहे कीर्ति झा आजाद जी के सांसद फंड से खरीदा गया था, हरेक पर लागत 32 लाख थी. इसका रजिस्ट्रेशन भी नहीं हुआ है. बिना उपयोग के वर्षों से सड़ने छोड़ दिया गया है. DMCH दरभंगा के खेल मैदान बेंता ओपी के पास. यहां जिम्मेदारी सरकार की है, जिला प्रशासन की है, तत्कालीन सांसद ने जनहित में इतना बढ़िया एम्बुलेंस खरीदकर सौंप दिया. संचालन प्रशासन को करना था तो उसने सड़ने छोड़ दिया। बाकी अभी के सांसद तो कमाल के हैं ही.”

कीर्ति आजाद ने इस पर जवाब दिया –

“धन्यवाद पप्पू यादव जी, आपने इस विषय को उठाया. जब राज्य सरकार को अनेकों विनती की और असफल रहे, तो केंद्र सरकार से लड़ कर चलने का फंडिंग करवाया. उपयोगिता प्रमाण पत्र के अभाव में कुछ महीने चलने के बाद बंद हो गया. हमने ड्राइवर, डॉक्टर, नर्स इत्यादि सब की व्यवस्था करवा दी थी.”

इससे पहले पप्पू यादव ने 7 मई को ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया था. वीडियो के साथ पप्पू यादव ने ट्वीट में लिखा –

“बीजेपी के पूर्व केंद्रीय मंत्री, राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव प्रताप रूडी जी के अमनौर स्थित कार्यालय परिसर में दर्जनों एंबुलेंस बरामद! सांसद विकास निधि से खरीदी गई एंबुलेंस किसके निर्देश पर यहां छिपाकर रखा गया है, इसकी जांच हो? सारण डीएम, सिविल सर्जन यह बताएं! BJP जवाब दे!”

पप्पू यादव के इन आरोपों पर राजीव प्रताप रूडी ने एक चिट्ठी जारी की थी. चिट्ठी पर 6 मई की तारीख़ थी और ये जिलाधिकारी के नाम लिखी गई थी. चिट्ठी में लिखा था कि – “सांसद पंचायत एंबुलेंस सेवा के तहत 50 से अधिक एंबुलेंस सांसद निधि से खरीदी गई थीं. इनमें से कई एंबुलेंस का चालक के अभाव में संचालन नहीं हो पा रहा है. यह मूलतः कोविड का प्रभाव है.”

हालांकि इसके बाद 8 मई की दोपहर तक पप्पू यादव तमाम ड्राइवर्स के साथ सामने आ गए थे और ट्वीट किया था कि ये सब एंबुलेंस चलाने के लिए तैयार हैं.


कोरोना के डर से कोई नहीं आया, तो बेटी ने किया मां का अंतिम संस्कार

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अक्षय कुमार की मां का निधन

अक्षय कुमार की मां का निधन

अपने जन्मदिन से सिर्फ एक दिन पहले अक्षय को मिला गहरा सदमा.

अफगानिस्तान: तालिबान ने नई सरकार की घोषणा की, किसे बनाया मुखिया?

अफगानिस्तान: तालिबान ने नई सरकार की घोषणा की, किसे बनाया मुखिया?

नई अफगानिस्तान सरकार का लीडर यूएन की आतंकियों की लिस्ट में शामिल है.

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन के लिए भेजा जेल

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन के लिए भेजा जेल

रायपुर पुलिस ने नंद कुमार बघेल को ब्राह्मणों पर आपत्तिजनक टिप्पणी के आरोप में गिरफ्तार किया.

एक्टर रजत बेदी ने रोड पार करते व्यक्ति को टक्कर मारी!

एक्टर रजत बेदी ने रोड पार करते व्यक्ति को टक्कर मारी!

पीड़ित इस वक़्त कूपर अस्पताल में भर्ती है, जहां उसकी हालत बेहद नाज़ुक है.

अक्षय कुमार की मां ICU में एडमिट, यूके से शूटिंग छोड़ वापस आए अक्षय

अक्षय कुमार की मां ICU में एडमिट, यूके से शूटिंग छोड़ वापस आए अक्षय

कई दिनों से अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया की तबीयत खराब है.

तस्वीरों में देखिए मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत

तस्वीरों में देखिए मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत

500 लंगर, 100 चिकित्सा शिविर, 5 हज़ार वॉलेंटियर्स.

Hurricane Ida से अमेरिका में तबाही, दिल दहलाने वाली तस्वीरें आ रही हैं

Hurricane Ida से अमेरिका में तबाही, दिल दहलाने वाली तस्वीरें आ रही हैं

न्यूयॉर्क समेत पूरे अमेरिका में अब तक 44 लोगों के मारे जाने की बात कही गई है.

तालिबान का समर्थन करने वाले भारतीय मुसलमानों को नसीरुद्दीन शाह ने तगड़ा पाठ पढ़ाया

तालिबान का समर्थन करने वाले भारतीय मुसलमानों को नसीरुद्दीन शाह ने तगड़ा पाठ पढ़ाया

सोशल मीडिया पर नसीरुद्दीन शाह का ये वीडियो वायरल है.

सिद्धार्थ शुक्ला की आखिरी सोशल मीडिया पोस्ट दिल दुखा देगी

सिद्धार्थ शुक्ला की आखिरी सोशल मीडिया पोस्ट दिल दुखा देगी

फ्रंटलाइन वारियर्स को ट्रिब्यूट देते हुए की थी सिड ने अंतिम पोस्ट.

WHO का अनुमान, कोविड-19 से यूरोप में अभी भी बहुत बड़ी संख्या में मौतें हो सकती हैं

WHO का अनुमान, कोविड-19 से यूरोप में अभी भी बहुत बड़ी संख्या में मौतें हो सकती हैं

कोरोना संक्रमण से होने वाली मौतों के मामले में यूरोप पहले ही सबसे आगे है.