Submit your post

Follow Us

FB पोस्ट लिख राजनीति छोड़ने की बात पर बाबुल सुप्रियो ने TMC में आने के बाद क्या कहा?

कभी भाजपा नेता और केंद्र में मंत्री तक रहे बाबुल सुप्रियो अब TMC में हैं. 18 सितंबर को उन्होंने पार्टी जॉइन की. इसके अगले दिन यानी रविवार, 19 सितंबर को ममता बनर्जी और उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी की तारीफ की. पीसी में कई मौकों पर अपने पिछले फैसलों पर सफाई दी.

फेसबुक पोस्ट लिखकर बाबुल ने राजनीति से संन्यास की घोषणा की थी. हालाकिं बाबुल ने उसे एक इमोशनल फैसला बताया. उन्होंने कहा,

ये सच है कि मैंने फेसबुक पोस्ट में राजनीति से दूर जाने का मन बना लिया था. लेकिन मैं तब इमोशनल था. लेकिन मेरा फैसला भावनात्मक नहीं था. चाहे संगीत का क्षेत्र हो या फिर राजनीति, इमोशनल होकर कुछ नहीं हो सकता. मेरा फंडा सिंपल है, अगर प्लेइंग 11 में और फिर फर्स्ट क्लास में मौका मिलेगा तो ठीक वरना मैं जूनियर लेवल पर नहीं खेलने वाला. इस समय मैं काफी उत्साहित महसूस कर रहा हूं. मुझे फैसला बदलने के लिए मोटिवेट किया गया है. पिछले चार दिनों में उन्होंने मुझे काफी प्रोत्साहित किया.

बाबुल सुप्रियो का कहना है कि उन्होंने खुद को रिटायर्ड हर्ट मान लिया था, लेकिन ममता ने उन पर भरोसा जताया और उस भरोसे ने ही उनकी राजनीति में वापसी करवा दी.

हालांकि अपना फैसला बदलने को लेकर बाबुल सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं और भाजपा के तमाम नेताओं के भी निशाने पर हैं. इसी कड़ी में भाजपा के राज्यसभा सांसद स्वपन दासगुप्ता ने ट्वीट किया –

“दुख है कि बाबुल सुप्रियो ने पॉलिटिक्स में री-एंट्री लेने के लिए भाजपा छोड़ दी. मुझे उनके भविष्य का नहीं पता, लेकिन वो भाजपा के लिए अहम थे. मैं उन्हें उनकी सेवाओं के लिए शुक्रिया कहता हूं. हम जैसे कुछ लोग, जिनके लिए भाजपा जीवन भर का कमिटमेंट है, उनके लिए संघर्ष विषम परिस्थितियों में भी जारी रहेगा. लेकिन बाबुल के पाला बदलने से भाजपा समर्थकों में जो गुस्सा हैं, वो भी सच्चा है. ये आम लोगों का पाला बदलने वालों पर गुस्सा है. विषम परिस्थितियों में भी संयम रखना राजनीति का हिस्सा है. दुखद है कि बाबुल को काफी जल्दी थी. वे अपनी ही छवि खराब कर लेंगे.”

बाबुल सुप्रियो ने ट्विटर पर ही इसका जवाब दिया. लिखा,

“दादा, उनका गुस्सा सच्चा होगा और यकीनन मेरा भी है. मैं मानता हूं कि लोगों को इसकी उम्मीद नहीं थी. लेकिन तब क्या हुआ था जब यही बाबुल भाजपा में आए बाहरियों का खुलकर विरोध कर रहा था. क्या भाजपा ने खुद अपनी छवि के साथ अच्छा किया. कृपया जाकर इन्हीं समर्थकों से पूछिए, जिन्हें बाहरियों की खातिर पार्टी में ही किनारे कर दिया गया.

क्या मैंने पार्टी बदलकर कोई इतिहास रच दिया है? क्योंकि कुछ समय पहले ही दूसरी पार्टी से भाजपा में आए विरोधियों को गले लगाते हुए भाजपा के जमीनी कार्यकर्ताओं को किनारे कर दिया गया था. फिर तो इन लोगों को भी किनारे कर दिया जाना चाहिए क्योंकि ये पार्टी की छवि खराब कर रहे होंगे. (जैसा कि आपने मेरे लिए कहा)”

BJP में रहते हुए बाबुल सुप्रियो TMC सांसद अभिषेक बनर्जी पर ख़ासे आक्रामक रहे हैं. अब वे ममता बनर्जी और अभिषेक का शुक्रिया अदा कर रहे हैं. पिछली बातों का ज़िक्र करते हुए बाबुल अब कह रहे हैं कि पहले तो अभिषेक बनर्जी ने भी उन पर काफी जुबानी हमले किए हैं लेकिन वो अतीत है. बाबुल ने कहा कि उन्होंने पहले जिसको लेकर, जो भी सोशल मीडिया पोस्ट किए हैं, उन्हें अब ट्रोलिंग के डर से डिलीट नहीं करेंगे.


BJP लोकसभा सांसद बाबुल सुप्रीयो ने फेसबुक पोस्ट लिखकर कहा- अलविदा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?