Submit your post

Follow Us

10वीं में एक भी बच्चा पास नहीं हुआ तो असम सरकार ने 17 स्कूलों में ताला लगाने का फरमान सुना दिया

असम में 6 जून को दसवीं बोर्ड के नतीजे आए. इस परीक्षा में 17 स्कूल ऐसे निकले जहां एक भी स्टू़डेंट पास नहीं हो सका, माने ज़ीरो परसेंट रिज़ल्ट. अब सरकार ने इन सभी स्कूलों को बंद करने की घोषणा की है.

असम के शिक्षा मंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा ने 7 जून को बताया कि नतीजे आने के बाद सरकार ने इन 17 स्कूलों को 72 घंटे के भीतर बंद करने का फैसला किया है. इन स्कूलों के शिक्षकों का दूसरे स्कूलों में ट्रांसफर किया जाएगा और स्टूडेंट्स को नज़दीकी स्कूलों में एनरोल किया जाएगा.

इस साल असम बोर्ड की दसवीं की परीक्षा में 64.8 फीसद स्टूडेंट्स ही पास हुए हैं. परीक्षा में तीन लाख 42 हज़ार छात्र बैठे थे. इसमें से दो लाख 21 हज़ार छात्र पास हुए.

गुवाहाटी में एक प्रेस कांफ्रेंस में शिक्षा मंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा ने बताया कि अबकी 109 सरकारी स्कूलों में नतीजे 100 फीसद रहे हैं. यानी इन सभी स्कूलों के सभी बच्चे पास हो गए. पिछले साल सिर्फ 54 स्कूलों ने 100 प्रतिशत रिज़ल्ट दिया था. उन्होंने यह भी बताया कि पिछले साल 0-10 फीसद के बीच नतीजे देने वाले 92  स्कूल थे, जो अब घटकर 33 रह गए हैं.


विडियो- असम के इस जंगल को बचाने के लिए ट्विटर पर आंदोलन किसने चलाया है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बिहार: अमित शाह ने वर्चुअल रैली में तेजस्वी को घेरा, कहा-लालटेन राज से एलईडी युग में आ गए

तेजस्वी यादव ने रैली पर 144 करोड़ खर्च करने का आरोप लगाया.

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.

3740 श्रमिक ट्रेनों में से 40 प्रतिशत ट्रेनें लेट रहीं, रेलवे ने बताई वजह

औसतन एक श्रमिक ट्रेन 8 घंटे लेट हुई.

कंटेनमेंट ज़ोन में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया गया, बाकी इलाकों में छूट की गाइडलाइंस जानें

गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर चरणबद्ध छूट को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं.