Submit your post

Follow Us

मनसुख हिरेन मर्डर केस: NIA को मीठी नदी में कौन से अहम सुराग मिले हैं?

एंटीलिया केस और मनसुख हिरेन की हत्या के मामले में जांच कर रही NIA के हाथ कुछ बेहद अहम जानकारियां लगी हैं. रविवार 28 मार्च को जांच एजेंसी आरोपी पुलिस अफसर सचिन वाझे को मीठी नदी के किनारे लेकर गई जहां उसकी निशानदेही पर नदी से लैपटॉप, नंबर प्लेट, हार्ड डिस्क, प्रिंटर, CPU और रजिस्टर आदि बरामद हुए. NIA ने गोताखोरों और स्थानीय पुलिस की मदद से इन्हें नदी से बाहर निकाला.

इंडिया टुडे के दिव्येश सिंह की रिपोर्ट के मुताबिक NIA को शक था कि वाझे और उसके साथियों ने मनसुख हिरेन की हत्या और एंटीलिया केस से जुड़े सुबूत नदी में फेंके हैं. एजेंसी ने गोताखोरों की मदद से नदी में तलाशी ली तो काफी सामान मिला. इस दौरान वाझे भी NIA टीम के साथ था. NIA को नदी से एक लैपटॉप, दो नंबर प्लेट, DVR यानी डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर, CPU यानी सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट, हार्ड डिस्क, प्रिंटर जैसा सामान मिला है. जो दो नंबर प्लेट एजेंसी को नदी से मिली हैं, उन पर एक ही नंबर छपा हुआ है. अभी NIA को नदी से और भी सुराग मिलने की उम्मीद है.

मनसुख हिरेन मर्डर केस में आरोपी है सचिन वाझे

मनसुख हिरेन की हत्या के मामले में सचिन वाझे की भूमिका संदिग्ध है. NIA को वाझे से पूछताछ के बाद कई बड़े सुबूत मिल चुके हैं. कुछ मोबाइल फोन, 1.2 टीबी डेटा, कुछ दस्तावेज एजेंसी को मिले हैं. NIA ने कोर्ट में बताया था कि वाझे के सर्विस रिवॉल्वर की 30 में से 25 गोलियां गायब हैं और 62 ऐसे कारतूस उसके पास मिले हैं जिनका कहीं कोई रिकॉर्ड नहीं है. आपको बता दें कि फिलहाल सचिन वाझे 3 अप्रैल तक NIA की कस्टडी में है.

आमने-सामने बैठाकर हुई पूछताछ

इंडिया टुडे ग्रुप के संवाददाता अरविंद ओझा की एक रिपोर्ट के मुताबिक NIA सचिन वाझे से पूछताछ कर रही थी कि आपने सुबूत कहां नष्ट किए हैं, लेकिन वह इस सवाल का जवाब नहीं दे रहा था. इसके बाद एजेंसी ने गिरफ्तार किए गए नरेश और विनायक शिंदे के साथ वाझे को बैठाकर पूछताछ की. इसके बाद NIA उस दुकान पर पहुंची जहां से वाझे ने नंबर प्लेट बनवाई थी. सचिन वाझे की निशानदेही पर एजेंसी मीठी नदी पहुंची जहां बाकी सामान भी मिल गया.

14 मार्च को गिरफ्तार किया गया था

सचिन वाझे दो मामलों में आरोपी हैं. पहला, मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटक रखने का मामला. दूसरा, विस्फोटक से भरी गाड़ी के मालिक मनसुख हिरेन की हत्या का मामला. NIA ने 14 मार्च को सचिन वाझे को गिरफ्तार किया था. वाझे की कस्टडी 25 मार्च को ख़त्म हो रही थी. लेकिन इससे पहले ही NIA ने उन पर UAPA के तहत केस दर्ज कर लिया. इसके बाद अदालत ने उनकी कस्टडी भी बढ़ा दी. UAPA के अलावा वाझे पर जालसाजी, विस्फोटक पदार्थ के साथ लापरवाही बरतने, नकली मुहर बनाने और धमकी देने से संबंधित धाराओं में केस दर्ज हैं.


वीडियो- एंटीलिया केस: सचिन वाझे को लेकर NIA ने क्राइम सीन को रीक्रिएट किया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

एक ही दिन, एक ही दुल्हन से शादी करने पहुंचे चार दूल्हे, पूरा मामला जानकर सर चकरा जाएगा

मामला मध्यप्रदेश के भोपाल का है.

माइकल वॉन की इस बात पर ध्यान देकर अपना करियर सुधार सकते हैं कुलदीप

एकदम सही बात बोल गए वॉन.

टॉस हारकर भी विराट कोहली ने तगड़ा रिकॉर्ड बना दिया है

अब अगर जिता दिया तो सोने पर सुहागा होगा.

रोहित शर्मा-शिखर धवन ने किस मामले में सचिन-सौरव की बराबरी कर ली?

लिस्ट में नहीं है कोई तीसरी भारतीय जोड़ी.

शिवसेना के अख़बार ने अपनी ही सरकार के गृह मंत्री के बारे में ये क्या लिख दिया?

NCP के नेताओं की प्रतिक्रिया आई है.

सचिन को कोविड होते ही पीटरसन बोले, सबको बताने की क्या ज़रूरत है!

युवराज सिंह ने माफी मंगवाकर ही छोड़ा.

TMC नेता छत्रधर महतो को NIA ने 12 साल पुराने मामले में किया गिरफ्तार

पिछले साल फरवरी में जेल से बाहर आए थे.

लॉकडाउन के एक साल हुए तो ताली-थाली बजाने पर क्या बोले PM मोदी?

रेडियो कार्यक्रम मन की बात के 75 एपिसोड पूरे.

म्यांमार में सेना की गोलियों से 100 से ज्यादा लोगों की मौत, दुनिया ने क्या कहा?

12 देशों के रक्षा प्रमुखों ने संयुक्त बयान जारी किया है.

पंजाब: BJP विधायक से मारपीट मामले में किन लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है?

वीडियो के आधार पर आरोपियों की पहचान कर रही है पुलिस.