Submit your post

Follow Us

शरद पवार और अजित पवार का ये ट्वीट देखकर अमित शाह की टेंशन और बढ़ जाएगी

23 नवंबर को डिप्टी सीएम बनने के बाद अजित पवार गायब हो गए. हालांकि दिन भर उनकी ही चर्चा चलती रही. खबरों में छाए रहे. खबरों में अब भी हैं. लेकिन 24 नवंबर को उन्होंने एक बार एक कई ट्वीट किए. और एनसीपी और बीजेपी गठबंधन को लेकर बड़ी बात बोली. उन्होंने ट्वीट किया.

मैं एनसीपी में ही हूं और एनसीपी में ही रहूंगा. शरद पवार हमारे नेता हैं. बीजेपी-एनसीपी का गठबंधन राज्य में अगले 5 सालों के लिए स्थिर सरकार देगा. राज्य और आम लोगों के कल्याण के लिए हमारी सरकार गंभीरता से काम करेगी.

उन्होंने एक और ट्वीट किया, चिंता करने की जरूरत नहीं है. सबकुछ ठीक है. थोड़े धैर्य की जरूरत है. आपके समर्थन के लिए आपका धन्यवाद.

हालांकि अजित पवार के ट्वीट के बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार का भी ट्वीट आया. उन्होंने बीजेपी शिवसेना और कांग्रेस को टैग करते हुए लिखा,
बीजेपी के साथ गठबंधन का कोई सवाल ही नहीं है. एनसीपी ने सर्वसम्मति से शिवसेना और कांग्रेस से गठंबधन कर सरकार बनाने का फैसला कर लिया है. अजित पवार का बयान गलत और भ्रम फैलाने वाला है. वह लोगों के बीच भ्रम पैदा कर गलत धारणा बनाना चाहते हैं


अजित पवार ने अपने ट्विटर प्रोफाइल में खुद को महाराष्ट्र का उपमुख्यमंत्री बताया है. इससे पहले उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट कर पीएम मोदी और बीजेपी के अन्य नेताओं को धन्यवाद दिया था.

अजित पवार के ट्वीट से लग रहा है कि वो अब भी खुद को विधायक दल का नेता मानते हैं. हालांकि 23 नवंबर की शाम को एनसीपी ने उन्हें विधायक दल के नेता से हटा दिया था. और उनकी जगह जयंत पाटिल को विधायक दल का नेता चुन लिया था.


मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष रहे संजय निरूपम महाराष्ट्र कांग्रेस नेताओं पर क्या बोले?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

प्रियंका गांधी वाड्रा की 1000 बसों में कुछ नंबर ऑटो और कार के कैसे निकल गए?

हालांकि संबित पात्रा ने भी जिस बस को स्कूटर बताया, वहां एक पेच है.

मज़दूरों की लाश की ऐसी बेक़द्री पर झारखंड के सीएम कसके गुस्साए हैं

घायल मज़दूरों के साथ अमानवीय व्यवहार करने का आरोप.

कोरोना की वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर, जल्द ही आखिरी स्टेज का टेस्ट होने की उम्मीद

जुलाई के महीने को लेकर अहम बात भी कह डाली है.

केजरीवाल ने लॉकडाउन 4 में बहुत सारी छूट दे दी हैं

ऑड-ईवन आ गया, लेकिन ट्रांसपोर्ट में नहीं.

लॉकडाउन 4: पर्सनल गाड़ी से शहर या राज्य के बाहर जाने के क्या नियम हैं?

केंद्र सरकार ने इस पर क्या कहा है?

कोरोना संक्रमण के बीच स्विगी ने बहुत बुरी खबर दी है

दो दिन पहले जोमैटो ने भी ऐसा ही ऐलान किया था.

ममता बनर्जी ने लॉकडाउन के नियमों में बहुत बड़ा बदलाव किया है

केंद्र सरकार की नई बात मानने से मना कर दिया!

लॉकडाउन 4.0: सरकार ने जारी की गाइडलाइंस, जानें क्या खुलेगा और क्या बंद रहेगा

31 मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ाया गया है.

घर जाने को लेकर राजकोट में 500 मज़दूरों का सब्र जवाब दे गया, सड़क पर उतरे

हंगामे के बीच पुलिस घायल, किसी तरह शांत हुआ मामला.

चोटिल बेटे को खटिया पर लादकर 900 किमी दूर घर के लिए निकल पड़ा ये मज़दूर

पंजाब से चला था परिवार, मध्य प्रदेश जाना था.