Submit your post

Follow Us

महाराष्ट्र में जारी पॉलिटिकल ड्रामे के बीच संजय निरुपम ने सोनिया-राहुल से ये डिमांड कर दी

महाराष्ट्र की राजनीति में जिस तरह से शह और मात का खेल चला उसे देखकर राजनीति के बड़े-बड़े पंडित भी सिर खुजा रहे हैं. सभी ये समझने की कोशिश कर रहे हैं कि कब क्या हुआ और कैसे हुआ. लेकिन फिलहाल जो तस्वीर सामने है, उसके मुताबिक, महाराष्ट्र में बीजेपी की सरकार बन चुकी है. एनसीपी नेता और शरद पवार के भतीजे अजित पवार ने बीजेपी से हाथ मिला लिया. सूत्रों की मानें तो, उन्होंने पार्टी के के 35 विधायकों को तोड़ लिया है. वो डिप्टी सीएम बन गए और कांग्रेस, शरद पवार और उद्धव ठाकरे बस एक दूसरे की शक्ल देखते रह गए.

इन सबके बीच एक ज़माने में कांग्रेस के मुंबई अध्यक्ष रहे संजय निरुपम ने खुलकर अपनी राय रखी. वो पहले से भी कहते आ रहे थे कि कांग्रेस का शिवसेना के साथ सरकार बनाना सबसे बड़ी गलती होगी. ऐसे में नए समीकरण के बीच उनके दावे को और बल मिल गया. उन्होंने सोनिया गांधी से कांग्रेस वर्किंग कमेटी भंग करने की अपील की.

लोग सोच रहे होंगे कि मैं आज के घटनाक्रम से खुश रहूंगा, लेकिन मैं वास्तव में बहुत दुखी हूं. इसमें कांग्रेस को अनावश्यक रूप से बदनाम किया गया और शिवसेना के साथ गठबंधन की सोच एक गलती थी. मैं सोनिया जी से अपील करता हूं कि वे पहले कांग्रेस वर्किंग कमेटी को भंग करें.

संजय निरुपम ने 22 नवंबर को भी ट्वीट करके कहा था कि कांग्रेस का शिवसेना का साथ जाना सबसे बड़ी गलती होगी. इससे फायदा सिर्फ और सिर्फ बीजेपी का ही होगा.

संजय निरुपम लगातार कांग्रेस को तीसरे नंबर की पार्टी बनने पर चेतावनी दे रहे थे. ऐसे में महाराष्ट्र में सरकार की नई तस्वीरें सामने आने के बाद उन्होंने राहुल गांधी को भी याद किया. संजय निरुपम ने कहा-

राहुल गांधी ने एक बार कहा था पावर पॉइजन है लेकिन अब हम ये कहेंगे की पवार भी पॉइजन है. मैं अपील करता हूं कि राहुल गांधी नाराजगी भुलाकर पार्टी की कमाल संभाल लें.

इसके बाद शिवसेना और एनसीपी की प्रेस कॉन्फ्रेंस में शरद पवार ने अजित पवार पर एक्शन लेने की बात की साथ ही ये भी कहा कि अजित पवार ने हमें धोखा दिया.


Video: BJP सांसद और मालेगांव बम धमाकों की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर को रक्षा मामलों की संसदीय कमेटी में चुना गया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

20 अप्रैल से कौन-कौन से लोग अपना काम-धंधा शुरू कर सकते हैं?

और खाने-पीने के सामान को लेकर सरकार ने क्या कहा?

लॉकडाउन के बीच ज़रूरी सामान भेजना है? बस एक कॉल पर हो जाएगा काम

रेलवे अधिकारियों ने शुरू की है 'सेतु' सर्विस.

सड़क पर मजदूरों संग खाना खाने वाले अर्थशास्त्री ने सरकार को कमाल का फॉर्मूला सुझाया है

कोरोना और लॉकडाउन ने मजदूर को कहीं का नहीं छोड़ा.

सरकार की नई गाइडलाइंस, जानिए किन इलाकों में, किन लोगों को लॉकडाउन से छूट

कोरोना से निपटने के लिए लॉकडाउन पहले ही बढ़ाया जा चुका है.

टेस्टिंग किट की बात पर राहुल गांधी ने भारत की तुलना किन देशों से की?

कहा, 'हम पूरे खेल में कहीं नहीं हैं.'

चीन से भारत के लिए चली टेस्टिंग किट की खेप अमरीका निकल गयी!

और अभी तक भारत में नहीं शुरू हो पाई मास टेस्टिंग.

कोरोना: मरीजों की खातिर बेड और लैब के लिए कितना तैयार है भारत, PM मोदी ने बताया

लॉकडाउन बढ़ाने के अलावा पीएम ने क्या-क्या कहा?

15 अप्रैल को लॉकडाउन-2 की जो गाइडलाइंस आनी हैं, उनमें क्या-क्या हो सकता है

पूरे देश में 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ चुका है.

सुप्रीम कोर्ट ने बता दिया है कि किन लोगों का कोरोना वायरस टेस्ट फ्री में होगा

प्राइवेट लैब भी नहीं ले सकेंगे इनसे पैसा.

PM CARES Fund पर लगातार उठ रहे सवाल, अब हिसाब-किताब की होगी जांच

वकील ने PM Cares फंड को रद्द करने की मांग की है.