Submit your post

Follow Us

AAP ने UP सरकार पर कोविड की तैयारियों के नाम पर घोटाले का आरोप लगाया

आम आदमी पार्टी के नेता और उत्तर प्रदेश के प्रभारी संजय सिंह ने सूबे में कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए की जा रही तैयारियों पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने मेडिकल खरीद में हो रही कथित गड़बड़ियों को लेकर प्रदेश की भाजपा सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि कोविड-19 की तीसरी वेव से निपटने के लिए जो सामान खरीदा जा रहा है, उसमें भ्रष्टाचार और घोटाला हो रहा है. हालांकि बीजेपी ने इन सभी आरोपों को बेबुनियाद और आधारहीन करार दिया है.

क्या कहा है संजय सिंह ने?

संजय सिंह ने प्रेस से बात करते हुए कहा कि जो भी मेडिकल उपकरण बच्चों को कोरोना की तीसरी लहर से बचाने के लिए खरीदे जा रहे हैं उनको बाजार मूल्य से काफी अधिक दामों में खरीदा जा रहा है. उन्होंने लिस्ट गिनाते हुए कहा कि –

“जो वेंटीलेटर बच्चों के लिए खरीदा जा रहा है 22 लाख रुपये का जिसकी बाजार में कीमत 12 लाख 50 हजार लगभग है. वेंटीलेटर यूनिवर्सल खरीदा जा रहा है, 17 लाख 11 हजार रुपये में जिसकी बाजार में कीमत 9 लाख रुपये है. बाईपैप खरीदा जा रहा है 2 लाख 73 हजार 280 रुपये में, जिसकी बाजार में कीमत लगभग एक लाख रुपये है. HFNC खरीदा जा रहा है 2 लाख 52 हजार 666 रुपये में जिसकी बाजार में कीमत एक लाख रुपये है.”

“इनफेंट वार्मर्स खरीदा जा रहा है 64 हजार 900 रुपये में जिसकी बाजार में कीमत 32 हजार रुपये है. इन्फ्यूजन पंप खरीदा जा रहा है 44 हजार 448 रुपये में जिसकी बाजार में कीमत 22 हजार रुपये है. पोर्टेबल एक्सरे मशीन खरीदी जा रही है 17 लाख 95 हजार रुपये में, जिसकी बाजार में कीमत 8 लाख रुपये है. Bubble CPAP खरीदा जा रहा है 2 लाख 55 हजार 990 रुपये में जिसकी बाजार में कीमत 1 लाख रुपये है. ईको कलर डॉप्लर खरीदा जा रहा है 23 लाख 52 हजार रुपये में जिसकी बाजार में कीमत 13 लाख रुपये है.”

आम आदमी पार्टी के नेता ने कहा कि इन सवालों को उठाकर सरकार को जगाना होगा. उन्होंने इस पूरी कवायद को घोटाले की तैयारी करार दिया. उन्होंने कहा,

“ये बच्चों को कोरोना की महामारी से बचाने के लिए आदित्यनाथ सरकार की तैयारी है, या घोटाले और भ्रष्टाचार की तैयारी है. इतने संवेदनशील विषय पर इतनी लूट और भ्रष्टाचार? बच्चों को तीसरी लहर से बचाने के नाम पर इतनी लूट और भ्रष्टाचार. और अभी अगर ये कहर आ जाएगी, ये महामारी टूट पड़ेगी तो हम सब अपने घर के अपने प्रिय लोगों को मरते हुए देखते रहेंगे. और तब इन घोटालों की अगर जांच होगी और तब इन घोटालों पर कार्रवाई होगी तो इससे हमें कुछ नहीं हासिल होगा इसलिए अभी इन सवालों को हमें उठाना होगा और इस पर सरकार को जगाना होगा.”

बीजेपी ने इन आरोपों पर क्या कहा?

बीजेपी प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने ‘दी लल्लनटॉप’ को फोन पर बताया कि,

“आम आदमी पार्टी की आदत है, आरोप लगाकर भाग जाना. ये बात मैं तथ्यों के आधार पर कह रहा हूं. ये शीला दीक्षित के खिलाफ आरोपों की एक ट्रक फाइल लेकर घूमते थे. बाद में कांग्रेस के साथ ही उन्होंने सरकार बना ली थी. इन लोगों ने अरुण जेटली और नितिन गडकरी के ऊपर ऐसे ही आरोप लगाए थे और बाद में लिखापढ़ी में माफी मांगी, कोर्ट में माफी मांगी.”

“कल अखिलेश यादव से मिले हैं और पुराने ट्वीट वायरल हो रहे हैं जब इन्होंने कहा था कि सपा गुंडों की पार्टी है. तो इनके जो आरोप हैं उसमें अगर तर्क हों तथ्य हों, अगर कोई भारीपन हो तो उन्हें सामने रखना चाहिए. आरोप लगाकर भाग जाने की पॉलिसी यूपी में नहीं चलेगी. काठ की हांडी दिल्ली में चढ़ गई, उत्तर प्रदेश में नहीं चढ़ेगी.”

बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि कोरोना की पहली वेव के दौरान भी आप पार्टी की ओर से ऐसे आरोप लगाए गए थे लेकिन दिल्ली पर जब सवाल पूछा गया तो वह चुप हो गए. उन्होंने कहा कि सरकार प्रो एक्टिव होकर कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए काम कर रही है. मेडिकल कॉलेज में बच्चों के लिए आईसीयू बनाए जा रहे हैं, ऑक्सीजन की तैयारी की जा रही है, ग्रामीण क्षेत्रों तक ऑक्सीजन कंसनट्रेटर पहुंचाए जा रहे हैं.


 

वीडियो- नेता नगरी: PM मोदी की इन 14 नेताओं से इतने लंबे समय बाद दिल्ली में मुलाकात के क्या मायने हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

नेमावर हत्याकांड: आरोपी सुरेंद्र चौहान की प्रॉपर्टी पर चली जेसीबी, CBI जांच की मांग उठी

कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा नेता होने के चलते सुरेंद्र चौहान को इस मामले में संरक्षण मिला.

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

दो संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है.

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

चंडीगढ़ और पंचकुला में बवाल.

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

ट्विटर ने क्या वजह बताई?

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

मामला एक वायरल वीडियो से जुड़ा है.

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

नंबर देने के फॉर्मूले से सुप्रीम कोर्ट भी सहमत.

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

चिराग को राजनीति में आने की सलाह किसने दी थी?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

कुछ वक़्त से लगातार हो रहे हैं फ़ेरबदल.

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

क्या यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजों को सरकारी प्रचार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

कौन हैं रामबाबू हरित और जसवंत सैनी?