Submit your post

Follow Us

ऐसी क्या वजह है, जो ये डॉक्टर कोरोना मरीज़ों को गले लगाकर विदा करता है?

गोवा की राजधानी पणजी. यहां के गोवा मेडिकल कॉलेज में डॉक्टर हैं डॉ. एडविन गोम्स. डॉ एडविन, कोरोना के मरीजों का इलाज कर रहे हैं. लेकिन हम उनकी बात क्यों कर रहे हैं? क्योंकि डॉ एडविन ने अपने हॉस्पिटल में एक नई रवायत शुरु की है. डॉ एडविन, कोरोना पेशेंट के ठीक होने के बाद हर पेशेंट से गले मिल कर उसे विदा करते हैं.

कौन हैं डॉ एडविन गोम्स?

डॉ एडविन गोम्स, गोवा मेडिकल कॉलेज में मेडिसिन डिपार्टमेंट के हेड हैं. डॉ गोम्स ने पिछले तीन महीनों में लगभग 190 कोविड पेशेंट्स को गले लगाया है. यही नहीं, डॉ एडविन ने लगातार 98 दिन ड्यूटी की है. बिना छुट्टी लिए लगातार ड्यूटी करने के बाद घर लौटे डॉ एडविन ने समाचार एजेंसी प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया को बताया,

 जब भी कोई पेशेंट की कोविड रिपोर्ट निगेटिव आती है और उसे छुट्टी दी जाती है, तो मैं उसे गले लगाता हूं.

उन्होंने ऐसा करने के पीछे का कारण स्पष्ट करते हुए कहा,

कोविड से ठीक हुए लोगों को सोसाइटी में पहले की तरह ही एक्सेप्ट किया जाना चाहिए. यह लोग ‘कोविड एंजेल’ हैं. कोरोना से ठीक हुए पेशेंट का प्लाज्मा दूसरे कोविड पेशेंट को ठीक करने में यूज हो सकता है. हमें इसके लिए भी लोगों को जागरुक करना चाहिए.

डॉ एडविन ने अपने पेशेंट के साथ के अनुभवों को भी साझा किया है. उन्होंने गोवा के मंगोंर हिल (कोरोना हॉट स्पॉट) के रहने वाले एक पेशेंट के बारे में बताते हुए कहा,

मंगोर इलाके का वह पेशेंट ठीक होने के बाद अन्य रोगियों की मदद के लिए आगे आया. अगर किसी मरीज को कोई सवाल होता, तो वह जवाब देता था. वह मरीजों की नर्स की तरह देखभाल करता था.

डॉ. गोम्स ने कहा कि इस तरह के लोगों को राज्य सरकार द्वारा स्थापित कोविड केयर सेंटर में काम करने के लिए उतारा जा सकता है. और वह ऐसे ही लोगों को सम्मान देने के लिए उनके ठीक होने पर उन्हें गले मिल कर विदा करते हैं.


वीडियो देखें: किताबवाला: गोवा के मुख्यमंत्री रहे मनोहर पर्रिकर को PM मोदी दिल्ली क्यों लाए थे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सरकार ने वो आदेश दिया है कि कंपनियां मास्क और सैनिटाइज़र के दाम में मनचाहा बदलाव कर सकती हैं

राज्यों ने शिकायत नहीं की, तो सरकार ने आदेश निकाल दिया

बुरी खबर! 'मेरे जीवनसाथी', 'काला सोना' जैसी फ़िल्में बनाने वाले प्रड्यूसर हरीश शाह नहीं रहे

कैंसर से जारी जंग आखिरकार हार गए.

दिल्ली की जेल में सजा काट रहे सिख दंगे के दोषी नेता की कोरोना से मौत हो गई

विधायक रह चुके इस नेता की कोरोना रिपोर्ट 26 जून को पॉज़िटिव आई थी.

श्रीलंका का ये क्रिकेटर हत्या के आरोप में गिरफ्तार

44 टेस्ट, 76 वनडे और 26 टी20 खेल चुका है.

लेह में दिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने चीन का नाम लिए बिना क्या-क्या कहा?

जवानों पर, बॉर्डर के विकास पर, दुनिया की सोच पर बहुत कुछ बोला है.

ICMR ने एक महीने में कोरोना की वैक्सीन लॉन्च करने का झूठा दावा किया है!

क्या वैक्सीन के ट्रायल में घपला हो रहा है?

भारत-चीन के तनाव के बीच पीएम मोदी ने लद्दाख़ पहुंचकर किससे बात की?

पहले राजनाथ सिंह जाने वाले थे, नहीं गए.

मलेरिया वाली जिस दवा को कोरोना में जान बचाने के लिए इस्तेमाल कर रहे, वो उल्टा काम कर रही है?

हाईड्रॉक्सीक्लोरोक्विन पर चौंकाने वाली रिसर्च!

इस साल के आख़िर तक मिलने लगेगी कोरोना की 'मेड इन इंडिया' वैक्सीन!

भारत बायोटेक के अधिकारी ने क्या बताया?

'कोरोनिल' पर पतंजलि के आचार्य बालकृष्ण पूरी तरह यू-टर्न मार गए!

पतंजलि का दावा था कि 'कोरोनिल' दवा कोरोना वायरस ठीक करने में कारगर होगी.